scorecardresearch
 

पदक मुकाबले के लिए नहीं पहुंचे भारतीय तीरंदाज

भारतीय पुरुषों की कंपाउंड तीरंदाजी टीम विश्व विश्वविद्यालय खेलों में कांस्य पदक मुकाबले के लिये नहीं पहुंची. इस मामले में भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) को जांच के आदेश देने पड़े.

Symbolic Image Symbolic Image

भारतीय पुरुषों की कंपाउंड तीरंदाजी टीम विश्व विश्वविद्यालय खेलों में कांस्य पदक मुकाबले के लिये नहीं पहुंची. इस मामले में भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) को जांच के आदेश देने पड़े.

वर्ल्ड तीरंदाजी संघ के मैनेजर क्रिस वेल्स के अनुसार गुरविंदर सिंह, कंवलप्रीत सिंह और अमन की कंपाउंड टीम दक्षिण कोरिया के ग्वांग्जू में स्थानीय समयानुसार दस बजे इटली के खिलाफ मैच के लिए नहीं पहुंची.

वर्ल्ड तीरंदाजी के नियमों के अनुसार यदि टीम फाइनल मैच के दौरान उपस्थित नहीं रहती तो फिर यह मान लिया जाता है कि टीम ने मैच गंवा दिया है. इस घटना पर हैरानी व्यक्त करते हुए एएआई महासचिव अनिल कामिनेनी ने कहा कि वह टीम के साथ आयोजकों को भी इस मामले में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराने के लिए लिख रहे हैं. कामिनेनी ने कहा, 'यह एएआई से जुड़ा मसला नहीं है क्योंकि टीम भारतीय विश्वविद्यालय संघ ने भेजी है लेकिन कई भारतीय तीरंदाज टीम का हिस्सा हैं इसलिए हम जांच कर रहे हैं.'

हालांकि भारतीय कोच जीवनजोत सिंह ने कहा कि उपकरणों की खराबी के कारण टीम मुकाबले के लिए नहीं पहुंची. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार जीवनजोत ने कहा, 'गुरविंदर के धनुष की रस्सी टूट गयी थी और कोई तीरंदाज भी अतिरिक्त धनुष लेकर नहीं गया था. इसलिए हमने टीम होटल में भेजकर लड़कियों का घनुष लेकर आने को कहा. हम रिपोर्टिंग समय से सिर्फ दो मिनट बाद प्रतियोगिता स्थल पर पहुंचे थे लेकिन अधिकारियों ने हमारे आग्रह को अनदेखा कर दिया.'

- इनपुट भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें