scorecardresearch
 

पिंक बॉल पर युवी, गंभीर और पुजारा का क्या है कहना?

दलीप ट्रॉफी फाइनल के बाद दूधिया रौशनी में पहली बार पिंक बॉल से भारत में खेले गए इस टूर्नामेंट पर क्रिकेटरों की अलग अलग प्रतिक्रिया देखने को मिली. जहां पिंक बॉल को लेकर गौतम गंभीर और चेतेश्वर पुजारा लगभग एकमत हैं वहीं युवराज भी इसके बर्ताव से हैरान रहे.

पहली बार दूधिया रौशनी में पिंक बॉल से खेली गई घरेलू क्रिकेट पहली बार दूधिया रौशनी में पिंक बॉल से खेली गई घरेलू क्रिकेट

दलीप ट्रॉफी फाइनल के बाद दूधिया रौशनी में पहली बार पिंक बॉल से भारत में खेले गए इस टूर्नामेंट पर क्रिकेटरों की अलग अलग प्रतिक्रिया देखने को मिली. जहां पिंक बॉल को लेकर गौतम गंभीर और चेतेश्वर पुजारा लगभग एकमत हैं वहीं युवराज भी इसके बर्ताव से हैरान रहे.

पुजारा ‘खुश’, युवराज ‘हैरान’
दूसरी ओर चेतेश्वर पुजारा अपनी तैयारी से संतुष्ट हैं जबकि युवराज सिंह अपने तेज गेंदबाजों के पिंक बॉल को स्विंग कराने में विफल रहने से हैरान हैं. साथ ही भारतीय टेस्ट टीम से नजरअंदाज किए गए गौतम गंभीर की नजरें अब रणजी ट्रॉफी पर टिकी हैं.

‘फ्ल्ड लाइट्स में गुगली नहीं दिखती’
दलीप ट्रॉफी के दो मैचों में 166 और नाबाद 256 रन की पारी खेलने वाले पुजारा ने कहा, ‘यह न्यूजीलैंड सीरीज के लिए अच्छी तैयारी है और मैं इसे लेकर उत्सुक हूं. मुझे हमेशा लगता है कि जब भी मैं टिक जाउं तो मुझे बड़ी पारी खेलनी है और टीम की मदद करनी है.’ पुजारा ने कहा कि उन्होंने पिंक बॉल से खेलने का लुत्फ उठाया लेकिन गुगली को देखने में अब भी समस्या आ रही है. उन्होंने कहा, ‘मैंने पिंक बॉल से खेलने का लुत्फ उठाया लेकिन कुछ चुनौतियां हैं विशेषकर दूधिया रोशनी में जब गुगली को देखना मुश्किल हो जाता है.’ युवराज सिंह निराश हैं और वह साथ ही हैरान हैं कि उनके गेंदबाज उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए.

‘रहस्य है पिंक बॉल का स्विंग करना’
पिंक बॉल के बारे में पूछने पर युवराज ने हैरानी भरा जवाब दिया. उन्होंने कहा, ‘इस पर (पिंक बॉल पर) प्रतिक्रिया देना कुछ मुश्किल है क्योंकि जब हम गेंदबाजी कर रहे थे तो गेंद काफी स्विंग नहीं कर रही थी जबकि जब वह गेंदबाजी कर रहे थे तो यह स्विंग कर रही थी. यह अब भी रहस्य है.’

‘हमारा प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा’
युवराज ने कहा, ‘टॉस हारने के बाद हमने अच्छी गेंदबाजी नहीं की. हम स्टंपिंग से चूके, कैच छोड़े. मुझे बेहतर प्रदर्शन करने की उम्मीद है. बल्लेबाजों गंभीर और पुजारा ने काफी रन जुटाए. मैदान पर लंबे समय तक क्षेत्ररक्षण करना थकाने वाला होता है. जडेजा ने अच्छी गेंदबाजी की और पंकज सिंह ने नई गेंद से अच्छी गेंदबाजी की.’

‘दिल्ली के लिए रणजी जीतना चाहता हूं’
इंडिया ब्लू टीम के कप्तान गौतम गंभीर ने कहा अपना काम अच्छी तरह करने के बाद अब उनकी नजरें रणजी ट्रॉफी पर हैं. उन्होंने कहा, ‘अब इसे (रणजी ट्रॉफी) जीतना चाहता हूं. दिल्ली ने पिछले कुछ समय से रणजी ट्रॉफी नहीं जीती है.’ उन्होंने पेशेवर प्रदर्शन के लिए टीम की तारीफ की.

‘टॉस जीता, 700 रन बनाया, भाग्यशाली रहा’
गंभीर ने कहा, ‘बेशक, काफी पेशेवर प्रदर्शन. टॉस आपके हाथ में नहीं है. लेकिन मैंने टॉस जीता, भाग्यशाली रहे. 700 रन बनाना महत्वपूर्ण रहा.’ उन्होंने दोहरा शतक जड़ने वाले पुजारा की भी तारीफ की. गंभीर ने कहा, ‘मुझे लगता है कि जब आप टॉस जीतो और कोई 250 रन बनाए तो यह शानदार होता है. उम्मीद करते हैं कि वह इस फॉर्म को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में जारी रखेगा. मैं हमेशा कहता रहा हूं कि चार दिवसीय या पांच दिवसीय मैच में अच्छी शुरुआत महत्वपूर्ण होती है.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें