scorecardresearch
 

Vivo V23 Pro Review: कलर चेंजिंग स्मार्टफोन, अच्छा परफॉर्मेंस, कीमत थोड़ी ज्यादा

Vivo V23 Pro: इंसनों की तरह ये फोन भी रंग बदलता है. ऐसा कह सकते हैं. क्योंकि फोन खुद से रंग नहीं बदलता. बैक बैनल को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि लाइट पड़ने पर ये रंग बदलता है. रिव्यू में बात करेंगे इस फोन के खूबियों और खामियों के बारे में...

X
Vivo V23 Pro
Vivo V23 Pro
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Vivo V23 Pro रिव्यू - पढ़ें इसकी परफॉर्मेंस कैसी है
  • Vivo V23 Pro review - कैसा है इसका कैमरा?

Vivo ने हाल ही में भारतीय मार्केट में एक रंग बदलने वाला स्मार्टफोन लॉन्च किया है. ये Vivo V23 Pro है. रंग ये खुद से नहीं बदलता है, ये सारा खेल लाइट का है. फोन के बैक पैनल को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि अलग अलग एंगल से लाइट पड़ने पर आपको ये अलग कलर का दिखता है. 

बहरहाल, Vivo V23 Pro सिर्फ रंग ही नहीं बदलता है. बल्कि कई और खास फीचर्स भी हैं. इनके बारे में बात तो करेंगे ही साथ ही इस रिव्यू में हमेशा की तरह आपको ये भी बताएंगे कि इस फोन की कमियां क्या हैं. 

Vivo V23 Pro एक प्रीमियम लुकिंग सॉलिड स्मार्टफोन है. स्मार्टफोन का लुक एंड फील हमें पसंद आया है. पिछले कुछ समय से वीवो अपने प्रीमियम स्मार्टफोन को वाकई खूबसूरत बना रहा है. परफॉर्मेंस की बात तो करेंगे ही, लेकिन फोन को डिजाइन और बिल्ड क्वॉलिटी में हमारी तरफ से फुल मार्क्स से थोड़ा कम. 

Vivo V23 Pro में 6.56 इंच की AMOLED डिस्प्ले दी गई है और इसके साथ 90Hz का सपोर्ट है. कंपनी को इस प्राइस प्वॉइंट पर 120Hz रिफ्रेश रेट देना चाहिए था. स्क्रीन में नॉच भी है जिसे और छोटा किया जा सकता था या इसकी जगह पर पंचहोल का इस्तेमाल किया जा सकता था. 

डिस्प्ले हालांकि शानदार है और डीप ब्लैक भी आपको पूरा मिलता है. कर्व्ड होने की वजह से वीडियो देखने का एक्स्पीरिएंस ज्यादा बेहतर हो जाता है. 

गेमिंग हो या वीडियो देखना, इस फोन की डिस्प्ले से आपको कोई परेशानी नहीं होगी. डिस्प्ले ब्राइट और कलरफुल होने के साथ इसका व्यूइंग एंगल भी अच्छा है. 

Vivo V23 Pro में ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप दिया गया है. प्राइमरी लेंस 108 मेगापिक्सल का है, जबकि दूसरा 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रा वाइड लेंस है, इसके अलावा 2 मेगापिक्सल का मैक्रो लेंस दिया गया है. सेल्फी के लिए इस फोन में दो कैमरे दिए गए हैं. 

फ्रंट में एक 50 मेगापिक्सल का कैमरा है, जबकि दूसरा लेंस 8 मेगापिक्सल का है और ये वाइड एंगल लेंस है. सेल्फी लवर्स को टारगेट किया गया है. 

रियर कैमरे की बात करें तो आपको यहां भी कई AI बेस्ड ब्यूटिफिकेशन फीचर्स मिलते हैं. अलग अलग मोड्स मिलते हैं. कैमरा ऐप पुराना ही है. प्राइमरी लेंस प्रभावित करता है और इससे अच्छी डिटेल्स वाली फोटोज क्लिक कर सकते हैं. 

 Vivo V23 Pro से आउटडोर में क्लिक की गई फोटोज शनदार आती हैं. क्वॉलिटी के साथ कोई समझौता नहीं है और कलर्स भी अच्छे मिलते हैं. हालांकि कम रौशनी में थोड़ा इसका कैमरा स्ट्रगल करता है, लेकिन बावजूद इसके आप कम रौशनी में भी डिसेंट फोटॉग्रफी कर सकते हैं. 

नाइट मोड भी दिया गया है जो अच्छा काम करता है. अल्ट्रा वाइड लेंस भी ठीक ठाक ही है, लेकिन यहां आपको अच्छी क्वॉलिटी नहीं मिलती है. मैक्रो कैमरा इन दिनों मार्केटिंग गिमिक बन गया है. इसका यूज कम होता है, लेकिन कंपनियां कैमरा बढ़ाने के लिए इसे लगा देती हैं. 

मैक्रो लेंस की जगह पर अगर इस फोन में टेलीफोटो लेंस दिया गया होता तो इस सेग्मेंट में ये बेस्ट कैमरा फोन भी हो सकता था. 

