scorecardresearch
 

सचिन तेंदुलकर ने किया केस, कहा- मेरा नाम बेचा है तो दो मुझे 14 करोड़

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने सिडनी की स्‍पार्टन स्‍पोर्ट्स इंटरनेशनल कंपनी के खिलाफ केस दर्ज कराया है. सचिन का कहना है कि कंपनी ने उनकी रॉयल्टी (करीब 14 करोड़ रुपए) नहीं दी. 

सचिन तेंदुलकर (फाइल फोटो) सचिन तेंदुलकर (फाइल फोटो)

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने एक स्पोर्ट्स का सामान बनाने वाली कंपनी के खिलाफ केस दर्ज कराया है. सचिन का दावा है कि सिडनी की स्‍पार्टन स्‍पोर्ट्स इंटरनेशनल ने उन्‍हें 2 मिलियन डॉलर (करीब 14 करोड़ रुपए) की रॉयल्‍टी नहीं दी.

रॉयटर्स के मुताबिक, टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी का आरोप है कि स्‍पार्टन स्‍पोर्ट्स इंटरनेशनल ने उनके नाम और फोटो का इस्‍तेमाल अपने प्रोडक्‍ट्स को प्रमोट करने के लिए किया, लेकिन इसके एवज में उन्हें भुगतान नहीं किया. इस वक्त इंग्लैंड में सचिन तेंदुलकर आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 में कमेंट्री करते नजर आ रहे हैं.

2016 में सिडनी की स्‍पार्टन स्‍पोर्ट्स इंटरनेशनल ने उन्‍हें सालाना 1 मिलियन डॉलर देने पर सहमति जताई थी. इसके बदले कंपनी को मास्टर ब्लास्टर के नाम, फोटो, लोगो और प्रमोशनल सर्विसेज का यूज कर  'Sachin by Spartan'  नाम से स्पोर्ट्स के सामान बचने थे. इस बाबत सचिन लंदन, मुंबई जैसी जगहों पर स्पोर्ट्स प्रोडक्ट्स के प्रमोशन के लिए भी गए थे.

सचिन का कहना है कि सितंबर 2018 तक कंपनी ने उन्‍हें एक भी पैसा नहीं दिया. इसके बाद उन्होंने पेमेंट की याद दिलाई तो कंपनी की ओर से कोई जवाब नहीं आया. फिर सचिन ने करार खत्‍म कर दिया. इसके बाद सचिन ने कंपनी से कहा था कि वह उनके नाम का इस्‍तेमाल न करे. सचिन द्वारा सौंपे गए डॉक्युमेंट्स के मुताबिक कंपनी उनके नाम का इस्‍तेमाल करती रही.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें