scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

कोरोना पर स्टडी: प्राकृतिक तौर से हर्ड इम्यूनिटी हासिल करना असंभव

कोरोना पर स्टडी: प्राकृतिक तौर से हर्ड इम्यूनिटी हासिल करना असंभव
  • 1/6
हर्ड इम्यूनिटी के बारे में जानकारी जुटाने के लिए वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस पर एक बड़ी स्टडी की है. स्टडी के परिणाम हैरान करने वाले हैं. बता दें कि हर्ड इम्यूनिटी ऐसी स्थिति को कहा जाता है जब किसी समाज में इतने अधिक लोग इम्यून हो चुके होते हैं कि वायरस का चेन टूट जाता है और नए लोग संक्रमित नहीं हो पाते हैं.
कोरोना पर स्टडी: प्राकृतिक तौर से हर्ड इम्यूनिटी हासिल करना असंभव
  • 2/6
स्पेन सिर्फ 4.6 करोड़ की आबादी वाला देश है. यहां 2.98 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं. 28 हजार से अधिक लोगों की मौत भी हो चुकी है. इन वजहों से ये माना जा रहा था कि स्पेन के काफी अधिक लोग इम्यून हो चुके होंगे. लेकिन स्टडी में पता चला है कि अब तक स्पेन की सिर्फ 5 फीसदी आबादी ही इम्यून हो पाई है.
कोरोना पर स्टडी: प्राकृतिक तौर से हर्ड इम्यूनिटी हासिल करना असंभव
  • 3/6
सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, स्पेन में की गई स्टडी के बाद हर्ड इम्यूनिटी को लेकर नए सवाल खड़े हो गए हैं और कहा जा रहा है बिना वैक्सीन हर्ड इम्यूनिटी हासिल नहीं हो पाएगी. Lancet में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, ये स्टडी काफी बड़ी थी और करीब 61 हजार लोगों के सैंपल लिए गए थे.
कोरोना पर स्टडी: प्राकृतिक तौर से हर्ड इम्यूनिटी हासिल करना असंभव
  • 4/6
नई स्टडी का ये भी मतलब है कि 28 हजार लोगों को खोने के बाद भी स्पेन की 95 फीसदी आबादी पर वायरस का खतरा अब भी मंडरा रहा है. यूरोपियन सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल का कहना है कि यूरोप के किसी देश में की गई ये अब तक की सबसे बड़ी स्टडी है.
कोरोना पर स्टडी: प्राकृतिक तौर से हर्ड इम्यूनिटी हासिल करना असंभव
  • 5/6
Lancet की स्टडी में जिनेवा के सेंटर फॉर इमरजिंग वायरल डिजीज की प्रमुख इजाबेल एकरले और जिनेवा यूनिवर्सिटी के वायरोलॉजिस्ट बेंजामिन मेयर ने कहा कि नतीजों से पता चलता है कि प्राकृतिक रूप से हर्ड इम्यूनिटी हासिल करना न सिर्फ काफी अधिक अनैतिक होगा बल्कि असंभव होगा.
कोरोना पर स्टडी: प्राकृतिक तौर से हर्ड इम्यूनिटी हासिल करना असंभव
  • 6/6
बता दें कि डॉक्टर अब तक इस बात को लेकर भी आश्वस्त नहीं हो पाए हैं कि किसी व्यक्ति के शरीर में कोरोना की एंटीबॉडीज है तो वह दोबारा संक्रमित नहीं होगा या फिर कितने दिनों तक सुरक्षित रहेगा. वहीं, एक्सपर्ट का कहना है कि हर्ड इम्यूनिटी के लिए सामान्य स्थिति में समाज के 60 फीसदी लोगों का इम्यून होना जरूरी है.