scorecardresearch
 

पैसे बचाने की अपनी इस वेबसाइट के लिए 42 करोड़ रुपये का ऑफर ठुकराया

16 साल के स्कूली छात्र ने अपनी वेबसाइट के लिए 42 करोड़ रुपये का ऑफर ठुकरा दिया

मुहम्मद अली मुहम्मद अली

16 साल की उम्र में लोग क्या करते हैं? क्रिकेट खेलते हैं या पढ़ाई कर रहे होते हैं. मगर आपको पता चले कि एक स्कूल स्टूडेंट ने 42 करोड़ रुपये के ऑफर ठुकरा दिए तो हो सकता है कि आपकी सांसे कुछ वक्त के लिए आपका साथ छोड़ दें. वाकया कुछ यूं है कि ब्रिटेन के रहने वाले 16 साल के एक स्कूल स्टूडेंट मुहम्मद अली ने अपनी बनाई गई वेबसाइट को 42 करोड़ रुपये में बेचने से इनकार कर दिया.

दरअसल अली ने अपने घर में ही बैठ कर एक ऐसी वेबसाइट डिजाइन की है जिसमें रियल टाइम पैसों की बचत कैसें करें ये बताया गया है.

Redmi Note 4: केवल 10 मिनट में बिके ढाई लाख यूनिट्स

इस वेबसाइट को खासकर लोंगो के पैसे बचाने के लिए डिजाइन किया गया है. उसने इस वेबसाइट को बनाने में एक साठ साल के बिजनेस पार्टनर क्रिस थॉर्प की मदद ली. पहली बार उसने 12 साल की उम्र में अपनी कंपनी की शुरुआत की. तब उसने इससे लगभग 35 लाख रुपये की कमाई की थी इसके तहत उसने स्टॉक मार्केट ऐप्स और वीडियो गेम्स बनाए थे.

इसलिए ठुकराया 42 करोड़ का ऑफर:
अली ने कहा' हम लंदन में निवेशक से मिले जिनकी ग्लोबल डेटा कंपनी है और उन्हें यकीन नहीं हुआ कि ये प्लेटफार्म बनाया. मुझे लगता है कि ये दुनिया की पहली ऐसी वेबसाइट है जिसके जरिए हम इससे ज्यादा पैसा कमा सकते हैं.

Redmi Note 4 को टक्कर देगा ये नया स्मार्टफोन

ऑफर ठुकराने की दूसरी वजह:
उन्होंने कहा कि, इस टेक्नोलॉजी और कॉन्सेप्ट की वैल्यू करोड़ों में है तो जब लोग इसे उपयोग करने लगेंगे तो इसकी वैल्यू डबल हो जाएगी. मुझे लगता है कि ये एक बड़ा रिस्क है लेकिन मैं एक नाम बनाना चाहता हूं. जिसे घर-घर पहचान मिले.

उनका यह भी मानना है कि दुनिया में उनका कोई प्रतिद्वंदी है ही नहीं क्योंकि यह एक रियल टाइम पैसे बचाने वाली मशीन के जैसी है, यानी आम लोगों के लिए ब्लूमबर्ग जैसी.

WENEED1 की शुरुआत क्रिश थॉर्प ने 2009 में की थी तब लोग Uk में इस वेबसाइट के जरिए अपने सामान और सर्विस बेचते थे. पर अली से मिलने के बाद ये वेबसाइट रियल टाइम पैसे बचाने वाली वेबसाइट बन गई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें