scorecardresearch
 

India vs SA: 'रहाणे को घरेलू क्रिकेट में समय बिताने की जरूरत', फेल होने पर फिर उठे सवाल

लगातार बुरे फॉर्म से गुजर रहे अजिंक्य रहाणे को लेकर संजय मांजरेकर ने कहा है कि उन्हें अब दोबारा भारतीय घरेलू क्रिकेट में भेजने की जरूरत है. रहाणे केपटाउन टेस्ट की दोनों पारियों में कुल 10 रन ही बना पाए.

Sanjay Manjrekar (Getty) Sanjay Manjrekar (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अजिंक्य रहाणे पर उठे सवाल
  • मांजरेकर ने दी घरेलू क्रिकेट खेलने की सलाह

सीनियर बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को लेकर लगातार कई पूर्व खिलाड़ी सवाल उठाते रहे हैं. केपटाउन टेस्ट में एक बार फिर फ्लॉप होने के बाद रहाणे की टेस्ट टीम में जगह को लेकर सवाल उठने शुरू हो गए हैं. अजिंक्य रहाणे इस पूरे दक्षिण अफ्रीका दौरे में जोहानिसबर्ग टेस्ट की दूसरी पारी के अलावा हाफ सेंचुरी स्कोर करने में नाकाम रहे हैं. पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने भी रहाणे की टीम में जगह को लेकर सवाल उठाया है. 

लगातार बुरे फॉर्म से गुजर रहे अजिंक्य रहाणे को लेकर संजय मांजरेकर ने कहा है कि उन्हें अब दोबारा भारतीय घरेलू क्रिकेट में भेजने की जरूरत है. रहाणे केपटाउन टेस्ट की दोनों पारियों में कुल 10 रन ही बना पाए. मांजरेकर ने कहा, 'रहाणे को अब दोबारा घरेलू क्रिकेट में खेलकर वापसी करनी चाहिए, मैं उन्हें अगला मौका बिल्कुल नहीं दूंगा.'

संजय मांजरेकर ने चेतेश्वर पुजारा के बारे में कहा कि उनका प्रदर्शन अभी भी उन्हें टीम में रखने के लिए ठीक है, लेकिन रहाणे का प्रदर्शन पिछले 3-4 सालों में ऐसा कोई विश्वास पैदा नहीं कर रहा है, 

सिर्फ 20 का औसत

पिछले काफी वर्षों से अजिंक्य रहाणे का बल्ला खामोश है, पिछले 2 सालों में 15 टेस्ट (केपटाउन टेस्ट शामिल नहीं) की 27 पारियों में 547 रन बनाए हैं. रहाणे का एवरेज मात्र 20.25 का है. बतौर सीनियर बल्लेबाज रहाणे का यह प्रदर्शन टीम के लिए एक परेशानी का सबब बना हुआ है.

रहाणे की जगह लेने के लिए टीम में कई युवा बल्लेबाज कतार पर लगे हुए हैं. हनुमा विहारी ने जोहिनसबर्ग में मिले मौके का पूरा फायदा उठाया था और दूसरी पारी में भारतीय टीम के स्कोर को 250 के पार तक ले जाने में अहम भूमिका निभाई था. 

वहीं, श्रेयस अय्यर भी कानपुर टेस्ट में डेब्यू शतक के साथ अपना दावा मजबूत कर चुके हैं. अजिंक्य रहाणे को अभी तक टीम मैनेजमेंट का पूरा साथ मिला है आगे आने वाली श्रीलंका सीरीज के लिए टीम मैनेजमेंट का रुख जानना काफी दिलचस्प होगा. कुछ दिनों पहले कोच राहुल द्रविड़ ने युवा खिलाड़ियों को अपना बारी के लिए और इंतजार के लिए कहा था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×