scorecardresearch
 

रि‍यो ओलंपिक से पहले दीपिका कुमारी का कमाल, वर्ल्ड रिकॉर्ड कि‍या बराबर

दुनिया की पूर्व नंबर एक और राष्ट्रमंडल खेलों में दो स्वर्ण पदक जीतने वाली तीरंदाज ने 72 तीरों के रैंकिंग राउंड में 686 अंक जुटाकर लंदन ओलंपिक स्वर्ण पदकधारी कोरिया की की-बो बाई की उपलब्धि की बराबरी की.

भारतीय तीरंदाज दीपिका कुमारी ने रियो ओलंपिक से पहले कमाल कर दिया. उन्होंने शंघाई में चल रहे तीरंदाजी वर्ल्ड कप में रिकर्व इवेंट में वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर ली.

दुनिया की पूर्व नंबर एक और राष्ट्रमंडल खेलों में दो स्वर्ण पदक जीतने वाली तीरंदाज ने 72 तीरों के रैंकिंग राउंड में 686 अंक जुटाकर लंदन ओलंपिक स्वर्ण पदकधारी कोरिया की की-बो बाई की उपलब्धि की बराबरी की. की-बो बाई ने लंदन 2012 ओलंपिक में व्यक्तिगत और टीम प्रतिस्पर्धा में दो स्वर्ण पदक जीते थे, उन्होंने 2015 में ग्वांग्झू में क्वालि‍फिकेशन में साथी कोरियाई पार्क सुंग हुन के 11 साल पुराने 682 अंक के विश्व रिकॉर्ड को तोड़ा था.

दीपिका ने पहले हाफ में 346 अंक जुटाकर रेंज में सनसनी फैला दी, उन्होंने इस कोरियाई के रिकार्ड को तोड़ने के लिये महज 341 अंक चाहिए थे लेकिन अंत में दो बार नौ अंक से वह इसे नहीं तोड़ सकी. शीर्ष वरीयता प्राप्त दीपिका अब सीधे अंतिम 32 का तीसरे दौर का मुकाबला खेलेंगी जबकि उनकी साथी लक्ष्मीरानी माझी और रिमिल बुरूली (75) पहले राउंड से शुरुआत करेंगी. महिला टीम चौथी रैंकिंग की टीम है.

दीपिका का प्रयास भारत को मिश्रित जोड़ी में शीर्ष रैंकिंग दिलाने में सफल रहा, उन्होंने 12वीं रैंकिंग के अतनु दास (671 अंक) के साथ जोड़ी बनाकर तुर्की को आठ के पहले दौर में 5-3 से शिकस्त दी. सेमीफाइनल में यह जोड़ी चीनी ताइपे से 3-5 से हार गई और अब कांस्य पदक के प्ले आफ में उनका सामना तीसरी वरीयता प्राप्त कोरियाई जोड़ी से होगा.

कोरिया को दूसरे सेमीफाइनल में दूसरी रैंकिंग के अमेरिका से 0-6 से हार गई. पुरुष रिकर्व क्वालीफिकेशन अतनु दास, जयंत तालुकदार और मंगल सिंह टीम को तीसरा स्थान दिलाकर शीर्ष 20 में शामिल रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें