scorecardresearch
 

देश का गौरव

आखिर J-K में होने वाले DDC चुनाव को लेकर इतना हो-हल्ला क्यों है?

26 नवंबर 2020

28 नवंबर से जम्मू कश्मीर में पहली बार डीडीसी चुनाव शुरू होने वाले हैं. हर राजनीतिक पार्टी डीडीसी चुनाव को बेहद अहमियत दे रही है और पूरा जोर लगा रही हैं. लेकिन चुनावों से पहले ही बीजेपी और गुपकार गुट के दलों में आरोप प्रत्यारोप का जबरदस्त पलटवार शुरू हो गया है. पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती सईद ने तो यहां तक कह दिया है कि बीजेपी गुपकार से जुड़े प्रत्याशियों को चुनाव प्रचार ही नहीं करने दे रही है. जानबूझकर उनके नेताओं को रोशनी स्कैम से लेकर दूसरे आरोपों में फंसाया जा रहा है. लेकिन सवाल ये उठता है कि आखिर डीडीसी चुनाव को लेकर इतना हो हल्ला क्यों है? डीडीसी चुनाव को हर पार्टी जीतने के लिए क्यों सारी ताकत झोंक रही है? बात करेंगे हमारे खास कार्यक्रम देश का गौरव में.

धोखे वाला प्यार यूपी में पड़ेगा भारी! लव जिहाद पर कानून

25 नवंबर 2020

देश की सियासत में लव जिहाद पर सियासी घमासान मचा हुआ है. विपक्ष का सवाल है कि क्या असल में लव जिहाद है? क्या लड़कियों को एक सोची समझी साजिश के तहत लड़कियों को बहला-फुसलाकर, गलत नाम छिपाकर उनसे शादी की जाती है, फिर उनका जबरन धर्मांतरण करा दिया जाता है. या फिर ये महज एक राजनीतिक साजिश है? कुछ लोगों का यह भी कहना है कि यह महज एक सियासत है. यूपी में धर्म परिवर्तन के लिए जिलाधिकारी को दो महीने पहले सूचना देनी होगी. उत्तर प्रदेश सरकार ने ऐलान किया था कि हम लव जिहाद पर नया कानून बनाएंगे. ताकि लालच, दबाव, धमकी या झांसा देकर शादी की घटनाओं को रोका जा सके. आखिर क्या है इसका मकसद, देखिए देश का गौरव, गौरव सावंत के साथ.

शरजील-उमर खालिद ने रची दिल्ली दंगों की साजिश?

25 नवंबर 2020

दिल्ली में फरवरी में हुई हिंसा की साजिश के आरोप में जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद और शरजील इमाम के खिलाफ दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने रविवार को यूएपीए के तहत चार्जशीट दाखिल की है. दिल्ली पुलिस की ओर से कोर्ट में 930 पेज की चार्जशीट दाखिल की गई है. 930 पेज की चार्जशीट में 197 पेज चार्जशीट है तो 733 पेज में दस्तावेज हैं. उमर खालिद और शरजील इमाम के अलावा फैजान का नाम भी चार्जशीट में शामिल है. क्या इन्होंने ने ही दिल्ली को जलाने की कोशिश की? देखिए देश का गौरव, गौरव सावंत के साथ.

नगरोटा एनकाउंटर पर खुलासा! टल गई 26/11 जैसे बड़े हमले की साजिश

21 नवंबर 2020

जम्मू-कश्मीर के नगरोटा में हुए 4 पाकिस्तानी आतंकवादियों के एनकाउंटर के बाद टेरर के बहुत बड़े प्लान का खुलासा हुआ है. जिसके मुताबिक आतंकी हिंदुस्तान में 26/11 मुंबई हमले की बरसी पर बहुत बड़ी आतंकी साजिश का प्लान बनाकर आए थे और डीडीसी चुनाव के दौरान कश्मीर में बडा खून खराबा करने की फिराक में थे. इस साजिश में पाकिस्तान के हाथ होने के पुख्ता सबूत भी हैं. ये जानकारी सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों ने खुद प्रधानमंत्री मोदी से सुरक्षा के लिए बुलाई गई मीटिंग में साझा की. केंद्रीय जांच एजेंसी यानी NIA ने नगरोटा में हुए आतंकी हमले की जांच शुरु कर दी है. NIA अब उस ट्रक के मालिक और ड्राइवर का पता लगाएगी जिसमें आतंकी सवार थे. इस पर देखें देश का गौरव.

आतंक को बेदम करनेवाला ऑपरेशन नगरोटा, देखें देश का गौरव

19 नवंबर 2020

आज देश के दुश्मनों की बड़ी साजिश नाकाम हो गई. जम्मू के नगरोटा में सुरक्षाबलों ने जैश ए मोहम्मद के 4 आतंकियों को ढेर कर दिया. आतंकी कश्मीर में चुनाव के दौरान बड़ी आतंकी वारदात का मंसूबा लेकर आए थे. लेकिन जम्मू श्रीनगर हाइवे पर चेक प्वॉइंट पर सुरक्षाबलों ने उन्हें घेर लिया और ट्रक में छिपकर बैठे आतंकियों को वहीं ढेर कर दिया. ये जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों की बड़ी कामयाबी है और पाकिस्तान में आतंक की फैक्ट्री चलाने वालों को सीधा संदेश. देखिए ये रिपोर्ट.

ओबामा ने किया टेरर पर PAK का खुलासा, देखें देश का गौरव

18 नवंबर 2020

आतंक को पालने वाले पाकिस्तान के आतंक को लेकर बहुत बड़ा पर्दाफाश हुआ है और पर्दाफाश किया है अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने. बराक ओबामा ने अपनी किताब में लिखा है कि पाकिस्तान की सेना और खुफिया एजेंसी आईएसआई दोनों के आतंकियों से संबंध थे, जिसकी वजह से ही उन्होंने ओसामा बिन लादेन के ऑपरेशन को पाकिस्तान से गुप्त रखा. ओबामा ने इसके अलावा भी पाकिस्तान में किए गए ऑपरेशन और आतंकियों से पाकिस्तान के संबंधों पर खुलासा किया है यानि हिंदुस्तान जो कहता रहा है. वही बात अब अमेरिका भी खुलकर कहने लगा है. देखें देश का गौरव.

कश्मीर का संगठन गुपकार, क्या है देश के खिलाफ?

17 नवंबर 2020

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुपकार गैंग पर निशाना साधा है. अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा कि गुपकार गैंग देश में विदेशी दखल चाहता है. गुपकार गैंग ने तिरंगे का अपमान किया है. अमित शाह ने राहुल और सोनिया गांधी से गुपकार गैंग को लेकर अपना रुख साफ करने की मांग भी. जम्मू-कश्मीर में डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल का चुनाव है. इस बार महबूबा और फारूख अब्दूल्ला की पार्टी गुपकार अलायंस के बैनर तले चुनाव लड़ रही हैं. वहीं, अकेले मैदान में उतरी बीजेपी गुपकार के बहाने कांग्रेस को भी घेर रही है. देखिए तेज का बेहद खास कार्यक्रम, देश का गौरव, गौरव सावंत के साथ.

कश्मीर में दहशत फैलाने का क्या है पाक का मास्टर प्लान?

16 नवंबर 2020

पाकिस्तान आखिर चाहता क्या है. वो हर पल, हर समय हिंदुस्तान को दहलाने की साजिश रचता रहता है. इस वक्त भी वो गहरी साजिश में जुटा हुआ है. खूफिया सूत्रों के मुताबिक हिंदुस्तान को बड़ी चोट देने के लिए सरहद पार पाकिस्तान ने ढाई सौ से 300 आतंकी जुटा रखे हैं, जिन्हें घुसपैठ के जरिए हिंदुस्तान भेजने की साजिश रची जा रही है. हिंदुस्तान में फिर भी ऐसे लोग भी हैं, जो पाकिस्तान से ऐसे हालात में भी दोस्ती की वकालत कर रहे हैं. तरफ पाकिस्तान हिंदुस्तान को चोट देने, कश्मीर को अलग करने की साजिश रचता रहता है. खुद उसके अपने घर में बिखराव के हालात भड़क उठे हैं. पाकिस्तान के तमाम हिस्सों में इमरान सरकार के खिलाफ गुस्सा भड़क रहा है. देखिए देश का गौरव, गौरव सावंत के साथ.

आतिशबाजी के बिना क्या नहीं मनाई जा सकती दीपावली? अमीष त्रिपाठी से जान‍िए

14 नवंबर 2020

अयोध्या में दीपोत्सव के इस अनोखे मौके पर सारा जग प्रफुल्लित है. आज हमारे साथ राम के जीवन को करीब से समझने वाले, राम-सीता पर कई किताबें लिखने वाले मशहूर उपन्यासकार अमीष त्रिपाठी मौजूद हैं. ज‍िन्होंने भगवान राम के जीवन पर उपन्यासों की सीरीज लिखी हैं. अमीष त्रिपाठी नेहरू सेंटर लंदन में डायरेक्टर के पद पर हैं, लेकिन उनको ख्यातिप्रसिद्धि मिली है भगवान राम पर लिखी किताबों पर. अमीष से जान‍िए, इस दीपोत्सव का क्या महत्व है? क्या आतिशबाजी के बिना नहीं मनाई जा सकती दीपावली?

पाकिस्तान ने कबूली 26/11 मुंबई हमले में हाथ होने की बात, क्या है असली वजह?

12 नवंबर 2020

आतंक को पालने वाले पाकिस्तान ने आतंकवादियों को पालने की बात कबूल कर ली है. पाकिस्तान ने सारी दुनिया के सामने माना है कि 12 साल पहले मुंबई में 26-11 हमले में पाकिस्तान का ही हाथ था. पाकिस्तान के आतंकियों ने ही हिंदुस्तान को खून-खून किया था. बाकायदा 11 आतंकियों को मोस्टवॉन्टेड की लिस्ट में डाला गया है. लेकिन क्यों? आखिर 12 साल बाद ऐसा क्या हो गया, जो पाकिस्तान का चाल चरित्र बदल गया. आखिर इसके पीछे पाकिस्तान की असली वजह क्या है. बात करेंगे देश के गौरव में.