scorecardresearch
 

रियो 2016: पेस को लगा जीका से डर, नहीं जाएंगी रियो

दक्षिण अफ्रीका की ली एन पेस रियो ओलंपिक से बाहर होने वाली पहली महिला गोल्फर बन गई हैं. उन्होंने जीका वायरस से संक्रमण के डर से ब्राजील में अगस्त के महीने में होने वाले खेलों के इस महाकुंभ में नहीं खेलने की घोषणा की है.

महिला गोल्फर ली एन पेस रैंकिंग में 38वें स्थान पर है महिला गोल्फर ली एन पेस रैंकिंग में 38वें स्थान पर है

दक्षिण अफ्रीका की ली एन पेस रियो ओलंपिक से बाहर होने वाली पहली महिला गोल्फर बन गई हैं. उन्होंने जीका वायरस से संक्रमण के डर से ब्राजील में अगस्त के महीने में होने वाले खेलों के इस महाकुंभ में नहीं खेलने की घोषणा की है.

दक्षिण अफ्रीका की टॉप रैंकिंग महिला गोल्फर पेस ने कहा, ‘मैं वहां खेलने के लिए उत्सुक थी. लेकिन हाल के महीनों में मेरी टीम जीका वायरस के संबंध में वहां के हालातों का आकलन कर रही है और वहां से जितनी संभव हो सूचना एकत्रित करने की कोशिश कर रही है.’

वर्ल्ड रैंकिंग में 38वें स्थान पर काबिज एन ने कहा, ‘सारे विकल्पों को देखने और अपने परिवार और टीम से चर्चा करने के बाद मैंने जीका वायरस से संबंधित स्वास्थ्य चिंताओं को देखते हुए फैसला किया कि मैं इनमें भाग नहीं लूंगी.’

दो दिन पहले ही वर्ल्ड नंबर-1 पुरुष गोल्फर जेसन डे और शेन लॉरी ने भी जीका वायरस के डर से रियो ओलंपिक में शिरकत नहीं करने की घोषणा की थी. रियो से नाम वापस लेने की शुरुआत आयरिश गोल्फर रॉरी मैक्लॉरी ने की थी. उन्होंने नाम वापस लेने का बाद हुए आलोचना पर भी टिप्पणी की. उन्होंने यहां तक कह डाला कि ओलंपिक में गोल्फ खेलना और वहां गोल्ड जीतना इस खेल की सबसे बड़ी उपलब्धि नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें