scorecardresearch
 

क्या अमेरिका के खिलाफ चीन को महंगी पड़ सकती है बदजुबानी? देखें

क्या अमेरिका के खिलाफ चीन को महंगी पड़ सकती है बदजुबानी? देखें

अमेरिका और चीन के बीच विवाद जगजाहिर है. चीन का कहना है कि अहंकार का कोई इलाज नहीं. यह उसे बर्बाद करने के बाद ही जाता है, जिसके सिर चढ़ जाता है. अमेरिका भी अंहकार के मद में चूर है. कुछ भी कर रहा है, कुछ भी बोल रहा. अब उसका कहना है कि अमेरिका सिर्फ भौंकता है, उसमें काटने की हिम्मत नहीं है. क्वाड बैठक के बाद चीन ने अमेरिका की तुलना सीधे कुत्ते से कर दी. ग्लोबल टाइम्स ने लिखा कि अमेरिका केवल भौंक सकता है, काट नहीं सकता. चीन की यह भाषा उसकी बौखलाहट का सबूत भी दे रही है. देखिए खास कार्यक्रम, तेज पर.

The second ministerial meeting of the Quadrilateral Security Dialogue, also known as the Quad, took place in Tokyo on Tuesday, a year after the foreign minsters of India, Australia, Japan and the US met for the first time in New York on the sidelines of the United Nations General Assembly. The meeting comes at a time when tensions between the Quad nations and China have increased significantly. The dominant theme of the meeting was how to tackle an increasingly assertive China. After the meet, Chinese State media Global Times referred to Australia as a 'dog of the US'. Watch the report.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें