scorecardresearch
 

'भज्‍जी थप्‍पड़कांड' पर श्रीसंत का खुलासा

क्रिकेटर श्रीसंत बहुत नाराज हैं क्योंकि एक बार फिर भज्जी थप्पड़ कांड (स्लैपगेट) का जिक्र किया जा रहा है. श्रीसंत ने गंभीर-कोहली के बीच हुए तकरार की तुलना भज्जी स्लैपगेट से किए जाने की जोरदार आलोचना की है.

हर‍भजन सिंह और श्रीसंत हर‍भजन सिंह और श्रीसंत

क्रिकेटर श्रीसंत बहुत नाराज हैं क्योंकि एक बार फिर भज्जी थप्पड़ कांड (स्लैपगेट) का जिक्र किया जा रहा है. श्रीसंत ने गंभीर-कोहली के बीच हुए तकरार की तुलना भज्जी स्लैपगेट से किए जाने की जोरदार आलोचना की है.

श्रीसंत ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘गुरुवार रात टी-20 मैच के दौरान गौतम गंभीर और विराट कोहली के बीच हुए तकरार की खबर की तुलना भज्जी स्लैपगेट के की गई. बहुत हो चुका. अब मैं चुप नहीं रहूंगा.’


उन्होंने आगे लिखा, ‘भज्जी ने मुझे कभी थप्पड़ नहीं मारा. मैंने उस मैच को ठीक उसी तरह से खेला जैसा मैं हमेशा से खेलता आ रहा था. लेकिन हम हार गए और मुंबई का कप्तान होने की वजह से वो बहुत गुस्से में थे.’

श्रीसंत ने आगे लिखा, ‘भज्जी को अपने गुस्सा पर कोई कंट्रोल नहीं है... और एक बात मैं साफ कर देना चाहता हूं कि बोर्ड के पास इस वीडियो का फुटेज है. साथ ही नानावती सर भी इस पूरी सच्चाई को जानते हैं.’

श्रीसंत खुद को हमेशा दोषी दिए जाने से खासे खफा हैं और उन्होंने आगे लिखा, ‘मैं बहुत दुखी हूं क्योंकि सभी सिर्फ मुझे दोष देते हैं और अब भी बार-बार इस प्रकरण की बातें होती है.’


हालांकि श्रीसंत ने यह भी लिखा, ‘मैच के बाद जब वो भज्जी से हाथ मिलाने गए तो उन्होंने (भज्जी ने) पहले से उन्हें (श्रीसंत को) कोहनी से मारने का प्लान किया हुआ था. लेकिन अब मैं यह नहीं चाहता हूं कि हरभजन उस बात को लेकर आज दुखी हों. मैं दुनिया को उस बात को बताना चाहता हूं कि उस दिन क्या हुआ था. उस प्रकरण में मेरा कोई दोष नहीं है. मैं मीडिया से आग्रह करता हूं कि वो उस प्रकरण का वीडियो देखे.’

श्रीसंत ने आगे ट्विट किया, ‘सभी मुझे भावुक होने का दोषी ठहराते हैं. कौन भावुक नहीं होता. लेकिन हां आज मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि उन्होंने कभी मुझे थप्पड़ नहीं मारा. यह मैं साफ कर देना चाहता हूं कि इस प्रकरण में मेरा कोई दोष नहीं था. मुझे यह बिल्कुल अच्छा नहीं लगता कि जब भी क्रिकेट में कोई अप्रिय घटना की जिक्र होती है तो उस प्रकरण को याद किया जाता है.’

उन्होंने ट्विट किया, ‘यह ट्विट उन लोगों को सदबुद्धि दे जो इस स्लैपगेट का बार-बार जिक्र करते हैं. मैं इतना जरूर कहना चाहूंगा कि जो मेरे रास्‍ते पर नहीं चले हैं उन्हें मुझे आंकने की जरूरत नहीं है.’

उन्होंने मीडिया पर भड़ास निकालते हुए इसे स्लैपगेट बताने पर भी अपनी भड़ास निकाली है और लिखा, ‘जिसे देखो इसे स्लैपगेट... स्लैपगेट लिख रहा है.’ उन्होंने इसके बाद ट्विटर को अपनी बात रखने का मौका देने के लिए धन्यवाद दिया और अपने सभी समर्थकों और चाहने वालों को भी धन्यवाद दिया.

अंत में उन्होंने लिखा, ‘अब बस करो. हरसमय इस प्रकरण का जिक्र बंद करो.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें