scorecardresearch
 

धर्मशाला एकदिवसीय: वेस्टइंडीज के खिलाफ धोनी एंड कंपनी जीत की लय बनाए रखना चाहेगी...

ऐसा माना जा रहा था कि टीम इंडिया घरेलू सीरीज में आसानी से कैरेबियाई टीम को मात दे लेगी, लेकिन पहले ही वनडे में वेस्टइंडीज टीम ने मेजबान टीम को जोरदार झटका दिया. हालांकि दिल्ली वनडे में टीम इंडिया ने वापसी करते हुए जीत दर्ज की, लेकिन वहां भी कैरेबियाई टीम का प्रदर्शन अच्छा रहा था.

X
टीम इंडिया
टीम इंडिया

ऐसा माना जा रहा था कि टीम इंडिया घरेलू सीरीज में आसानी से कैरेबियाई टीम को मात दे लेगी, लेकिन पहले ही वनडे में वेस्टइंडीज टीम ने मेजबान टीम को जोरदार झटका दिया. हालांकि दिल्ली वनडे में टीम इंडिया ने वापसी करते हुए जीत दर्ज की, लेकिन वहां भी कैरेबियाई टीम का प्रदर्शन अच्छा रहा था.

विशाखापट्टनम में तीसरा वनडे होना था, जो हुदहुद साइक्लोन की भेंट चढ़ गया. धोनी एंड कंपनी को अगर घरेलू मैदान पर सीरीज जीतने का रिकॉर्ड अच्छा बनाए रखना है तो उसे धर्मशाला में शुक्रवार को खेले जाने वाले वनडे में हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी. हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (एचपीसीए) मैदान पर होने वाले इस मुकाबले के बाद दोनों टीमें कोलकाता के ईडन गार्डन्स पर पांचवां और अंतिम मुकाबला खेलेंगी.

तेज गेंदबाजों पर फिर होगी नजर...
कोटला में भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने चार विकेट लेकर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी. ऐसे में जबकि एचपीसीए की पिच तेज गेंदबाजों के अनुकूल मानी जाती है, एक बार फिर से शमी, उमेश यादव और भुवनेश्वर कुमार जैसे तेज गेंदबाजों से भारत को उम्मीद होगी.

विराट की फॉर्म में वापसी से टीम इंडिया ने ली राहत की सांस
भारत ने अपना अंतिम मैच इस मैदान पर 2013 में खेला था, जब उसे इंग्लैंड के हाथों विकेट से हार मिली थी. भारत ने एक समय 79 के कुल योग पर अपने पांच विकेट गंवा दिए थे और आखिरकार उसे मैच गंवाना पड़ा था. भारत के लिए अच्छी खबर यह है कि उसके टॉप बल्लेबाज विराट कोहली फॉर्म में लौट चुके हैं. कोहली ने कोटला में 62 रनों की पारी खेली थी और इतने ही रन बनाने वाले सुरेश रैना के साथ शतकीय साझेदारी निभाई थी.

कुलदीप और अक्षर के लिए प्लेइंग 11 में शामिल होना मुश्किल
चौथे और पांचवें वनडे के लिए स्पिन गेंदबाज अक्षर पटेल को टीम में शामिल किया गया है. शुरुआत के तीन मैचों के लिए उत्तर प्रदेश के चाइनामैन स्पिनर कुलदीप यादव को भी टीम में जगह मिली थी, लेकिन वह शुरुआत के दो मुकाबलो में प्लेइंग 11 में जगह नहीं बना सके थे. भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी विजयी टीम के साथ ही धर्मशाला में आगे निकलने के अपने अभियान को जारी रखना चाहेंगे. ऐसे में अक्षर और कुलदीप को प्लेइंग 11 में मौके मिलने के आसार काफी कम नजर आते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें