scorecardresearch
 

भारतीय स्टार्टअप ने शुरू किया वर्चुअल फोन नंबर सर्विस, अपना नंबर नहीं करना होगा शेयर

दूसरा - ये एक ऐप है जो कस्टमर्स वर्चुअल फ़ोन नंबर प्रोवाइड करता है. यानी आप किसी को अपना असली नंबर न दे कर Doosra नंबर दे सकते हैं.

Doosra App Doosra App
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Doosra ऐप आपको देगा एक वर्चुअल फ़ोन नंबर, अनवांटेड कॉल्स होंगी ब्लॉक
  • किसी भी टेलीकॉलर, शॉप या सर्विस के लिए दे सकते हैं Doosra नंबर

इन दिनों ज़्यादातर सर्विस के लिए फोन नंबर देना ज़रूरी हो गया है. चाहे आप किसी शॉपिंग सेंटर में जाते हैं या फिर कोई ऑनलाइन सर्विस लेते हैं. लगभग हर जगह आपको अपना फ़ोन नंबर देना होता है.

फ़ोन नंबर देने के कई नुक़सान हैं. पहली चीज तो ये है कि आपको स्पैम कॉल खूब आएँगे. महिलाओं की प्राइवेसी और सेफ़्टी के लिहाज़ से भी हर सर्विस के लिए अपना फ़ोन नंबर देना थोड़ा नुक़सान भर जरूर है.

हैदराबाद के रहने वाले आदित्य ने Doosra नाम का एक स्टार्ट अप शुरू किया है. आदित्य ने aajtak.in को बताया है कि उनका उद्देश्य प्राइवेसी को मद्देनज़र रखते हुए यूज़र्स को अनचाहे कॉल्स और स्पैम से बचाना है.

Doosra ऐप के ज़रिए अपना फ़ोन नंबर एंटर करके आप एक नया वर्चुअल नंबर पा सकते हैं. आप किसी को भी ये नंबर दे कर स्पैम कॉल से आसानी से बच सकेंगे. क्योंकि ये नंबर आपके असल मोबाइल नंबर से अलग होगा.

Doosra नंबर के फायदे क्या हैं?

इस ऐप के फाउंडर आदित्य बताते हैं कि ये आपकी प्राइवेसी को प्रोटेक्ट कर सकता है. आप कहीं शॉपिंग के लिए जाते हैं तो आपका फोन नंबर मांगा जाता है.

आप वहां अपना असली फोन नंबर देने के बजाए वर्चुअल नंबर दे सकते हैं. इससे आपको डिस्काउंट और ऑफर्स भी मिल जाएंगे और आपका अपना नंबर कहीं शेयर भी नहीं होगा. 

आदित्य का कहना है कि ये खास तौर पर महिलाओं की प्राइवेसी के लिए मददगार हो सकता है. क्योंकि उन्हें किसी सर्विस या शॉपिंग के लिए अपना नंबर देने की जरूरत नहीं होगी. 

Doosra ऐप से कर सकते है कॉल मैनेज…

एंड्रॉयड और आईफ़ोन में Doosra ऐप डाउनलोड किया जा सकता है. Doosra नंबर पर जितनी भी कॉल आएंगी वो Doosra ऐप में स्टोर होंगी.

यहाँ वॉयस मेल का भी सर्विस है. Doosra नंबर पर किए गए कॉल्स ऑटो ब्लॉक होते हैं. लेकिन सेटिंग्स में जा कर आप इसे अन ब्लॉक भी कर सकते हैं.

कॉल ऑटो ब्लॉक होने की स्थिति में अगर कोई भी आपके Doosra   नंबर पर कॉल करेगा तो उन्हें आप अनअवेलेबल बताएँगे, लेकिन यहाँ वॉयस मैसेज रिकॉर्ड करने का ऑप्शन आएगा. वॉयस मैसेज सीधे आपके Doosra ऐप में आएँगे और आप वन टैप पर इसे सुन सकेंगे.

Doosra ऐप के लिए इस स्टार्टअप ने जोमैटो, स्विगी, ओला और कई इसी तरह की कंपनियों के साथ पार्टनरशिप की है. इसके तहत इन डिलिवरी सर्विस के कॉल्स ऑटो ब्लॉक नहीं रहते हैं और फूड या प्रोडक्ट्स डिलिवर करने के लिए की गई कॉल्स आप फ़ोन पर पिक कर सकेंगे.

कैसे काम करता है Doosra ऐप?

हमने इस स्टार्टअप के फाउंडर और सीईओ आदित्य से बातचीत की है. उन्होंने कहा है कि इसके लिए उन्होंने टेलीकॉम कंपनियों के साथ पार्टनरशिप की है. इसके तहत कस्टमर्स को एक वर्चुअल नंबर प्रोवाइड कराया जाता है.

हालाँकि इस वर्चुअल नंबर से आप किसी को कॉल नहीं कर सकते हैं. इस नंबर से आप किसी भी सोशल मीडिया या मैसेजिंग ऐप पर अकाउंट भी नहीं बना सकते हैं.

Doosra फाउंडर आदित्य ने कहा है कि ऐसा उन्होंने फ्रॉड से बचने के लिए किया है. यानी वर्चुअल नंबर से आपको कॉल, वॉयस मैसेज और मैसेज रिसीव होंगे.

कैसा है ऐप इंटरफ़ेस और एक्सपीरिएंस

हमने Doosra ऐप यूज किया है. ऐप का यूज़र इंटरफ़ेस आसान है. कॉल ब्लॉक और अनब्लॉक आसानी से कर सकते हैं. ऐप में कॉल्स, वॉयस मैसेज और मैसेज का ऑप्शन मिल जाता है.

ऐप ओपन करके आप कितनी कॉल्स आई है ये देख सकते हैं, वॉयस मैसेज सुन सकते हैं और टेक्स्ट मैसेज देख सकते हैं.

इस ऐप में लोकेशन बेस्ड कॉल अनब्लॉक का भी एक फ़ीचर दिया गया है. 

कॉल्स को अनब्लॉक दो तरह से कर सकते हैं. एक टाइम बेस्ड और दूसरा लोकेशन बेस्ड. टाइम बेस्ड में 60 मिनट तक आप सभी कॉल्स को अनब्लॉक कर सकते हैं.

आप किसी ख़ास लोकेशन पर हैं और वहीं चाहते हैं की सभी कॉल्स अनब्लॉक रहें तो आप ये भी कर सकते हैं.

Doosra सर्विस यूज करने के लिए भारतीय सिम होना ज़रूरी

इस सर्विस के लिए आपके पास भारत का सिम होना ज़रूरी है. Doosra ऐप या वेबसाइट पर अपना नंबर एंटर करने के बाद आपको OTP भेजा जाएगा. वैलिडेशन के बाद आपको प्लान चुनना है.

प्लान चुनने के बाद पेमेंट करते हैं और इसके बाद आपको 10 डिजिटल का एक नया नंबर दिया जाएगा. इस नंबर को आप कहीं भी शॉप में, डिस्काउंट ऑफ़र के लिए या टेली कॉलर्स को दे सकते हैं.

ऐप के फाउंडर का कहना है कि महिला सुरक्षा को लेकर भी ये ऐप काफ़ी फ़ायदेमंद होगा. क्योंकि अगर किसी डिलिवरी सर्विस या इंक्वॉयरी के लिए अगर महिलाएँ अपना नंबर शेयर करती हैं तो कई बार ऐसा होता है कि उन्हें मल्टिपल कॉल करके हैरेस किया जाता है.

सब्सक्रिप्शन सर्विस मॉडल

ये फ़्री सर्विस नहीं है और कस्टमर्स को इसके लिए पैसे देने होते हैं. अभी 6 महीने और 12 महीने वाले प्लान हैं जिनमें से आप एक चुन सकते हैं.

6 महीने के लिए 499 रुपये लगेंगे जबकि 699 रुपये में एक साल तक के लिए ये सर्विस ले सकते हैं.

ख़ास बात ये है कि आप सब्सक्रिप्शन के बाद अगर VIP नंबर लेना चाहें तो वो भी कर सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको अलग से पैसे देने होंगे. नॉर्मल नंबर के लिए अलग से पैसे नहीं देने होते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें