scorecardresearch
 

आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल होंगे अनिल कुंबले और बेट्टी विल्सन

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और दिग्गज लेग स्पिनर अनिल कुंबले और ऑस्ट्रेलिया की महान महिला क्रिकेटर बेट्टी विल्सन को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच रविवार को होने वाले वर्ल्ड कप मैच के दौरान आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल किया जाएगा.

अनिल कुंबले और बेट्टी विल्सन अनिल कुंबले और बेट्टी विल्सन

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और दिग्गज लेग स्पिनर अनिल कुंबले और ऑस्ट्रेलिया की महान महिला क्रिकेटर बेट्टी विल्सन को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच रविवार को होने वाले वर्ल्ड कप मैच के दौरान आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल किया जाएगा. इनसे पहले इस प्रतिष्ठित सूची में 76 सदस्य शामिल हैं.

आईसीसी क्रिकेट समिति के अध्यक्ष कुंबले आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल होने वाले चौथे भारतीय क्रिकेटर होंगे. उनसे पहले बिशन सिंह बेदी, कपिल देव और सुनील गावस्कर को 2009 में आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल किया गया था. कुंबले के साथ सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर बैटी विल्सन को 78वें सदस्य के रूप में इसमें शामिल किया जाएगा.

अनिल कुंबले ने अपने टेस्ट करियर में भारत के लिए सबसे अधिक 619 टेस्ट विकेट लिए और वह मुथैया मुरलीधरन (800) और शेन वॉर्न (708) के बाद दुनिया भर के टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों में तीसरे स्थान पर हैं.

कुंबले ने वनडे में भी 337 विकेट लिये हैं. कुंबले ने 2007-08 के बीच 14 टेस्ट मैचों में भारत की कप्तानी की. इनमें से भारत ने तीन में जीत दर्ज की जबकि पांच में उसे हार मिली. टेस्ट क्रिकेट के 138 साल के इतिहास में कुंबले इंग्लैंड के जिम लेकर के बाद दूसरे ऐसे गेंदबाज हैं जिन्होंने एक पारी में सभी दस विकेट लिए. उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ फरवरी 1999 में नई दिल्ली में यह उपलब्धि हासिल की थी. कुंबले ने 1990 में मैनचेस्टर में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और अक्टूबर-नवंबर 2008 में नई दिल्ली में अपना आखिरी मैच खेला. उन्होंने 132 टैस्ट और 271 वनडे मैच खेले. उन्होंने 619 टेस्ट और 337 वनडे विकेट लेने के लिए टेस्ट मैचों में 2506 और वनडे में 938 रन भी बनाए.

कुंबले के अलावा पूर्व ऑस्ट्रेलियाई महिला बल्लेबाज बेट्टी विल्सन को भी इस सूची में शामिल किया जा रहा है. विल्सन ने 1947 से 1958 के बीच ऑस्ट्रेलिया के लिए खेले गए 11 टेस्ट में 57.40 की औसत से 862 रन बनाईं और 11.8 की औसत से 68 विकेट चटकाई.

कुंबले और विल्सन को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच मेलबर्न में होने वाले वर्ल्ड कप मैच के दौरान पहली पारी समाप्त होने के बाद आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ फेम में शामिल किया जाएगा. कुंबले को आईसीसी निदेशक और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के चेयरमैन वाली एडवर्डस प्रतीक के तौर पर टोपी प्रदान करेंगे जबकि विल्सन की तरफ से यह सम्मान उनके भतीजे केन विल्सन आईसीसी मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन से हासिल करेंगे.

आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल किये जाने पर कुंबले ने कहा, ‘आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल किया जाना एक सम्मान है. असल में आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2015 के दौरान मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर इसे हासिल करना शानदार क्षण होगा. दुनिया के दिग्गज क्रिकेटरों की सूची में शामिल होना बड़ा सम्मान है.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें