scorecardresearch
 

पाकिस्‍तानी टीम को भी खलेगी सचिन की कमी

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने से पाकिस्तानी खिलाड़ी भी सकते में हैं. भारत के दौरे पर आए पाकिस्तान टीम के खिलाड़ियों को जब सचिन के संन्यास की खबर मिली तो पहले उन्‍हें यकीन ही नहीं हुआ और फिर कहा, ‘मैदान में उनकी कमी बहुत खलेगी.’

सचिन तेंदुलकर सचिन तेंदुलकर

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने से पाकिस्तानी खिलाड़ी भी सकते में हैं. भारत के दौरे पर आए पाकिस्तान टीम के खिलाड़ियों को जब सचिन के संन्यास की खबर मिली तो पहले उन्‍हें यकीन ही नहीं हुआ और फिर उन्‍होंने कहा, ‘मैदान में उनकी कमी बहुत खलेगी.’

पाकिस्तान के ट्वेंटी-20 और वनडे टीम के कप्तान मोहम्मद हफीज ने एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में तीन घंटे के अभ्यास सत्र के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘हमें सचिन की कमी खलेगी.’

उन्होंने कहा, ‘एक राष्ट्र और एक खिलाड़ी के तौर पर हमें निराशा है कि इस सीरीज से पहले सचिन वनडे क्रिकेट से संन्यास ले रहे हैं क्योंकि उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ ही अपने वनडे कॅरियर की शुरुआत की थी. उनकी महारत को हम ही नहीं पूरा विश्व मैदान पर याद करेगा. वह इस खेल के महान खिलाड़ी हैं.’

तेज गेंदबाज सोहैल तनवीर ने कहा, ‘मैंने उनके खिलाफ गेंदबाजी का बहुत लुत्फ उठाया है. उनके खिलाफ गेंदबाजी करना इतना मुश्किल रहता था कि थोड़ी सी गलती हुई नहीं कि वे अच्छे से अच्छे गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचा देते. भारत के लिए उन्होंने जो उपलब्धियां हासिल की हैं उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता. वह क्रिकेट बिरादरी में सबसे अधिक सम्मान पाने का हक रखते हैं.’

तेज गेंदबाज उमर गुल ने कहा, ‘सचिन के खिलाफ गेंदबाजी करना हमेशा चुनौतियों से भरा रहा है और उनका विकेट हासिल करना अपने आप में सुखद रहा है क्योंकि वह गेंद को जिस तरह पढ़ते हैं उतना कोई नहीं पढ़ सकता.’

गुल ने कहा, ‘भारत को सचिन पर गर्व महसूस करना चाहिए. सिर्फ उनकी उपस्थिति ने दो दशकों तक भरतीय क्रिकेट खिलाड़ियों की मैदान पर हौसला अफजाई की है. उन्होंने विराट कोहली, युवराज सिंह और सुरेश रैना जैसे खिलाड़ियों को इस मुकाम पर पहुंचने में प्रेरित किया है और आने वाले दिनों में और भी खिलाड़ी उनसे प्रेरणा लेते रहेंगे.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें