scorecardresearch
 

अमेरिकी बॉर्डर पर भारतीय मूल के NASA वैज्ञानिक का फोन जबरन किया गया अनलॉक

अमेरिका में इमीग्रेशन बैन के बाद यह मामला जोर पकड़ सकता है, क्योंकि सोशल मीडिया पर लोग इस घटना के बाद इसके लिए ट्रंप की पॉलिसी को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं.

X
सिड बिकान्नवर सिड बिकान्नवर

भारतीय मूल के नासा वैज्ञानिक को अमेरिकी कस्टम अधिकारियों ने बॉर्डर पर हिरासत में लिया. इतना ही नहीं उन्हें उनसे अपना फोन अनलॉक करने को कहा गया और जबरदस्ती पिन की मांग भी की गई.

35 साल के सिड बिकान्नवर नासा के जेट प्रोपल्सन लैबोरेटरी के एक वैज्ञानिक हैं और वो साउथ अफ्रिका से वापस अपने घर अमेरिका जा रहे थे.

उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा है कि अमेरिकी कस्टम्स और बॉर्डर प्रोटकेक्शन ऑफिसर्स ने ह्यूस्टन के जॉर्ज बुश इंटरनकॉन्टिनेंटल एयरपोर्ट जाने से पहले उनके सेलफोन का पासवर्ड मांगा.

उन्होंने लिखा है, ‘पिछले वीकेंड जब में अमेरिका अपने घर जा रहा था तो मुझे होमलैंड सिक्योरिटी ने डीटेन किया और पासवर्ड मागा गया. मैंने शुरुआत में पासवर्ड देने से मना किया क्योंकि वो फोन NASA ने इश्यू किया था जिस प्रोटेक्ट करना मेरी जिम्मेदारी है’

उन्होंने यह भी कहा है, ‘मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि मैं अमेरिका में पैदा हुआ हूं और यहीं का नागरिक भी हूं. मैं नासा का इंजीनियर हूं और मैं वैलिड अमेरिकी पासपोर्ट से यात्रा कर रहा था. उन्होंने एक बार मुझसे फोन और पिन ऐक्सेस ले लिया’

गौरतलब है कि इस हाल ही में होमलैंड सिक्योरिटी सेकरेटरी जॉन केली ने एक होमलैंड सिक्योरिटी कमीटी से कहा है कि सोशल मीडिया और पासवर्ड मांगे जाने में क्या मुश्किल है? अगर वो हमारे साथ नहीं देंगे तो उन्हें यहां आने की कोई जरूरत ही नहीं है.

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर उनके सपोर्ट में पोस्ट लिखे जा रहे हैं और इसके लिए वहां के प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप को भी जिम्मेदार बताया जा रहा है. क्योंकि इमीग्रेशन बैन के बाद अमेरिका में इस तरह की घटनाएं बढ़ने की उम्मीद है और.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें