scorecardresearch
 

कोहली@149: गावस्कर की 44 साल पुरानी पारी की याद दिला दी

2014 में इंग्लैंड दौरे के दौरान विराट पूरी तरह विफल रहे थे, लेकिन सीरीज के पहले ही मैच में बड़ी पारी खेल उन्होंने अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया है.

सुनील गावस्कर- विराट कोहली (getty) सुनील गावस्कर- विराट कोहली (getty)

एजबेस्टन की पिच पर विपरीत परिस्थितियों ने विराट कोहली की जुझारू पारी क्रिकेट की दुनिया में सुर्खियों में है. विराट ने अपने दम पर भारत को 274 रनों तक पहुंचाया. वे आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज थे, लेकिन इससे पहले उन्होंने टीम इंडिया को इंग्लैंड की पहली पारी के स्कोर 287 के करीब पहुंचा दिया.

बर्मिंघम टेस्ट में हालांकि कोहली को तीन जीवनदान मिले, जिसका भारतीय कप्तान ने बखूबी फायदा उठाया और इंग्लैंड की सरजमीं पर अपना पहला टेस्ट शतक जमाया.

विराट ने 225 गेंदों की पारी में 22 चौके और एक छक्के के सहारे 149 रन बनाए. उन्हें लेग स्पिनर आदिल राशिद ने स्टुअर्ट ब्रॉड के हाथों लपकवाया. इसी आदिल ने वनडे सीरीज के आखिरी मैच में भी विराट का विकेट लिया था.

इसके साथ ही विराट ने 44 साल पुरानी याद ताजा कर दी, जब लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर ने इंग्लैंड के गेंदबाजों का जमकर सामना करते हुए ओल्ड ट्रैफर्ड (मैनचेस्टर) टेस्ट में 101 रन बनाए थे.

कोहली की सबसे बड़ी कप्तानी पारी, अजहर का 28 साल पुराना रिकॉर्ड टूटा

1974 में अजीत वाडेकर की कप्तानी में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट में भारतीय टीम इंग्लैंड की पहली पारी के स्कोर (328/9 पारी घोषित) के जवाब में बेहद मुश्किल में थी.

भारतीय टीम लगातार विकेट गंवा रही थी, लेकिन दूसरे छोर पर सलामी बल्लेबाज गावस्कर जम रहे. उस पारी में गावस्कर ने 251 गेंदों में 101 रन बनाकर भारत के स्कोर को 246 तक पहुंचाया. इस दौरान आबिद अली (71) और गुंडप्पा विश्वनाथ (40) ने गावस्कर का साथ निभाया था. हालांकि मैच की दूसरी पारी में भारतीय टीम 182 रनों पर सिमट गई और 113 रनों से वह टेस्ट गंवा बैठी.

अब देखना है कि विराट कोहली भारत की दूसरी पारी में इंग्लैंड के गेंदबाजों की चुनौती के आगे कितना दम दिखा पाते हैं. भारतीय प्रशंसकों को उम्मीद है कि एक बार फिर टीम इंडिया को ऊंचाइयां देंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें