scorecardresearch
 

तालिबान ने खतरे में डाला अफगानिस्तान क्रिकेट का भविष्य, एक्शन में ICC

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की मंगलवार को हुई बैठक में अफगानिस्तान क्रिकेट को लेकर बड़ा निर्णय लिया गया. अफगानिस्तान में क्रिकेट के स्थिति की समीक्षा करने के लिए ICC ने कार्य समूह का गठन कर दिया है.

X
AFG Team (Getty) AFG Team (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • AFG क्रिकेट की समीक्षा के लिए कार्य समिति का हुआ गठन 
  • महिला क्रिकेट और 2027 विश्व कप को लेकर भी हुए अहम फैसले

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की मंगलवार को हुई बैठक में अफगानिस्तान क्रिकेट को लेकर बड़ा निर्णय लिया गया. अफगानिस्तान में क्रिकेट के स्थिति की समीक्षा करने के लिए ICC ने कार्य समूह का गठन कर दिया है, जिसमें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) अध्यक्ष रमीज राजा भी शामिल हैं. इस कार्यकारी समूह की अध्यक्षता इमरान ख्वाजा करेंगे. इसमें रोस मैक्कुलम, लॉसन नाइडू और राजा भी शामिल है. यह समूह आने वाले महीनों में आईसीसी बोर्ड को अपनी रिपोर्ट देगा.

अफगानिस्तान पर तालिबान के अधिग्रहण के बाद राजनीतिक परिदृश्य में आए बदलाव के कारण अफगानिस्तान क्रिकेट को लेकर अनिश्चितता बन गई है. तालिबान ने महिला क्रिकेट का विरोध किया, जिसके कारण उसकी पुरुष टीम का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकमात्र टेस्ट स्थगित कर दिया गया.

आईसीसी के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले ने कहा, 'पुरुषों और महिलाओं दोनों के क्रिकेट को आगे बढ़ाने के लिए आईसीसी अफगानिस्तान क्रिकेट का समर्थन जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध है. हमें विश्वास है कि इसके लिए सबसे प्रभावी तरीका यह होगा कि हम अपने सदस्य को नई सरकार के साथ अपने संबंधों के माध्यम से इसे प्राप्त करने का अवसर दें.'

आईसीसी बोर्ड ने शीर्ष दो टीमों के बीच फाइनल के साथ दो साल की अवधि में नौ-टीम लीग के अपने मौजूदा स्वरूप में आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप को जारी रखने की मंजूरी दी. गौरतलब है कि 2027 से आईसीसी पुरुष क्रिकेट विश्व कप 14 टीमों का होने जा रहा है.

ऐसे में बोर्ड ने मुख्य कार्यकारी समिति की एक सिफारिश को स्वीकार कर लिया, जिसमें इस आयोजन में भाग लेने वाली टीमों के लिए योग्यता पूर्व निर्धारित रैंकिंग होनी चाहिए. निर्धारित कट ऑफ डेट तक एमआरएफ मेन्स ओडीआई रैंकिंग में 10 सर्वोच्च रैंक इस टूर्नामेंट के लिए सीधे क्वालिफाई करेंगी. बाकी चार टीमों का फैसला वैश्विक क्वालिफायर के माध्यम से किया जाएगा. 

वहीं, अनिल कुंबले के अधिकतम तीन-तीन साल के 3 कार्यकाल के बाद पद छोड़ने के बाद बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली को आईसीसी पुरुष क्रिकेट समिति के अध्यक्ष के पद पर नियुक्त किया गया है.

इसे लेकर आईसीसी के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले ने कहा, 'मुझे आईसीसी पुरुष क्रिकेट समिति के अध्यक्ष के पद पर सौरव का स्वागत करते हुए खुशी हो रही है. दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक और बाद में एक प्रशासक के रूप में उनका अनुभव हमें आगे बढ़ने में मदद करेगा. मैं पिछले नौ वर्षों में अनिल कुंबले को उनके उत्कृष्ट नेतृत्व के लिए भी धन्यवाद देना चाहता हूं.'

महिला क्रिकेट को लेकर हुए ये बदलाव

बोर्ड ने यह भी मंजूरी दी कि महिला क्रिकेट में भी प्रथम श्रेणी और लिस्ट-ए क्लासिफिकेशन को लागू किया जाएगा, ताकि पुरुष क्रिकेट की बराबरी पर लाया जा सके. आगे चलकर आईसीसी महिला समिति को वूमेन्स क्रिकेट समिति के रूप में जाना जाएगा. यह समिति महिला क्रिकेट को लेकर लिए जाने वाले सभी निर्णयों की जिम्मेदारी सीधे सीईसी को देगी. क्रिकेट वेस्टइंडीज के सीईओ जॉनी ग्रेव को आईसीसी महिला क्रिकेट समिति में नियुक्त किया गया है.

ग्रेग बार्कले ने कहा, 'यह बोर्ड की मीटिंग काफी प्रभावशाली रही और मैं अपने साथी बोर्ड निदेशकों को दुबई की यात्रा करने के प्रयासों के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं, ताकि हम दो साल से अधिक समय बाद आमने-सामने बैठक का आनंद ले पाए. इस कोविड-19 के समय में अंतरराष्ट्रीय यात्रा आसान नहीं है, लेकिन हमने एक ही कमरे में रहकर एक महत्वपूर्ण अचीवमेंट प्राप्त किया है.'

'अंत में आईसीसी बोर्ड की ओर से मैं पिछले दो वर्षों में निरंतर प्रतिबद्धताओं के लिए आईसीसी कर्मचारियों को धन्यवाद देना चाहता हूं. यह समय आसान नहीं रहा है और कोरोना वायरस की चुनौतियों से निपटते हुए उन्हें काम करना पड़ा है. उन्होंने बड़ी तत्परता एवं जोश के साथ काम किया है. इसके चलते ही आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप 2021अपने अंजाम तक पहुंचा, जो एक शानदार सफलता रही.' 

 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें