scorecardresearch
 

देश का गौरव

वैक्सीन पर क्या विपक्ष समाधान के बजाय घमासान पर दे रहा ज्यादा ध्यान?

13 मई 2021

कोरोना वैक्सीन पर घमासान भी जारी है. कोविशील्ड की दूसरी डोज के बीच अंतर को बढ़ाने की सिफारिश को मंजूरी मिल गई है. वहीं दूसरी ओर रूसी वैक्सीन स्पूतनिक वी अगले हफ्ते से बाजार में मिलने लगेगी. दोनों खबरें राहत भरी हैं लेकिन इन सबके बीच वैक्सीन को लेकर ब्लेम गेम भी जारी है. विपक्ष कह रहा है वैक्सीन की कमी छिपाने को केंद्र सरकार अंतर बढ़ा रही है तो दूसरी ओर टीके के खरीद को लेकर भी विपक्ष केंद्र सरकार पर हावी है..सवाल ये उठता है कि क्या वैक्सीन नीति पर सरकार फंस गई है या फिर विपक्ष समाधान के बजाय घमासान पर ज्यादा ध्यान दे रहा है. देखें देश का गौरव.

वैक्सीन को लेकर कोश‍िशें कम और राजनीत‍ि ज्यादा हो रही? देखें चर्चा

12 मई 2021

कोरोना की वैक्सीन को लेकर केंद्र और राज्य सरकार के बीच तनातनी बढ़ गई है. टीके का टोटा बताकर दिल्ली से लेकर महाराष्ट्र सरकार केंद्र पर लगातार निशाना साध रही हैं. केजरीवाल सरकार ने तो यहां तक कह दिया कि कोवैक्सीन की कमी की वजह से दिल्ली में 100 सेंटर बंद हो गए हैं. इन सब के बीच कैसे जीती जाएगी जंग? देखें इस वीडियो में.

कोरोना पर छिड़ा 'लेटर वॉर,' कांग्रेस के सवालों पर नड्डा ने किए तीखे हमले

11 मई 2021

कोरोना को लेकर लेटर वॉर छिड़ गया हैं. 7 मई को सोनिया गांधी ने कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में कहा था कि सिस्टम नहीं फेल हुआ, सरकार फेल हुई. सोनिया, राहुल और यहां तक कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कटघरे में खड़ा कर चुके हैं. लेकिन अब बारी थी बीजेपी की. आज बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी और कहा कि कांग्रेस के रवैये से दुखी हूं लेकिन हैरान नहीं. नड्डा ने 4 पन्ने के अपने पत्र में कांग्रेस समेत पूरे विपक्ष के एक एक हमले का जवाब दिया. लेकिन सवाल ये है कि कोरोना से हमारी लड़ाई राजनीतिक तू-तू मैं-मैं और सियासी खींचतान के बीच कहीं उलझकर तो नहीं रह गई है? देखिए ये रिपोर्ट.

ऑक्सीजन के बंटवारे पर कौन सच्चा-कौन झूठा?

10 मई 2021

कोरोना के दौर में मरीजों की जान बचाने से सबसे ज्यादा जरूरत ऑक्सीजन की पड़ रही है, लेकिन मुश्किल इस बात की है कि यही ऑक्सीजन अब सियासत का सबसे बड़ा जरिया बन गई है. इस सियासत का केंद्र बन चुकी है राजधानी दिल्ली, जहां बार-बार ऑक्सीजन कमी का मुद्दा उठाने वाली AAP सरकार को अब बीजेपी ने आड़े हाथ लिया है. देखें देश का गौरव, गौरव सावंत के साथ.

कलश पूजा: उड़ी Corona न‍ियमों की धज्जियां, ज‍िम्मेदारों पर होगा एक्शन?

05 मई 2021

देश में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है. आज भी 3 लाख 82 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मामले मिले हैं और 3700 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है. लेकिन ऐसे समय में भी लोग आस्था के नाम पर कोरोना के हॉटस्पॉट बनने का काम कर रहे हैं. आज गुजरात के अहमदाबाद के साणंद से पूजा अर्चना के नाम पर भीड़ की ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं. जिसे देखकर कोई भी हैरान रह जाए. हजारों की भीड़ में लोग बिना मास्क, बिना सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पूजा में शामिल हुए. क्या ज‍िम्मेदारों पर होगा एक्शन?

बंगाल में फैली ह‍िंंसा के ल‍िए कौन ज‍िम्मेदार? देख‍िए जोरदार बहस

04 मई 2021

2 मई को बंगाल में चुनाव परिणाम आने के बाद से बंगाल जल रहा है. अब तक से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर है. तो मारपीट, आगजनी, तोडफोड के तो न जाने कितने मामले हो चुके हैं. बहुत से लोग घर छोड़कर भाग गए हैं. बंगाल के हालात कैसे इसे ऐसे समझिए कि खुद पीएम मोदी ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ को फोनकर चिंता जताई है. तो बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा इस वक्त बंगाल में ही हैं और पीड़ितों के घर जाकर जायजा ले रहे हैं. इस पूरे बवाल पर बीजेपी ने टीएमसी कार्यकर्ताओं पर हत्या से लेकर महिलाओं से रेप तक के गंभीर आरोप लगाए हैं. वहीं, टीएमसी भी बीजेपी की चिंता को राजनीतिक स्टंट बता रही है. प्रश्न ये है क्या वोट के बदले अब विरोधियों पर चोट की जा रही है? क्या दीदीराज में बदले की कार्रवाई हो रही है? कौन है कसूरवार? इस पर करेंगे पूरी चर्चा.

दिल्ली में कोरोना से हालात काबू से बाहर, क्या अब सेना बनेगी देवदूत?

03 मई 2021

कोरोना से लड़ाई बेहद गंभीर है और जिस तरह से पूरे देश में हालात बेकाबू दिख रहे हैं, ऐसे में क्या अब सीधे सेना की मदद लेनी पड़ेगी? दिल्ली में भी हालात बेहद खराब हैं. ऐसे में सेना की मदद के लिए दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखी है. इसमें सबसे बड़ी मदद ऑक्सीजन सप्लाई के मद्देनजर है. सेना के रिटायर्ड डॉक्टर भी जल्द मदद के लिए तैयार होंगे. ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि क्या अब सेना कोरोना काल में देवदूत बनेगी, क्या देश सेना के सहारे कोविड की लड़ाई जीतेगा? देखिए ये रिपोर्ट.

वैक्सीन की क‍िल्लत में कैसे होगा 18+ का Vaccination?

29 अप्रैल 2021

कोरोना संकट काल में जहां देश में लोग ऑक्सीजन बेडस् की जंग लड़ रहे हैं वहीं दूसरी ओर वैक्सीन के लिए भी मारे-मारे फिर रहे हैं. वैक्सीन की किल्लत हर राज्य में हो रही है, लिहाजा टीके के लिए लोग बहुत परेशान हैं. अभी तक कई लोगों को दूसरा डोज भी नहीं लग पाया है. कई राज्यों ने तो टीकाकरण को लेकर हाथ खड़े कर दिए हैं. वहीं, 1 मई से 18 साल से ऊपर के लोगों का टीकाकरण शुरु होने वाला है, तो ऐसी किल्लत के बीच 18 साल से ऊपर वालों को कैसे लगेगा टीका? देखिए वीडियो.