scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

बदल गई ग्रहों की चाल, अगले 5 दिन सौर मंडल में बड़ा फेरबदल

बदल गई ग्रहों की चाल, अगले 5 दिन सौर मंडल में बड़ा फेरबदल
  • 1/7
20 साल बाद अंतरिक्ष में एक ऐसी घटना घटी है, जो खगोल विज्ञान के हिसाब से बेहद खास है. कई ग्रहों की चाल बदल गई है. हमारे सौर मंडल के तीन ग्रह एक लाइन में आ गए हैं. अब ये घटना बीस साल बाद होगी. यानी 2040 में. यानी अगर आपको आसमान सबसे ज्यादा चमकता हुआ कोई तारा आसमान में दिखे तो समझ जाइए की यह तीन ग्रहों के एक लाइन में आने की वजह से हुआ है. (फोटोः गेटी)
बदल गई ग्रहों की चाल, अगले 5 दिन सौर मंडल में बड़ा फेरबदल
  • 2/7
हुआ यूं है कि 14 जुलाई यानी मंगलवार को सूर्य, बृहस्पति और पृथ्वी एक सीध में आ गए हैं. यानी सूर्य और बृहस्पति के बीच धरती आ गई है. इसे जुपिटर एट अपोजिशन कहते हैं. (फोटोः गेटी)
बदल गई ग्रहों की चाल, अगले 5 दिन सौर मंडल में बड़ा फेरबदल
  • 3/7
जब धरती किसी अन्य ग्रह और सूर्य के बीच एक सीधी लाइन में आती है तो इसे अपोजिशन कहते हैं. पृथ्वी 365 दिन में सूर्य की परिक्रमा करती है. इस एक साल में सभी ग्रहों के साथ पृथ्वी ऐसी स्थिति बनती है, जिसमें वह विभिन्न ग्रहों के साथ सीध में आती है. (फोटोः गेटी)
बदल गई ग्रहों की चाल, अगले 5 दिन सौर मंडल में बड़ा फेरबदल
  • 4/7
लेकिन, 14 जुलाई से 20 जुलाई के बीच धरती इस बार बृहस्पति, शनि और प्लूटो के साथ एक सीधी रेखा में आ रही है. यह बेहद दुर्लभ स्थिति है. इसलिए दुनियाभर के वैज्ञानिक इस नजारे को देखने के लिए अपनी-अपनी तकनीक का उपयोग कर रहे हैं. (फोटोः गेटी)
बदल गई ग्रहों की चाल, अगले 5 दिन सौर मंडल में बड़ा फेरबदल
  • 5/7
16 जुलाई की सुबह सूर्य और प्लूटो की बीच पृथ्वी आएगी. इस दिन सुबह 7.47 बजे ये घटना देखी जा सकेगी. तीनों ग्रह एक सीधी रेखा में होंगे. (फोटोः गेटी)
बदल गई ग्रहों की चाल, अगले 5 दिन सौर मंडल में बड़ा फेरबदल
  • 6/7
20 जुलाई को अपोजिशन ऑफ सैटर्न की स्थिति बनेगी. 20-21 जुलाई की दरम्यानी रात 3.44 बजे सूर्य और शनि ग्रह के बीच धरती आ जाएगी. इससे पहले साल 2000 में सूर्य और शनि के बीच धरती आई थी. (फोटोः गेटी)


बदल गई ग्रहों की चाल, अगले 5 दिन सौर मंडल में बड़ा फेरबदल
  • 7/7
बृहस्पति ग्रह आप मध्यरात्रि में दक्षिण-पूर्व दिशा की तरफ आसमान में देख सकते हैं. ये बेहद चमकता हुआ दिखाई देगा. अगर दूरबीन से देखेंगे तो यह आपको यह इसके चंद्रमाओं के साथ भी दिख सकता है. ग्रहों के चाल बदलने से धरती पर कोई असर नहीं होगा. न ही कोई प्राकृतिक आपदा आएगी. (फोटोः गेटी)