सेल्फी की बात करें तो ये एक तरह से सेल्फी एक्सपर्ट स्मार्टफोन है. दो लेंस का पूरा फायदा मिलता है और आप वाइड एंगल सेल्फी भी क्लिक कर सकते हैं. फ्रंट में भी फ्लैश है 

सेल्फी कैमरा शानदार है और अगर आप सेल्फी ज्यादा ही पसंद करते हैं तो ये फोन आपके लिए ही है. हालांकि ज्यादातर लोग स्मार्टफोन्स सिर्फ अच्छी सेल्फी क्लिक करने के लिए नहीं खरीदते हैं. 

Vivo V23 Pro में MediaTek Dimensity 1200 चिपसेट दिया गया है. इसे आप 12GB रैम और 256GB स्टोरेज वेरिएंट के साथ खरीद सकते हैं. 

टॉप वेरिएंट बढ़िया परफॉर्मेंस देता है. ये प्रोसेसर अच्छा और हाई एंड है. डेली यूज में फोन में आप किसी तरह का लैग महसूस नहीं करेंगे. 90Hz रिफ्रेश रेट की वजह से ये और स्मूद फील होता है, लेकिन 120Hz रिफ्रेश रेट होता तो ये और बेहतर होता. 

हेवी टास्क भी अच्छे से हैंडल करता है ये फोन. हालांकि गेमिंग के दौरान फोन गर्म होता है. फोन काफी स्लिम है इस वजह से इसकी बैटरी पतली है और मुमकिन है इस वजह से फोन गेमिंग के दौरान गर्म होता है. 

वीवो के सॉफ्टवेयर में कई प्री लोडेड ऐप्स मिलेंगे. हालांकि कंपनी अपने OS को स्टॉक एंड्रॉयड के तर्ज पर करने की कोशिश करती है. कुछ समानताएं देखने को मिलेंगी. 

Vivo V23 Pro में 4,300mAh की बैटरी दी गई है. इसके साथ फास्ट चार्ज सपोर्ट भी मिलता है. इस फोन में दिया गया प्रोसेसर पावर इफिशिएंट है. इस वजह से फोन की बैटरी बैकअप अच्छी है. 

स्लिम स्मार्टफोन की लिमिटेशन ये होती है कि इनमें आपको ज्यादा पावर की बैटरी नहीं मिलती है और ना ही ज्यादा बैकअप मिलता है. इसके साथ भी ऐसा ही है. लेकिन ऐवरेज फोन यूज करते हैं तो दिन भर आप इसे चला सकते हैं.

कैसे बदलता है रंग?

Vivo ने दरअसल AG Fluorite ग्लास बैक पैनल का इस्तेमाल किया है. ये कलर चेंजिंग पैनल है और जब भी इसे सनलाइट मिलती है तो गोल्डेन से ब्लू जैसा हो जाता है. सिर्फ सनलाइट ही नहीं, बल्कि UV लाइट से भी कलर बदलता है. 

कंपनी ने फोन के साथ रिव्यू के लिए कुछ कटाउट और UV लाइट भेजे थे. इसे टेस्ट करना दिलचस्प रहा है और कंपनी के दावे के मुताबिक ये काम भी करता है. कटाउट को फोन के पीछे रख कर UB लाइट थ्रो करनी है. थोड़ी देर में ऐसा लगता है कि फोन के पीछे डिजाइन तैयार हो गया. 

हालांकि जो डिजाइन बनता है वो सिर्फ कुछ मिनट तक के लिए ही दिखता है फिर गायब हो जाता है. ऐसा इसलिए, क्योंकि इसके लिए कोई मैकेनिकल फीचर नहीं है और ये पूरा कमाल इस ग्लास बैक का है जिसे कंपनी ने कलर बदलने के लिए लगया है. 

Vivo V23 Pro – बॉटम लाइन 

Vivo V23  Pro एक स्टाइलिश स्मार्टफोन है. देखने में ये प्रीमियम और स्लीक लगता है. फोन हल्का है और इसमें दी गई कर्व्ड डिस्प्ले इसमें चार चांद लगाते हैं. हालांकि कुछ लोगों को कर्व्ड डिस्प्ले पंसद नहीं आती है, लेकिन ये देखने में अच्छा है. 
रियर और फ्रंट कैमरे अच्छे हैं. परफॉर्मेंस फ्रंट पर भी ये फोन ठीक ठाक ही है. हालांकि इसमें नॉच है, वायरलेस चार्जिंग नहीं है, वॉटर प्रूफ नहीं है और फोन थोड़ा नाजुक भी लगता है. 

अगर आप ऐसा स्मार्टफोन ढूंढ रहे हैं जो देखने में शानदार हो, स्लिम हो और अच्छी सेल्फी क्लिक करता है. साथ ही परफॉर्मेंस फ्रंट पर भी निराश न करे, तो आप इसे खरीद सकते हैं. 

आज तक टेक रेटिंग – 8/10 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें