scorecardresearch
 

इंग्लैंड को मात देने के लिए महेंद्र सिंह धोनी ने मांगी राहुल द्रविड़ की मदद

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रहे पहले टेस्ट से पहले टीम इंडिया के बल्‍लेबाजों से बात करेंगे. BCCI के सचिव संजय पटेल ने कहा कि नौ जुलाई से नाटिंघम में शुरू हो रहे सीरीज से पहले द्रविड़ बल्लेबाजों के साथ कुछ सत्र बिताएंगे, लेकिन उन्हें किसी अधिकारी के तौर पर टीम के साथ नियुक्त नहीं किया गया है.

राहुल द्रविड़ की फाइल फोटो राहुल द्रविड़ की फाइल फोटो

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रहे पहले टेस्ट से पहले टीम इंडिया के बल्‍लेबाजों से बात करेंगे. BCCI के सचिव संजय पटेल ने कहा कि नौ जुलाई से नाटिंघम में शुरू हो रहे सीरीज से पहले द्रविड़ बल्लेबाजों के साथ कुछ सत्र बिताएंगे, लेकिन उन्हें किसी अधिकारी के तौर पर टीम के साथ नियुक्त नहीं किया गया है.

जानकारी के मुताबिक, टीम इंडिया के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी और कोच डंकन फ्लेचर ने BCCI से संपर्क किया था कि युवा बल्लेबाजों के लिए द्रविड़ के साथ समय बिताने के लिए सत्र का आयोजन किया जाए. बताया जाता है कि दिग्गज बल्लेबाज द्रविड़ भी इसके लिए तुरंत राजी हो गए.

पटेल ने इस बारे में बात करते हुए कहा, 'सबसे पहले तो मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि द्रविड़ को बल्लेबाजी सलाहकार या किसी अन्य पद पर नियुक्त नहीं किया गया है. वह दिग्गज खिलाड़ी हैं और इंग्लैंड में उन्होंने काफी सफलता हासिल की है इसलिए टीम प्रबंधन चाहता था कि खिलाड़ियों को पहले टेस्ट से पूर्व उनसे बात करने का मौका मिले.'

उन्होंने कहा, 'धोनी और फ्लेचर ने मुझसे आग्रह किया कि मैं पता करूं कि राहुल नाटिंघम में पहले टेस्ट से पूर्व टीम के लिए समय निकाल सकते हैं. मैंने राहुल से बात की और वह तुरंत इसके लिए राजी हो गए. हम चाहते हैं कि वह अपने अनुभव को साझा करें. उन्होंने इंग्लैंड में इतनी सफलता हासिल की है कि मौजूदा खिलाड़ियों को तकनीक और धैर्य के बारे में राहुल से बेहतर कोई और नहीं बता सकता.'

इंग्‍लैंड में द्रविड़ का प्रदर्शन
राहुल द्रविड़ इंग्लैंड में काफी सफल रहे हैं. उन्होंने अपने 36 में से छह टेस्ट शतक इंग्लैंड में बनाए हैं, जहां उन्होंने 13 टेस्ट में 68.80 की औसत से 1376 रन जुटाए हैं. वह 2011 में इंग्लैंड के पिछले भारत दौरे में टीम के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बने और भारत की 0-4 की शिकस्त के दौरान उन्होंने तीन शतक बनाए.

संजय पटेल ने स्‍पष्‍ट किया कि द्रविड़ का BCCI से इस ओर कोई अनुबंध नहीं है. उन्‍होंने कहा, 'यह सिर्फ टीम प्रबंधन के आग्रह से किया गया इंतजाम है. राहुल उस समय इंग्लैंड में होंगे. साथ ही राजस्थान रॉयल्स के मेंटर के रूप में युवाओं पर उनका सकारात्मक प्रभाव है. हम मौजूदा टीम पर भी इसी तरह के प्रभाव की उम्मीद करते हैं. वह पहले टेस्ट के शुरू होने तक टीम के साथ होंगे.' उन्‍होंने बताया कि अगर गौतम गंभीर को अंतिम एकादश में जगह नहीं मिलती है तो भारत पहले टेस्ट में ऐसी टीम के साथ उतरेगा जिसके शीर्ष छह खिलाड़ियों ने इंग्लैंड में कभी टेस्ट क्रिकेट नहीं खेला है. ये बल्लेबाज मुरली विजय, शिखर धवन, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे होंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें