scorecardresearch
 

तेज गेंदबाजी में आगे बढ़ रहा है भारतः वसीम अकरम

तेज गेंदबाजी और रिवर्स स्विंग के बादशाह पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज और क्रिकेट कमेंटेटर वसीम अकरम का मानना है कि अब भारत में भी तेज गेंदबाजी क्रिकेट का अहम हिस्सा बनती जा रही है और युवा मोहम्मद शमी और उमेश यादव जैसे गेंदबाजों को अपना हीरो मानने लगे हैं.

वसीम अकरम और शाहरुख खान वसीम अकरम और शाहरुख खान

तेज गेंदबाजी और रिवर्स स्विंग के बादशाह पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज और क्रिकेट कमेंटेटर वसीम अकरम का मानना है कि अब भारत में भी तेज गेंदबाजी क्रिकेट का अहम हिस्सा बनती जा रही है और युवा मोहम्मद शमी और उमेश यादव जैसे गेंदबाजों को अपना हीरो मानने लगे हैं.

भारत के कई तेज गेंदबाजों को बॉलिंग के गुर सिखा चुके अकरम पांच साल पहले कोलकाता नाइट राइडर्स के गेंदबाजी सलाहकार बने और उन्होंने ईशांत शर्मा और यादव जैसे गेंदबाजों को टिप्स दिए हैं. अकरम ने कहा कि भारत में तेज गेंदबाजी की पकड़ मजबूत हो रही है. हालांकि इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि युवाओं को बताना होगा कि यह सिर्फ एक स्पेल की बात नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘खेल की लोकप्रियता के कारण तेज गेंदबाजी भी जगह बना रही है. इस देश के लोगों का क्रिकेट के लिए जुनून कमाल का है. आईपीएल के मैच में 70,000 दर्शकों का स्टेडियम में आना अद्भुत है. युवा खिलाड़ी भी अब शमी, उमेश और वरुण एरोन को हीरो मान रहे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘तेज गेंदबाजी भारतीय क्रिकेट में जगह बना रही है लेकिन इन युवाओं को बताना होगा कि तेज गेंदबाजी सिर्फ एक स्पैल की बात नहीं है. आपको यह सोचना होगा कि अगले 10 साल तक कैसे तेज गेंद फेंक सकते हैं.’

यह पूछने पर कि उन्होंने यादव को क्या टिप्स दिए, अकरम ने कहा कि इन गेंदबाजों को कोचिंग की जरूरत नहीं है बल्कि यह बताना होगा कि सही स्विंग का इस्तेमाल कब करना है. उन्होंने कहा, ‘उमेश यादव और मोहम्मद शमी जिस स्तर पर खेल रहे हैं, उन्हें कोचिंग की जरूरत नहीं है. उन्हें बेसिक्स नहीं बताने हैं. आपको उन्हें सिर्फ यह बताना है कि सही स्विंग का इस्तेमाल कब करना है और किसी बल्लेबाज को कैसे भांपना है.’

अकरम ने कहा, ‘मैंने उन्हें यही बताया कि हालात के अनुरूप गेंदबाजी कैसे करना है. मैंने नेट्स पर उनके साथ काम किया है. मैंने उमेश को बताया कि तुम्हे बेजान पिचों पर नई गेंद खब्बू बल्लेबाजों से दूर रखना सीखना होगा. आपने वर्ल्ड कप में देखा कि उसने ऐसा ही किया.’

टीम में वापसी की कोशिशों में जुटे अनुभवी तेज गेंदबाज जहीर खान के बारे में अकरम ने कहा कि उनकी वापसी संभव है लेकिन उन्हें लगातार क्रिकेट खेलना होगा.

उन्होंने कहा, ‘36 बरस की उम्र में आप गेंदबाज के तौर पर बूढ़े नहीं होते. यदि आप फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलते रहें तो वापसी आसान होती है. सिर्फ आईपीएल खेलने से तेज गेंदबाज की वापसी मुश्किल हो जाती है. पैंतीस बरस की उम्र के बाद आपको नियमित क्रिकेट खेलना जरूरी होता है.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें