scorecardresearch
 

अश्विन द्वारा नो बॉल फेंकने पर बिफरे पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर

गावस्कर ने कहा, 'स्पिनर से वास्तव में नो बॉल की उम्मीद नहीं की जाती है. तेज गेंदबाज यॉर्कर या बाउंसर करने के प्रयास में कई बार पांव को लाइन से आगे रख देते हैं. लेकिन स्पिनर का नो बॉल करना अस्वीकार्य है.

सुनील गावस्कर सुनील गावस्कर

वर्ल्ड टी20 के सेमीफाइनल में वेस्टइंडीज के खिलाफ महत्वपूर्ण मोड़ पर भारतीय गेंदबाजों के नो बॉल करने की आलोचना करते हुए पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर का कहना है कि एक स्पिनर का नो बॉल करना पूरी तरह से अस्वीकार्य है.

स्पिनर का नो बॉल फेंकना अस्वीकार्य
गावस्कर ने कहा, 'स्पिनर से वास्तव में नो बॉल की उम्मीद नहीं की जाती है. तेज गेंदबाज यॉर्कर या बाउंसर करने के प्रयास में कई बार पांव को लाइन से आगे रख देते हैं. लेकिन स्पिनर का नो बॉल करना अस्वीकार्य है. नेट्स पर अभ्यास से आप इसमें दक्ष बन सकते हैं.' गौरतलब है कि वेस्टइंडीज ने गुरुवार को भारत की कमजोर गेंदबाजी का फायदा उठाकर सात विकेट से जीत दर्ज कर वर्ल्ड टी20 के फाइनल में प्रवेश किया.

विंडीज ने साबित किया क्रिकेट एक टीम गेम
गावस्कर ने कहा कि वेस्टइंडीज ने साबित कर दिया कि क्रिकेट, टीम गेम है. इस दिग्गज बल्लेबाज ने कहा, 'वेस्टइंडीज एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं है. हम क्रिस गेल बनाम विराट कोहली की बात कर रहे थे. गेल ने रन नहीं बनाए लेकिन देखिए कि अन्य बल्लेबाजों ने कैसे जिम्मेदारी संभाली और योगदान दिया. यह हमेशा से टीम गेम रहा है. हम एक या दो खिलाडि़यों को तवज्जो दे देते हैं और यह समझा जा सकता है. लेकिन यह कभी एक खिलाड़ी का खेल नहीं है और वेस्टइंडीज ने इसे साबित

वेस्टइंडीज का तारीफ करनी चाहिए
गावस्कर ने कहा कि भारत की कमियों के बजाय हमें वेस्टइंडीज की तारीफ करनी चाहिए जिसने मौकों का पूरा फायदा उठाया. उन्होंने कहा, 'मैं वेस्टइंडीज को श्रेय देना चाहूंगा. उन्होंने सभी मौकों का फायदा उठाया. हांलांकि वेस्टइंडीज ने भी विराट कोहली को दो बार रन आउट करने का मौका गंवाया जिसका फायदा उठाते हुए कोहली ने 89 रन बनाए.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें