scorecardresearch
 

US ओपन: राफेल नडाल और केविन एंडरसन के बीच होगी खिताबी जंग

राफेल नडाल साल के चौथे एवं अंतिम ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट अमेरिकी ओपन के पुरुष एकल वर्ग के फाइनल में रविवार को दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन से भिड़ेंगे.

राफेल नडाल और केविन एंडरसन राफेल नडाल और केविन एंडरसन

दुनिया के नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी स्पेन के राफेल नडाल साल के चौथे एवं अंतिम ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट अमेरिकी ओपन के पुरुष एकल वर्ग के फाइनल में रविवार को दक्षिण अफ्रीका के केविन एंडरसन से भिड़ेंगे. नडाल ने शुक्रवार देर रात खेले गए सेमीफाइनल में अर्जेटीना के जुआन मार्टिन डेल पोट्रो को हराया.

नडाल ने क्वार्टर फाइनल में स्विस स्टार रोजर फेडरर का पत्ता साफ करने वाले पोट्रो को दो घंटे 31 मिनट तक चले मैच में 4-6, 6-0, 6-3, 6-2 से मात दी. फाइनल में नडाल से भिड़ने वाले एंडरसन ने दूसरे सेमीफाइनल में स्पेन के पाब्लो कारेनो को 4-6, 7-5, 6-3, 6-4 से हराते हुए पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में जगह बनाई है.

नडाल ने मैच के बाद कहा, "हालिया दौर में कुछ चोटों के बाद मेरा यह सीजन शानदार रहा है. मेरे लिए यह साल भावनात्मक रहा है. मैं एक बार फिर फाइनल में हूं और अपने एक और खिताब के लिए लड़ने के लिए तैयार हूं जो मेरे लिए काफी अहम है."

यह नडाल के करियर का 23वां ग्रैंड स्लैम फाइनल होगा. उन्होंने अपने करियर में 15 ग्रैंड स्लैम जीते हैं. वह इससे पहले तीन बार अमेरिकी ओपन के फाइनल में पहुंचे हैं और दो बार खिताब जीत चुके हैं. तीनों बार उनका सामना सार्बिया के नोवाक जोकोविक से हुआ था.

2010 और 2013 में नडाल ने जीत हासिल की थी जबकि 2011 में उन्हें हार मिली थी. मैच के बाद कोर्ट पर दिए गए अपने बयान में नडाल ने कहा कि वह पहले सेट में अपने बैकहैंड पर ज्यादा निर्भर थे.

नडाल की नजरें अब अपने 16वें ग्रैंड स्लैम खिताब पर हैं. एंडरसन यहां तक पहुंचने वाले पहले दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी हैं. उन्होंने कहा, "मैंने यहां तक पहुंचने के लिए काफी मेहनत की है. मैं ग्रैंड स्लैम ट्रॉफी के लिए खेलूंगा. मेरे लिए यह शानदार अहसास है."

नडाल ने एंडरसन के बारे में कहा, "वह काफी खतरनाक खिलाड़ी हैं जिनका सर्विस अच्छी है. वह इस कोर्ट पर शानदार खेलते हैं. मैं उन्हें तब से जानता हूं जब से हम 12 साल के थे."वहीं नीदरलैंडस के जीन-जूलियन रोजेर और उनके जोड़ीदार रोमानिया के होरिया टेकाउ ने अमेरिकी ओपन के पुरुष युगल वर्ग का खिताब अपने नाम कर लिया है.

उन्होंने फाइनल में स्पेन के फेलेसियानो लोपेज और मार्क लोपेज की जोड़ी को सीधे सेटों में 6-4, 6-3 से मात दी. यह इस जोड़ी को दूसरा ग्रैंड स्लैम खिताब है.

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, रोजेर ने मैच के बाद कहा, "कुल मिलाकर एक बात अहम है कि हम लगातार बात करते हैं और लड़ते रहें. यह काफी दबाव वाला मैच था. हमारे दो सप्ताह शानदार रहे. हम सभी मैचों में शानदार खेले. हमने आज भी अच्छा खेला."

उन्होंने कहा, "मार्क और फेलेसियानो को बधाई. वो हमारे काफी अच्छे दोस्त हैं. उनका पूरा सप्ताह शानदार रहा और वह यहां आने के हकदार थे. यह कुछ अंकों की बात है और काफी करीबी मैच था."

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें