scorecardresearch
 

श्रीनिवासन के कारण BCCI की छवि धूमिल: शशांक मनोहर

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष शंशाक मनोहर ने आईसीसी के चेयरमैन एन श्रीनिवासन को आड़े हाथों लिया है. शशांक मनोहर ने कहा कि श्रीनिवासन की वजह से क्रिकेट बोर्ड की छवि गहरा धक्का लगा है.

एन श्रीनिवासन के साथ शशांक मनोहर एन श्रीनिवासन के साथ शशांक मनोहर

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष शंशाक मनोहर ने आईसीसी के चेयरमैन एन श्रीनिवासन को आड़े हाथों लिया है. शशांक मनोहर ने कहा कि श्रीनिवासन की वजह से क्रिकेट बोर्ड की छवि को गहरा धक्का लगा है. IPL स्पॉट फिक्सिंग: 4 अधि‍कारियेां के अलावा 3 खि‍लाड़ि‍यों के नामों का हुआ खुलासा

पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, 'श्रीनिवासन के रहते हुए बोर्ड के नियमों का साथ खिलवाड़ हो रहा है. श्रीनिवासन के हित का ख्याल रखते हुए बोर्ड के वकीलों को ऐसे निर्देश दिए जा रहे हैं. जेंटलमैन गेम के नाम से मशहूर क्रिकेट अपने सबसे बुरे वक्त से गुजर रहा है.'

शशांक मनोहर ने बीसीसीआई के सदस्यों से अपील की है कि वे आवाज उठाएं ताकि इस खूबसूरत खेल को बर्बाद होने से बचाया जा सके.

गौरतलब है कि शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में इंडियन प्रीमियर लीग के छठे सीजन में हुई कथित सट्टेबाजी और स्पॉट फिक्सिंग मामले की सुनवाई करते हुए मुद्गल समिति की जांच रिपोर्ट अंशत: सार्वजनिक करने का फैसला किया. न्यायमूर्ति टी. एस. ठाकुर की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के निर्वासित अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन, उनके दामाद गुरुनाथ मयप्पन, बीसीसीआई अधिकारी सुंदर रमन और राजस्थान रॉयल्स के सह-मालिक राज कुंद्रा की मामले में कथित भूमिका के आरोपों को देखते हुए अदालत इन चारों को जांच रिपोर्ट सौंपेगी.

सभी पक्ष रिपोर्ट मिलने के चार दिनों के अंदर अपनी असहमतियों से अवगत कराना होगा, तथा उसके अगले चार दिनों में वे अपने प्रतिवादियों के विरोध पर अपनी प्रतिक्रिया न्यायालय में दाखिल कर सकेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें