scorecardresearch
 

Virat Kohli vs Sourav Ganguly, BCCI: विराट कोहली को भेजने वाले थे कारण बताओ नोटिस? सौरव गांगुली ने अब जारी किया बयान

पिछले दिनों मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार खबर आई थी कि विराट की उस प्रेस कॉन्फ्रेंस ने सौरव गांगुली ने विराट कोहली को कारण बताओ नोटिस भेजने का फैसला कर लिया था. सौरव गांगुली ने इन रिपोर्ट्स पर अपना बयान जारी करते हुए इन सभी खबरों का खंडन किया है.

X
Sourav Ganguly (Getty) Sourav Ganguly (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विराट को कारण बताओ नोटिस की खबरों का सौरव ने किया खंडन
  • दक्षिण अफ्रीका रवाना होने से पहले विराट ने सौरव गांगुली के दावों को किया खारिज

Virat Kohli vs Sourav Ganguly, BCCI: दिसंबर महीने में भारतीय क्रिकेट में एक नया भूचाल आया. BCCI और सेलेक्टर्स ने मिलकर सीमित ओवरों की क्रिकेट में एक ही कप्तान रखने का निर्णय लेते हुए विराट कोहली की जगह रोहित शर्मा को कप्तान बनाने का निर्णय लिया था. जिसके बाद विराट और बोर्ड अध्यक्ष के बीच का विवाद खुलकर सामने आ गया था.

दरअसल, विराट कोहली ने बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली के दावों को खारिज करते हुए कहा था कि उन्हें किसी ने टी-20 कप्तानी छोड़ने से नहीं रोका, वहीं सौरव ने इसके उलट दावा किया था कि बोर्ड सेलेक्टर्स ने विराट को कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए कहा था और वह नहीं माने. 

सौरव गांगुली ने किया खंडन

पिछले दिनों मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार खबर आई थी कि विराट की उस प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सौरव गांगुली ने विराट कोहली को कारण बताओ नोटिस भेजने का फैसला कर लिया था. सौरव गांगुली ने इन रिपोर्ट्स पर अपना बयान जारी करते हुए इन सभी खबरों का खंडन किया है. एक न्यूज एजेंसी को दिए बयान में सौरव गांगुली ने कहा कि इन बातों में कोई सच्चाई नहीं है. 

इसके पहले मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विराट कोहली के सौरव गांगुली के दावों के खारिज करने के लिए सौरव गांगुली उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करना चाहते थे लेकिन BCCI के सचिव जय शाह ने उन्हें ऐसा करने से रोका. उस वक्त टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए रवाना हो चुकी थी जिसकी वजह से सौरव गांगुली को ऐसा करने से मना किया गया. हालांकि सौरव गांगुली अब खुद इस पूरे मामले में सामने आए हैं और उन्होंने ऐसी सभी खबरों का खंडन किया है. 

क्या है विवाद?

टी-20 विश्व कप से ठीक एक महीने पहले विराट कोहली ने टी-20 टीम की कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था जिसके बाद दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले बोर्ड और सेलेक्टर्स ने मिलकर फैसला लिया कि सीमित ओवरों में की क्रिकेट में एक ही कप्तान रहना चाहिए. रोहित शर्मा को टी-20 के साथ वनडे टीम की कमान सौंपी गई.

इस फैसले के बाद बोर्ड अध्यक्ष ने जानकारी दी थी कि बोर्ड और सेलेक्टर्स ने विराट से टी-20 कप्तानी नहीं छोड़ने का अनुरोध किया था लेकिन वह नहीं माने और सेलेक्टर्स ने आगे चलकर वनडे टीम की कमान भी रोहित के हाथो में दे दी. विराट ने दक्षिण अफ्रीका रवाना होने से पहले सौरव गांगुली के इन्हीं दावों का खारिज करते हुए कहा था कि उन्हें किसी ने कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए नहीं कहा, सभी ने इस फैसले को स्वीकार किया था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें