scorecardresearch
 

सुशील ने नेशनल रेसलिंग में 1 मिनट 33 सेकंड की कुश्ती लड़कर झटका गोल्ड

शुरुआती दो दौर में अपने प्रतिद्वंद्वियों को मात दी, लेकिन क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल में सुशील को कोई चुनौती नहीं मिली.

सुशील कुमार सुशील कुमार

दिग्गज पहलवान सुशील कुमार ने राष्ट्रीय कुश्ती चैपियनशिप के पुरुषों के 74 किलोग्राम फ्रीस्टाइल प्रतियोगिता में क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबले खेले बिना ही स्वर्ण पदक अपने नाम किया. महिला कुश्ती में देश की इकलौती ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक और दंगल गर्ल गीता फोगाट भी प्रतियोगिता के दूसरे दिन अपनी श्रेणियों में विजेता बनीं.

ओलंपिक में दो पदक विजेता और तीन साल के बाद वापसी करने वाले सुशील ने अपने चिर परिचित अंदाज में शुरुआती दो दौर में अपने प्रतिद्वंद्वियों को मात दी, लेकिन उन्हें क्वार्टर फाइनल, सेमीफाइनल और फाइनल में कोई चुनौती नहीं मिली. तीनों मुकाबलों में उन्हें वॉकओवर मिला. इस प्रतियोगिता में उन्हें महज एक मिनट 33 सेकंड की कुश्ती लड़नी पड़ी.

फाइनल में सुशील का मुकाबला प्रवीण राणा से था, लेकिन चोटिल होने के कारण मुकाबले में नहीं उतरे. इससे पहले क्वार्टर फाइनल में उन्हें प्रवीण ने वॉकओवर दिया, तो वही सेमीफाइनल में सचिन दहिया उनके खिलाफ मैदान में नहीं उतरे. सुशील ने पहले दौर में मिजोरम के लालमलस्वामा को महज 48 सेकंड और दूसरे दौर में मुकुल मिश्रा को महज 45 सेकंड में चित कर दिया.

इस बीच गीता ने 59 किलो वर्ग के फाइनल में रविता को पटखनी दी. साक्षी ने 62 किलो वर्ग में अपनी प्रतिद्वंद्वी हरियाणा की पूजा को एकतरफ मुकाबले में 10-0 से मात दी. गीता के पति पवन कुमार भी 86 किलो वर्ग में शीर्ष पर रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें