scorecardresearch
 

CWG 2014: दीपिका, जोशना ने स्क्वाश का स्वर्ण जीतकर रचा इतिहास

दीपिका पल्लिकल और जोशना चिनप्पा ने स्क्वाश में शनिवार को स्वर्ण पदक जीतकर नया इतिहास रचा, लेकिन मुक्केबाज सरिता देवी और देवेंद्रो सिंह को 20वें राष्ट्रमंडल खेलों के दसवें दिन आज यहां रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा.

दीपिका पल्लिकल और जोशना चिनप्पा दीपिका पल्लिकल और जोशना चिनप्पा

दीपिका पल्लिकल और जोशना चिनप्पा ने स्क्वाश में शनिवार को स्वर्ण पदक जीतकर नया इतिहास रचा, लेकिन मुक्केबाज सरिता देवी और देवेंद्रो सिंह को 20वें राष्ट्रमंडल खेलों के दसवें दिन आज यहां रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा.

दीपिका और जोशना ने स्क्वाश के महिला युगल के फाइनल में इंग्लैंड की जैनी डंनकाफ और लौरा मासैरो को 11-6, 11-6 से हराकर इतिहास रचा. यह राष्ट्रमंडल खेलों में भारत का स्क्वाश में पहला पदक है. मुक्केबाजी में सरिता महिलाओं के लाइटवेट (57 से 60 किग्रा) भार वर्ग में आस्ट्रेलिया की शैली वाट्स से संघषर्पूर्ण मुकाबले में हारी, जबकि उनके छोटे भाई देवेंद्रो को लाइट फ्लाइवेट (46 से 49 किग्रा) में उत्तरी आयरलैंड के पैडी बर्न्‍स से हार का सामना करना पड़ा.

भारत के अब कुल पदकों की संख्या 55 हो गई है, जिसमें 14 स्वर्ण, 25 रजत और 156 कांस्य पदक शामिल हैं. भारत ने अपना पांचवां स्थान बरकरार रखा है. इंग्लैंड 145 पदक लेकर शीर्ष पर है. उसके बाद आस्ट्रेलिया (125), कनाडा (75) और स्काटलैंड (49) का नंबर आता है.

भारत की सकीना खातून ने पावरलिफ्टिंग स्पर्धा के महिला लाइटवेट (61 किग्रा तक) वर्ग में कांस्य पदक जीता. बेंगलूर में जन्मीं यह पावरलिफ्टर नाईजीरिया की इस्थर ओयेमा (स्वर्ण पदक) और इंग्लैंड की नटाली ब्लेक (रजत पदक) के बाद तीसरे स्थान पर रहीं. भारतीय पावरलिफ्टर ने कुल 88.2 किग्रा का वजन उठाया, जबकि इस्थर ने 136 किग्रा और नटाली ने 100.2 किग्रा का भार उठाया.

बैडमिंटन में भी भारत ऐतिहासिक स्वर्ण पदक की दौड़ में बना हुआ. पी कश्यप अब इससे केवल एक जीत दूर है, जबकि ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा अपने खिताब के बचाव के लिए उतरेंगी. युवा पी वी सिंधु हालांकि सेमीफाइनल में हार गई. ज्वाला और अश्विनी की दिल्ली खेलों की स्वर्ण पदकधारी जोड़ी ने महिला युगल सेमीफाइनल में लाई पेई जिंग और लू यिन लिम पर 21-7, 21-12 से आसान जीत दर्ज की.

अब फाइनल में इस जोड़ी का सामना विवियान काह मुन हू और खे वेई वून की दुनिया की 18वें नंबर की मलेशियाई जोड़ी से होगी. हालांकि अपने पहले राष्ट्रमंडल खेलों में भाग ले रही सिंधू महिला एकल में आगे नहीं बढ़ सकीं और वह अंतिम चार के मुकाबले में कनाडा की मिशेल ली से 20-22, 20-22 से हार गईं.

आरएमवी गुरूसाईदत्त भी सेमीफाइनल में सिंगापुर के डेरेक वोंग से 21-16, 19-21, 15-21 से हार गए. इस बीच भारतीय हाकी टीम ने दो गोल से पिछड़ने के बाद शानदार वापसी करते हुए न्यूजीलैंड को 3-2 से हराकर फाइनल में प्रवेश कर लिया जहां उसका सामना 2010 की तरह आस्ट्रेलिया से होगा. भारत 18वें मिनट तक 0-2 से पीछे चल रहा था. इसके बाद कप्तान रूपिंदर पाल सिंह, रमनदीप सिंह और आकाशदीप सिंह ने गोल करके भारत का कम से कम रजत पदक पक्का कर दिया.

न्यूजीलैंड ने दूसरे ही मिनट में बढत बना ली जब साइमन चाइल्ड ने बेहतरीन क्रास पर गेंद को गोल के भीतर डाला. उसके लिए दूसरा गोल 18वें मिनट में निक हेग ने किया. टेबल टेनिस में भारत के शीर्ष खिलाड़ी अचंता शरत कमल पुरुष एकल के एकतरफा सेमीफाइनल में सिंगापुर के सिंगापुर के जियान झान से 0-4 से हार गए. उन्हें इस मुकाबले में 6-11, 6-11, 6-11, 8-11 से पराजय का मुंह देखना पड़ा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×