scorecardresearch
 

खिलाड़ियों के होटल में नहीं रुकेंगी चीयरलीडर्स, BCCI ने लगाया बैन

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) जबसे शुरू हुआ है तब से ही चीयरलीडर्स का रोल इस लीग में बहुत खास रहा है. आईपीएल के मौजूदा सीजन से पहले क्रिकेटरों और चीयरलीडर्स के बीच मैच के बाद मुलाकात होना आम बात थी लेकिन अब बीसीसीआई ने साफ कर दिया है किसी भी हालत में क्रिकेटरों और चीयरलीडर्स के रास्ते एक नहीं होने चाहिए.

File Photo: जहीर खान और मनीष पांडे आफ्टर मैच पार्टी में File Photo: जहीर खान और मनीष पांडे आफ्टर मैच पार्टी में

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) जबसे शुरू हुआ है तब से ही चीयरलीडर्स का रोल इस लीग में बहुत खास रहा है. आईपीएल के मौजूदा सीजन से पहले क्रिकेटरों और चीयरलीडर्स के बीच मैच के बाद मुलाकात होना आम बात थी लेकिन अब बीसीसीआई ने साफ कर दिया है किसी भी हालत में क्रिकेटरों और चीयरलीडर्स के रास्ते एक नहीं होने चाहिए.

चीयरलीडर्स न केवल क्रिकेटरों के होटल में नहीं जा सकेंगी बल्कि वो साथ में ट्रैवल भी नहीं करेंगी. फ्रेंचाइजी के साथ एक ही फ्लाइट में चीयरलीडर्स नहीं होंगी. बीसीसीआई पहले ही क्रिकेटरों की आफ्टर मैच पार्टियों (मैच के बाद की पार्टी) पर बैन लगा चुका है. बीसीसीआई आईपीएल को लेकर किसी भी अनचाही कॉन्ट्रोवर्सी से दूरी बनाए रखना चाहता है.

बीसीसीआई चाहता है खिलाड़ियों का ध्यान इस क्रिकेट लीग के दौरान सिर्फ खेल पर रहे. हमारे सहयोगी अखबार मेल टुडे से बात करते हुए एक फ्रेंचाइजी के अधिकारी ने कहा, 'बीसीसीआई हर चीज को डबल चेक कर रहा है जिससे कॉन्ट्रोवर्सी होने का कोई स्कोप ही न बचे.' इससे पहले के आईपीएल सीजन में चीयरलीडर्स उन्हीं होटलों में ठहरती थीं जहां क्रिकेटर्स रुकते थे. उनकी फ्लाइट भी ज्यादातक समय एक ही होती थी.

फ्रेंचाइजी अधिकारी ने कहा, 'मैच के बाद की पार्टी पर बैन लगाना बहुत अच्छा फैसला है. क्योंकि पार्टियों में कुछ बदमाश लोग भी आ जाते थे जिससे काफी दिक्कतें होती थीं. मैं ये नहीं कह रहा हूं कि हमेशा चीयरलीडर्स की गलती होती थी लेकिन कई बार क्रिकेटर शराब के नशे में अपनी हदें पार कर जाते थे.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×