scorecardresearch
 

नॉटिंघम टेस्ट: पहले दिन का खेल समाप्त, भारत 259/4

मुरली विजय के शानदार शतक और कैप्‍टन कूल महेंद्र सिंह धोनी की अर्धशतकीय पारी की बदौलत टीम इंडिया ने नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के पहले दिन का खेल समाप्त होने तक चार विकेट पर 259 रन बना लिए हैं. पहले दिन का खेल समाप्त होने पर मुरली 122 रन बनाकर और धोनी 50 रन बनाकर नाबाद लौटे.

धोनी और एलिस्टर कुक धोनी और एलिस्टर कुक

मुरली विजय के शानदार शतक और कैप्‍टन कूल महेंद्र सिंह धोनी की अर्धशतकीय पारी की बदौलत टीम इंडिया ने नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के पहले दिन का खेल समाप्त होने तक चार विकेट पर 259 रन बना लिए हैं. पहले दिन का खेल समाप्त होने पर मुरली 122 रन बनाकर और धोनी 50 रन बनाकर नाबाद लौटे.

 

मैच के पहले ही दिन मुरली विजय ने शानदार शतक जड़ दिया. भारत से बाहर यह उनका पहला शतक है. एक तरफ विकेट गिरते रहे और दूसरे छोर पर मुरली अपने ही अंदाज में बैटिंग करते रहे, जिसका फल उन्‍हें और टीम इंडिया को मिला.

पहले सत्र की समाप्ति तक एक विकेट पर 106 बनाकर ठोस शुरुआत करने वाली भारतीय टीम ने लंच ब्रेक के ठीक बाद चेतेश्‍वर पुजारा (38) और विराट कोहली (1) के विकेट जल्दी-जल्दी गंवा दिए. इससे पहले शिखर धवन (12) का विकेट पहले सत्र में ही गिर चुका था.

पुजारा ने इस बीच 69 गेंदों का सामना कर सात चौके लगाए. कोहली से बहुत उम्मीदें थीं, लेकिन स्टुअर्ट ब्रॉड ने उन्हें इयान बेल के हाथों सस्ते में कैच आउट करवा दिया. मुरली ने अजिंक्य रहाणे (32) के साथ चौथे विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी कर टी ब्रेक तक भारत को और कोई नुकसान नहीं होने दिया.

टी ब्रेक के बाद पहला ओवर लेकर आए लिएम प्लंकेट ने रहाणे का विकेट चटका दिया. रहाणे ने 81 गेंदों की अपनी संयमभरी पारी में चार चौके लगाए. तीसरे सबसे लंबे सत्र की शुरुआत में ही चौथा विकेट गिरने से भारत के सामने मुसीबत खड़ी थी. शतक के करीब पहुंच चुके मुरली का साथ देने अब कप्तान धोनी उतरे. धोनी ने इंग्लिश गेंदबाजों की जमकर परीक्षा ली और मुरली के साथ पांचवें विकेट के लिए 81 रनों की नाबाद साझेदारी कर अंत तक क्रीज पर डटे रहे.

इस बीच मुरली ने अपना शतक और धोनी ने अपना अर्धशतक पूरा किया. सलामी बल्लेबाज मुरली ने 294 गेंदों की अपनी संयमभरी पारी में अब तक 20 चौके और एक छक्‍का लगाया है, जबकि धोनी ने 64 गेंदों का सामना कर पांच बार गेंद को सीमारेखा के पार भेजा.

इंग्लैंड की तरफ से जेम्स एंडरसन ने दो और स्टुअर्ट ब्रॉड व लिएम प्लंकेट ने एक-एक विकेट हासिल कर लिए हैं.

इससे पहले पांच टेस्टों मैचों की सीरीज के पहले मैच में कप्तान धोनी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. नॉटिंघम में खेले जा रहे इस टेस्‍ट मैच में भारतीय टीम की ओर से स्टुअर्ट बिन्नी अपने करियर का पहला टेस्ट मैच खेल रहे हैं.

गौरतलब है कि इस दौरे पर खेले अभ्यास मैचों में बिन्नी ने गेंद और बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया था. हालांकि धोनी ने रोहित शर्मा को बाहर बिठाया है. मैच से पहले धोनी ने बिन्नी को टेस्ट कैप सौंपी. बिन्नी को एकादश में जगह देने का मतलब है कि बल्लेबाजी में 6ठें नंबर पर धोनी पर ज्यादा जिम्मेदारी होगी.

कई नए चेहरों से सुसज्जित भारतीय क्रिकेट टीम की निगाहें विदेशी धरती पर तीन वर्षों से चले आ रहे सूखे को समाप्त करने पर हैं. 2011 में विश्व कप जीतने के तुरंत बाद इंग्लैंड दौरे पर आई भारतीय टीम को 0-4 से शर्मनाक हार झेलनी पड़ी थी.

देखना होगा कि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में युवा भारतीय टीम इंग्लैंड में मिली पिछली हार से उबर पाती है या नहीं. भारतीय टीम में पिछली बार की अपेक्षा इस बार कई नए चेहरे हैं, जो इंग्लैंड में पहली बार खेलेंगे. धोनी के अलावा पिछले इंग्लैंड दौरे पर आने वाले खिलाड़ियों में सिर्फ गौतम गम्भीर और इशांत शर्मा ही मौजूदा टीम में शामिल हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें