scorecardresearch
 

ट्रेन में घटिया खाना या गंदा दिखे टॉयलेट, 'मदद' से दूर होगी शिकायत

अगर आप रेलवे से संबंधित कोई शिकायत दर्ज कराना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास ट्विटर, फेसबुक, हेल्पलाइन या शिकायत रजिस्टर आदि की सुविधा है. लेकिन अब रेलवे इससे आगे एक कदम बढ़ा रहा है.

खचाखच भरा हुआ ट्रेन का डिब्बा, फोटो- रॉयटर्स खचाखच भरा हुआ ट्रेन का डिब्बा, फोटो- रॉयटर्स

अगर आप रेलवे से संबंधित कोई शिकायत दर्ज कराना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास ट्विटर, फेसबुक, हेल्पलाइन या शिकायत रजिस्टर आदि की सुविधा है. लेकिन अब रेलवे इससे आगे एक कदम बढ़ा रहा है. रेलवे इस महीने के आखिरी में ‘मदद’ (मोबाइल ऐप्लीकेशन फॉर डिजायर्ड असिस्टेन्स ड्यूरिंग ट्रैवल) के नाम से एक मोबाइल ऐप लाने जा रहा है. इसके जरिए यात्री खाने की क्वालिटी या गंदे शौचालय या किसी अन्य मुद्दे पर अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे.

ट्रैक होगा कंप्लेंट स्टेटस

इस ऐप के जरिए वे आपात सेवाओं के लिए भी रिक्वेस्ट कर सकेंगे. ऐप के जरिए संबंधित विभागों के संबंधित अधिकारियों तक सीधे शिकायत पहुंच जाएंगी और ऑनलाइन कार्रवाई हो सकेगी. इस तरह से शिकायतों के पंजीकरण और निवारण की पूरी प्रक्रिया तेजी से हो सकेगी. यात्री अपनी शिकायतों के स्टेटस को ट्रैक कर पाएंगे और मामले में की गई कोई भी कार्रवाई होने पर नोटिफिकेशन भी मिलेगा.

प्रस्तावित ऐप से रेलवे के सभी यात्रियों की शिकायतें और निवारण तंत्र एक मंच पर आ जाएंगे. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘अब तक हमारे पास 14 चैनल्स हैं जिसके जरिए यात्री अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं. सबका जवाब देने का अपना समय है और साथ ही जवाब का मानक भी अलग है. कभी कोई एक्टिव रहता है, कभी नहीं रहता है. हम एक पारदर्शी, मानकीकृत शिकायत निवारण प्रक्रिया चाहते हैं. यह ऐप इस महीने शुरू हो सकता है.’

SMS से मिलेगी जानकारी

यात्री अपनी शिकायतें PNR टाइप कर दर्ज कर सकते हैं. रजिस्ट्रेशन के वक्त SMS के जरिए उन्हें एक कंप्लेंट ID मिलेगा. इसके बाद संबंधित विभाग द्वारा की गई कार्रवाई के बारे में व्यक्तिगत SMS के जरिए जानकारी दी जाएगी. अधिकारी ने बताया कि इस ऐप में महीने में मिलने वाली कुल शिकायतों और भारतीय रेलवे द्वारा उनके निवारण के बारे में भी जानकारी मुहैया कराई जाएगी. उन्होंने बताया ‘इस व्यवस्था के शुरू होने का मतलब यह नहीं है कि हम अन्य प्लेटफॉर्म पर शिकायतों पर कार्रवाई नहीं करेंगे. हम इस एकीकृत व्यवस्था का उपयोग करना चाहते हैं.

(इनपुट-भाषा)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें