scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

DMA: क्या करेगा रक्षा मंत्रालय का 5वां विभाग? चीफ हैं जनरल रावत

DMA: क्या करेगा रक्षा मंत्रालय का 5वां विभाग? चीफ हैं जनरल रावत
  • 1/7
जनरल बिपिन रावत 31 दिसंबर 2019 को देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (Chief of Defence Staff) नियुक्त हुए. उनका सबसे बड़ा काम होगा तीनों सेनाओं के बीच समन्वय स्थापित करना. लेकिन वे बैठेंगे कहां? उनका कौन सा विभाग होगा? उस विभाग में उनका पद क्या होगा और वे उस विभाग में क्या काम करेंगे? यह सब अभी तक एक सवाल बनकर रह गया था. आइए जानते हैं उनके विभाग के बारे में...
DMA: क्या करेगा रक्षा मंत्रालय का 5वां विभाग? चीफ हैं जनरल रावत
  • 2/7
जनरल रावत होंगे रक्षा मंत्रालय के नए विभाग के प्रमुख

केंद्र सरकार ने रक्षा मंत्रालय (Defence Ministry) में एक नया विभाग बनाया है. इसका नाम है सैन्य मामलों का विभाग (Department of Military Affairs). इसी विभाग में जनरल बिपिन रावत इंचार्ज होंगे. पहले वो थलसेना के प्रमुख थे लेकिन अब जनरल रावत मंत्रालय के अधीन आने वाले विभाग के प्रमुख होंगे.
DMA: क्या करेगा रक्षा मंत्रालय का 5वां विभाग? चीफ हैं जनरल रावत
  • 3/7
DMA में क्या काम करेंगे जनरल बिपिन रावत?

देश के पहले CDS जनरल बिपिन रावत इस विभाग में संयुक्त और थिएटरर कमांड की स्थापना करने में मदद करेंगे. साथ ही यह भी निर्धारित करेंगे कि इनका संचालन कैसे किया जाए. तीनों सेनाओं के संसाधनों के ज्यादा से ज्यादा उपयोग के लिए सैन्य कमांड के पुनर्गठन की सुविधा सुनिश्चित करेंगे. इसके अलावा तीनों सेनाओं की कॉमन प्लानिंग को लेकर योजनाएं बनाएंगे, साथ ही यह भी देखेंगे कि इनका क्रियान्वयन कैसे हो.
DMA: क्या करेगा रक्षा मंत्रालय का 5वां विभाग? चीफ हैं जनरल रावत
  • 4/7
सेनाओं की अहम जरूरतों को पूरा करेंगे

तीनों सेनाओं में विभिन्न प्रकार की जरूरतों, हथियारों की खरीद, ट्रेनिंग और स्टाफ की नियुक्ति का काम जनरल रावत का विभाग ही करेगा. साथ ही इन सभी कामों के लिए सेना, सरकार, मंत्रालय और थर्ड पार्टी से समन्वय स्थापित करेंगे. इतना ही नहीं स्वदेश में निर्मित सैन्य उपकरणों, हथियारों और तकनीकों को बढ़ावा देंगे.
DMA: क्या करेगा रक्षा मंत्रालय का 5वां विभाग? चीफ हैं जनरल रावत
  • 5/7
रक्षा मंत्रालय का पांचवां विभाग है DMA

केंद्र सरकार के रक्षा मंत्रालय के पास अभी तक चार विभाग थे. ये हैं रक्षा विभाग (Department of Defence), रक्षा उत्पादन विभाग (Department of Defence Production), रक्षा अनुसंधान और विकास विभाग (DRDO) और पूर्व सैनिक कल्याण विभाग (Department of Ex-Servicement Welfare). इन सभी विभागों के प्रमुख सचिव होते हैं. इसी तरह रक्षा मंत्रालय के पांचवें सैन्य मामलों के विभाग (Department of Military Affairs) के प्रमुख जनरल बिपिन रावत हैं. जनरल रावत को अब सचिव पद दिया गया है.
DMA: क्या करेगा रक्षा मंत्रालय का 5वां विभाग? चीफ हैं जनरल रावत
  • 6/7
तीनों सेनाओं के प्रशिक्षण संस्थान भी DMA के होंगे

थल, वायु और नौसेना के सभी प्रशिक्षण संस्थान अब सैन्य मामलो के विभाग (Department of Military Affairs) के तहत आएंगे. पहले ये रक्षा विभाग (Department of Defence) के अंदर आते थे. DMA में नागरिक और रक्षा अधिकारियों का मिश्रित अनुक्रम होगा. यानी यहां सरकारी और डिफेंस से जुड़े अधिकारी बैठेंगे.
DMA: क्या करेगा रक्षा मंत्रालय का 5वां विभाग? चीफ हैं जनरल रावत
  • 7/7
रावत को मिली कैबिनेट सेक्रेटरी की रैंक

देश के पहले CDS जनरल बिपिन रावत की रैंक अब कैबिनेट सक्रेटरी की होगी. लेकिन जनरल रावत चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के चेयरमैन भी होंगे, इसलिए इनके पास विभिन्न प्रकार की ताकतें मिली होंगी. साथ ही इन्हें राजनीतिक सहयोग से लेकर और केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम करना होगा.