scorecardresearch
 

जीत के लिए चौथे दिन भारत को खड़ा करना होगा 400 रन का विशाल स्कोर

भारतीय टीम कानपुर टेस्ट मैच के तीसरे दिन मजबूत स्थिति में पहुंच गई है. खेल के चौथे दिन विजय और पुजारा को एक लंबी पारी खेलनी होगी. जिससे भारतीय टीम न्यूजीलैंड के सामने 400 से ज्यादा कर लक्ष्य दे सके. विजय और पुजारा पर काफी दारोमदार रहेगा.

X
भारतीय बल्लेबाजों को खेलनी होगी बढ़ी पारी भारतीय बल्लेबाजों को खेलनी होगी बढ़ी पारी

भारतीय टीम कानपुर टेस्ट मैच के तीसरे दिन मजबूत स्थिति में पहुंच गई है. खेल के चौथे दिन विजय और पुजारा को एक लंबी पारी खेलनी होगी. जिससे भारतीय टीम न्यूजीलैंड के सामने 400 से ज्यादा कर लक्ष्य दे सके. विजय और पुजारा पर काफी दारोमदार रहेगा.

जीत के लिए 400 रन का लक्ष्य देना होगा
टीम इंडिया 500वें ऐतिहासिक टेस्ट मैच में अच्छी स्थिति में पहुंच गई है. भारतीय बल्लेबाजों की कोशिश होगी न्यूजीलैंड के सामने 400 से ज्यादा रन का लक्ष्य रखे. लेकिन इसके लिए भारतीय बल्लेबाजों को दमदार प्रदर्शन करना होगा. भारतीय टीम मैनेजमैंट की कोशिश होगी कि टी के बाद यानि तीसरे सेशन में कीवी टीम को बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतारे. जिससे भारतीय गेंदबाजों को न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को आउट करने का पूरा मौका मिले.

चौथे और पांचवे दिन बल्लेबाजी करना होगा बेहद मुश्किल
जिस तरह से ग्रीन पार्क के विकेट पर गेंद ने तीसरे दिन टर्न लेना शुरू किया. उससे ये साफ हो गया है कि भारतीय स्पिनर्स के सामने कीवी बल्लेबाजों की राह आसान नहीं होने वाली है.

तीसरे दिन भारत का शानदार प्रदर्शन

500वें ऐतिहासिक टेस्ट मैच के तीसरे दिन भारत ने 215 रन बढ़त बना ली है. दिन का खेल खत्म होने तक टीम इंडिया ने 47 ओवर में एक विकेट के नुकसान पर 159 रन बनाए. चेतेश्वर पुजारा (50) और मुरली विजय (64) हॉफ सेंचुरी लगाकर खेल रहे हैं. दोनों बल्लेबाजों के बीच 103 रन की साझेदारी हुई. भारत का इकलौता विकेट लोकेश राहुल का गिरा. उन्हें सोढ़ी ने 38 रन के निजी स्कोर पर आउट किया.

न्यूजीलैंड 262 रन पर हुई ऑल आउट
खेल के तीसरे दिन टीम इंडिया के स्पिन गेंदबाज आर अश्विन और रवींद्र जडेजा ने शानदार गेंदबाजी की उम्मीद थी. दोनों गेंदबाजों ने न्यूजीलैंड को 95.5 ओवर में 262 रन पर समेट दिया. दोनों गेंदबाजों ने नौ विकेट झटके और कीवी टीम को 262 रन पर ऑल आउट किया. भारत की पहली पारी 318 रन ऑल आउट हो गई थी. इसके साथ ही भारत को 56 रन की बढ़त मिली.

जडेजा ने एक ही ओवर में झटके 3 विकेट
खेल के तीसरे दिन की शुरुआत में टीम इंडिया के गेंदबाजों ने 3 विकेट शुरूआत में ही झटक लिए. लेकिन इसके बाद भारतीय टीम को विकेट के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ा. विकेट लेने के चक्कर में कप्तान कोहली ने रोहित शर्मा को गेंदबाजी का मौका दिया. हालांकि इसके बाद रवींद्र जडेजा ने ल्यूक रॉन्ची (38) को आउटकर भारतीय टीम को पांचवीं सफलता दिलाई. रॉन्ची और सैंटनर के बीच 49 रन की साझेदारी हुई. छठा विकेट मिचेल सैंटनर (32) के रूप में गिरा. उनको अश्विन की गेंद पर विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा ने लपका. वाटलिंग और सैंटनर के बीच 36 रन की साझेदारी हुई. सातवां और आठवां विकेट जडेजा ने लगातार गेंदों पर लिया और मार्क क्रेग (2) व ईश सोढ़ी (0) को पैवेलियन भेजा. जडेजा ने इसी ओवर में ट्रेंट बोल्ट (0) को कैच करा दिया और ओवर में 3 विकेट झटक लिए. इसके बाद अश्विन ने बीजे वाटलिंग (21) को आउटकर कीवी टीम को समेट दिया.

जडेजा और अश्विन का जलवा
इस मुकाबले में रवींद्र जडेजा ने पांच विकेट झटके. इसके अलावा अश्विन ने चार और उमेश यादव को एक विकेट मिला. भारतीय गेंदबाजों की शानदार गेंदबाजी की बदौलत टीम इंडिया एक मजबूत स्थिति में पहुंच गई है.

दूसरे दिन के खेल का अपडेट
बारिश के कारण दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक न्यूजीलैंड ने पहली पारी में एक विकेट पर 152 रन बना लिए थे. टॉम लाथम (56) और केन विलियम्सन (65) नाबाद लौटे. दूसरे दिन दोनों के बीच 117 रन की नाबाद साझेदारी हुई. शुक्रवार को केवल 54 ओवर का ही खेल हो पाया. चायकाल से बिल्कुल पहले बारिश शुरू हो जाने से अंपायरों ने चाय पर जाने का फैसला किया, लेकिन जब चायकाल के बाद भी बारिश नहीं रुकी, तो उन्होंने दिन के खेल के खत्म की घोषणा कर दी. खेल के दूसरे दिन सुबह टीम इंडिया की पारी 318 रन पर सिमट गई थी.

जडेजा ने बनाए नाबाद 42 रन
खेल के दूसरे दिन सुबह गुरुवार के नाबाद बल्लेबाज रवींद्र जडेजा और उमेश यादव ने टीम इंडिया की पारी को 9 विकेट पर 291 रन से आगे बढ़ाया. शुक्रवार को जडेजा ने कुछ अच्छे शॉट खेले, लेकिन टीम के स्कोर में 6.5 ओवर में 27 रन ही जुड़े थे कि आखिरी गेंद पर उमेश यादव 27 गेंदों में 9 रन बनाकर आउट हो गए. जडेजा 44 गेंदों में 42 रन बनाकर नाबाद लौटे. उन्होंने तेजी से रन बटोरते हुए 7 चौके और एक छक्का लगाया. जडेजा और यादव के बीच 41 रनों की साझेदारी हुई.

कानपुर टेस्ट मैच के पहले दिन का अपडेट
टीम इंडिया की ओर से पहले दिन के खेल का आकर्षण ओपनर मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा की बल्लेबाजी रही. दोनों ही बल्लेबाजों ने अपनी-अपनी हॉफ सेंचुरी पूरी की और टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने में अहम रोल निभाया. सलामी बल्लेबाज केएल राहुल के आउट होने के बाद मुरली विजय ने चेतेश्वर पुजारा के साथ 112 रन की साझेदारी की. विजय ने 119 गेंदों में टेस्ट करियर की 13वीं फिफ्टी बनाई, जो भारत के 500वें मैच की पहली हॉफ सेंचुरी रही. इसके कुछ ही देर बाद पुजारा ने भी फिफ्टी पूरी की, जो उनके करियर की 8वीं फिफ्टी रही. मुरली विजय ने सधी हुई पारी खेलते हुए 170 गेंदों का सामना किया और 65 रन बनाए. उन्होंने अपनी पारी में 8 चौके लगाए और पुजारा ने 109 गेंदों में 61 रन जोड़े. मुरली विजय और केएल राहुल के बीच 42 रनों की ओपनिंग साझेदारी हुई. हालांकि इन दोनों के अलावा आर अश्विन (40) ही टिक पाए. पुजारा के आउट होने पर आए कप्तान विराट कोहली जल्दी ही पैवेलियन लौट गए. उन्होंने 10 गेंदों में 9 रन बनाए और नील वागनर की गेंद पर ईश सोढ़ी को कैच दे बैठे. न्यूजीलैंड की ओर से स्पिनर मिचेल सैंटनर और ट्रेंट बोल्ट 3-3 विकेट लिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें