scorecardresearch
 

IPL मैच फिक्सिंग: सट्टेबाजी के मास्‍टरमाइंड ने लिया महेंद्र सिंह धोनी का नाम

क्रिकेट में मैच फिक्सिंग से जुड़ी एक बड़ी खबर आ रही है. इस बार उंगली भारतीय टीम के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी पर उठी है. आईपीएल में सट्टेबाजी और मैच फिक्सिंग की जांच करने वाली जस्टिस मुद्गल कमेटी की रिपोर्ट में छह भारतीय खिलाडियों के शामिल होने की बात सामने आई है.

महेंद्र सिंह धोनी महेंद्र सिंह धोनी

क्रिकेट में मैच फिक्सिंग से जुड़ी एक बड़ी खबर आ रही है. इस बार उंगली भारतीय टीम के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी पर उठी है. एक आईपीएस अफसर की जांच रिपोर्ट में कुछ सट्टेबाजों के हवाले से कहा गया है कि फिक्सिंग मामले की जानकारी धोनी को भी थी. धोनी आईपीएल की चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के भी कप्‍तान हैं. सुपरकिंग्‍स के मालिक एन श्रीनिवासन के दामाद गुरुनाथ मयप्‍पन को सट्टेबाजी का दोषी माना गया है.

आईपीएल में सट्टेबाजी और मैच फिक्सिंग की जांच करने वाली जस्टिस मुद्गल कमेटी ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में यह रिपोर्ट सौंपी थी. रिपोर्ट में छह भारतीय खिलाडियों के शामिल होने की बात भी है लेकिन इसमें खिलाडियों के नाम नहीं लिए गए हैं. हालांकि, मुद्गल कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद आईपीएल के पूर्व कमिशनर ललित मोदी ने भी धोनी पर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा कि आईपीएल में चेन्नई की कप्तानी करने वाले धोनी ने फिक्सिंग पर पर्दा डालने का काम किया. मोदी ने चेन्नई टीम की सभी जीतों को रद्द करने और इनाम छीन लेने की मांग की है.

आईपीएस अफसर जी. संपत कुमार की तरफ से जस्टिस मुकुल मुद्गल को सौंपी गई रिपोर्ट की कॉपी 'आज तक' के पास मौजूद है. संपत कुमार इस वक्‍त तमिलनाडु के त्रिची में एसपी (रेलवे) के पद पर तैनात हैं. पिछले साल सीबी सीआईडी में एसपी के पद पर तैनाती के दौरान संपत कुमार फर्जी पासपोर्ट से जुड़े एक मामले की जांच कर रहे थे. जांच के दौरान उन्‍होंने कुछ सट्टेबाजों से पूछताछ की. इनमें से एक किट्टी उत्‍तम जैन ने बताया कि वो मयप्‍पन के अलावा धोनी, सुरेश रैना और टीम के अन्‍य खिलाडियों और राजस्‍थान रॉयल्‍स के कुछ खिलाडियों के मैच फिक्सिंग में शामिल होने के बारे में जानता है. लेकिन विक्रम अग्रवाल नाम के एक शख्‍स ने उत्‍तम ने इस बारे में अपना मुंह नहीं खोलने को कहा था. उत्‍तम जैन चेन्‍नई का रहने वाला है जो सट्टेबाजी का मास्‍टरमाइंड है.

17 जनवरी 2014 को जस्टिस मुकुल मुद्गल को सौंपी गई संपत कुमार की रिपोर्ट के मुताबिक विक्रम अग्रवाल ने उत्‍तम जैन को कहा था कि राजस्‍थान रॉयल्‍स और चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के बीच मैच फिक्सिंग के लिए बातचीत हुई है और इसे अंतिम रूप देने के लिए मयप्‍पन को चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के कप्‍तान धोनी और कुछ अन्‍य को इसकी खबर देनी है. बाद में उत्‍तम को पता चला कि ये 12 मई 2013 को राजस्‍थान और चेन्‍नई के बीच होने वाले मैच को फि‍क्‍स करने की योजना बना रहे थे.

उत्‍तम जैन के मुताबिक विक्रम अग्रवाल और उसकी पत्‍नी वंदना अग्रवाल की मयप्‍पन और उसकी पत्‍नी रूपा से नजदीकियां हैं. मयप्‍पन के जरिये चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के खिलाडियों खासकर धोनी और रैना की भी विक्रम अग्रवाल से जान-पहचान थी. विक्रम अग्रवाल या गुरुनाथ मयप्‍पन चेन्‍नई सुपरकिंग्‍स के लिए डिनर पार्टियां आयोजित करते थे, जिनमें खास मेहमान शामिल होते थे.

रिपोर्ट के मुताबिक 27 अप्रैल 2013 को डिनर पार्टी के बाद एक बार फिर बातचीत शुरू हुई और विक्रम अग्रवाल ने उत्‍तम को खबर दी कि कुछ डील हुई है. बात में मयप्‍पन ने सूचना दी कि चेन्‍नई के कप्‍तान धोनी तय योजना के मुताबिक खेलने को तैयार हैं और उनकी टीम 140 का स्‍कोर खड़ा करेगी. और विक्रम अग्रवाल ने यह सूचना जयपुर में संजय नाम के एक शख्‍स को फोन के जरिये दी जब उत्‍तम विक्रम के पास ही खड़ा था.

तमिलनाडु पुलिस की सीबीसीआईडी ने 10 जून 2013 को होटल मालिक विक्रम अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया था. विक्रम की गिरफ्तारी के बाद सीबी सीआईडी की जांच रोक दी गई. हालांकि 13 जून 2013 को चेन्‍नई की एक अदालत ने जमानत दे दी थी. उत्‍तम जैन भी सात जून 2013 को सशर्त जमानत पर रिहा कर दिया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें