scorecardresearch
 

कोरोना से जूझते लोगों के सम्मान में Google इस साल नहीं करेगा अप्रैल फूल प्रैंक

कोरोना वायरस महामारी को ध्यान में रखकर इस साल Google अपने एनुअल अप्रैल फूल प्रैंक में हिस्सा नहीं लेगा. कंपनी द्वारा इस कदम को उठाए जाने की उम्मीद पहले से ही की जा रही थी, क्योंकि पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना वायरस के खौफ में है.

Photo For Representation Photo For Representation

कोरोना वायरस महामारी को ध्यान में रखकर इस साल Google अपने एनुअल अप्रैल फूल प्रैंक में हिस्सा नहीं लेगा. कंपनी द्वारा इस कदम को उठाए जाने की उम्मीद पहले से ही की जा रही थी, क्योंकि पूरी दुनिया इस वक्त कोरोना वायरस के खौफ में है.

इस साल अप्रैल फूल प्रैंक को कैंसिल करने की जानकारी गूगल ने आधिकारिक तौर पर नहीं दी है. हालांकि बिजनेस इनसाइडर ने (द वर्ज के जरिेए) एक आंतरिक ईमेल मिला है जिसमें कंपनी द्वारा इवेंट को कैंसिल करने के फैसले की जानकारी दी गई है. गूगल ने इस मेल में कहा है कि हमनें कोरोना महामारी से लड़ रहे लोगों का सम्मान करते हुए ये फैसला लिया है. हालांकि, अगले साल इस सालाना ट्रेडिशन को जारी रखा जाएगा. कामना है कि अगले साल तक हालात पूरी तरह सामान्य हो जाएंगे.

ये भी पढ़ें: कोरोना से लड़ाई में उतरा Apple, लॉन्च की वेबसाइट और ऐप, ये होगा फायदा

गूगल ने मेल में ये भी कहा है कि ना केवल हमने सेंट्रलाइज्ड अप्रैल फूल प्रैंक नहीं करने का फैसला किया है, बल्कि बाकी टीमों से भी इंटरनल या एक्सटर्नल किसी भी जोक को प्लान नहीं करने के लिए रिक्वेस्ट किया है.

गूगल की सालाना अप्रैल फूल प्रैंक में आमतौर पर अजीब फीचर वाला नया प्रोडक्ट होता है. पिछले साल कंपनी ने Google Tulip पेश किया था. ये एक AI था जो ये समझ सकता था कि Tulips क्या कह रहे हैं. इसी तरह गूगल जापान ने एक स्मार्ट स्पून उतारा था, जो बेंड हो सकता था.

उम्मीद की जा रही है कि गूगल द्वारा अप्रैल फूल प्रैंक नहीं किए जाने के फैसले को बाकी कंपनियां भी फॉलो करेंगी. इससे पहले गूगल ने ये भी घोषणा की है कि कंपनी कोरोना महामारी से जूझ रहे बिजनेस और हेल्थ एजेंसियों को 800 मिलियन डॉलर डोनेट करेगी. गूगल इसे कैश, एड क्रेडिट्स और क्लाउड सर्विस के जरिए ऑफर करेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें