scorecardresearch
 

भारतीय पहलवान गीता फोगट ओलंपिक से बाहर

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली भारत की एकमात्र पहलवान गीता फोगाट 55 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में अपना प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबला हारने के बाद रेपेचेज राउंड दो में भी हारकर कोई पदक नहीं जीत सकी जिससे लंदन ओलंपिक की कुश्ती प्रतियोगिता में भारत की निराशाजनक शुरुआत हुई.

ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली भारत की एकमात्र पहलवान गीता फोगाट 55 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग में अपना प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबला हारने के बाद रेपेचेज राउंड दो में भी हारकर कोई पदक नहीं जीत सकी जिससे लंदन ओलंपिक की कुश्ती प्रतियोगिता में भारत की निराशाजनक शुरुआत हुई.

राष्ट्रमंडल खेल 2010 की स्वर्ण पदक विजेता गीता को गुरुवार को यहां एक्सेल एरेना में रेपेचेज राउंड टू में उक्रेन की तेत्याना लाजारेवा ने बेहद आसनी से 3-0 से हराया.

तेत्याना ने गीता के खिलाफ आक्रामक शुरुआत की. उन्होंने अपनी बेहतर तकनीक और मजबूत कद काठी की बदौलत भारतीय पहलवान को लगभग चित कर दिया था लेकिन गीता किसी तरह बचने में सफल रही.

पहले राउंड में 31 वर्षीय तेत्याना को आठ तकनीकी अंक मिले जबकि दूसरे दौर में उसने एक अंक और जुटाकर 23 वर्षीय गीता को आसानी से पछाड़ दिया.

इससे पहले गीत को प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबले में कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद कनाडा की टोन्या लिन वरबीक के हाथों 1-3 से शिकस्त का सामना करना पड़ा था.

गीता को हालांकि वरबीक के फाइनल में जगह बनाने के कारण रेपेचेज राउंड में खेलने का मौका मिला जिससे भारतीय खिलाड़ी के पास कांस्य पदक जीतकर ओलंपिक पदक जीतने वाले पहली भारतीय महिला पहलवान बनकर इतिहास रचने का मौका था लेकिन तेत्याना के खिलाफ उनकी बिलकुल भी नहीं चली। वरबीक के खिलाफ प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबले में गीता शुरूआत में बेहतर स्थिति में थी लेकिन मौकों का फायदा उठाकर अंक जुटाने में नाकाम रही.

गीता और ओलंपिक खेलों में दो बार की पदक विजेता वरबीक दो दौर के बाद 1-1 से बराबर चल रही थी लेकिन कनाडा की खिलाड़ी ने अंतिम राउंड में अपने अनुभव का पूरा फायदा उठाते हुए बाजी मार ली.

वरबीक ने इसके बाद क्वार्टर फाइनल में लाजारेवा जबकि सेमीफाइनल में कोलंबिया की जैकलीन रेनटेरिया कैस्टिलो को हराया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें