scorecardresearch
 

IPL इतिहास के पहले 'शतकवीर कप्तान' बने धोनी, हासिल किया यह मुकाम

महेंद्र सिंह धोनी ने गुरुवार को चेन्नई सुपर किंग्स की राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ आईपीएल सीजन 12 के 25वें मुकाबले में शाही जीत के साथ ही इस टूर्नामेंट के इतिहास की सबसे बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है.

MS Dhoni (Photo Courtesy by BCCI) MS Dhoni (Photo Courtesy by BCCI)

महेंद्र सिंह धोनी ने गुरुवार को चेन्नई सुपर किंग्स की राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ आईपीएल सीजन 12 के 25वें मुकाबले में शाही जीत के साथ ही इस टूर्नामेंट के इतिहास की सबसे बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है.

दरअसल, महेंद्र सिंह धोनी ने आईपीएल में बतौर कप्तान शतक लगा दिया है. धोनी आईपीएल के इतिहास में 100 जीत दर्ज करने वाले पहले कप्तान बन गए हैं और इस मामले में दूसरा कोई कप्तान उनके आस-पास भी नहीं है.

महेंद्र सिंह धोनी ने आईपीएल में अब तक कुल 166 मैचों में कप्तानी करते हुए 100 मैचों में जीत दर्ज की हैं. धोनी के बाद गौतम गंभीर का नंबर आता है, जिन्होंने 129 मैचों में कप्तानी करते हुए 71 मैचों में जीत दर्ज की हैं.

महेंद्र सिंह धोनी और गौतम गंभीर के बीच 29 जीत का अंतर है. आपको बता दें कि गौतम अब क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं. धोनी की कप्तानी का जीत का प्रतिशत 60.60 है. कप्तानों की इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर विराट कोहली काबिज हैं. कोहली ने 102 मैचों में कप्तानी करते हुए 44 मैचों में जीत दर्ज की हैं.

IPL: अंपायर के फैसले पर आगबबूला हुए सुपर कूल धोनी पिच पर पहुंचे, लगा जुर्माना

आईपीएल के सफल कप्तान

1. महेंद्र सिंह धोनी - 166 मैचों में 100 जीत

2. गौतम गंभीर - 129 मैचों में 71 जीत

3. विराट कोहली - 102 मैचों में 44 जीत

4. रोहित शर्मा - 94 मैचों में 54 जीत

5. एडम गिलक्रिस्ट - 74 मैचों में 35 जीत

6. शेन वॉर्न - 55 मैचों में 30 जीत

आपको बता दें कि मिशेल सेंटनेर ने आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर चेन्नई सुपर किंग्स को राजस्थान रॉयल्स पर चार विकेट से जीत दिलाई लेकिन इस मैच में ‘कैप्टन कूल’ महेंद्र सिंह धोनी आपा खोते नजर आए. जीत के लिए 152 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई ने छठे ओवर में चार विकेट 24 रनों पर गंवा दिए थे. इसके बाद अंबति रायडू और महेंद्र सिंह धोनी ने 95 रन की साझेदारी करके टीम को मैच में लौटाया. रायडू 47 गेंदों में 57 रन बनाकर 18वें ओवर में आउट हुए.

चेन्नई को आखिरी ओवर में 18 रनों की जरूरत थी और बेन स्टोक्स की पहली ही गेंद पर रवींद्र जडेजा ने छक्का लगा दिया. अगली गेंद नो बॉल रही और तीसरी गेंद पर धोनी बोल्ड हो गए. चौथी गेंद नो बॉल करार दी गई, जिसे बाद में वापिस ले लिया गया और अप्रत्याशित रूप से धोनी संभवत: पहली बार मैदान में उतरकर अंपायरों से बहस करते दिखे. अगली गेंद पर दो रन बने और आखिरी गेंद पर मिशेल सेंटनेर ने छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें