scorecardresearch
 
कॉमनवेल्थ गेम्स 2022

Commonwealth Games 2022: ट्रक ड्राइवर के बेटे हैं गुरुराजा पुजारी, अब कॉमनवेल्थ गेम्स में लहराया भारत का परचम

गुरुराजा पुजारी
  • 1/8

गुरुराजा पुजारी ने कॉमवेल्थ गेम्स 2022 में भारत के लिए ब्रॉन्ज मेडल जीता. गुरुराजा पुजारी ने पुरुष वेटलिफ्टिंग के 61 किलो भार वर्ग में यह उपलब्धि हासिल की. गुरुराजा ने स्नैच में 118 का स्कोर किया, वहीं क्लीन एंड जर्क में 151 का स्कोर बनाया. यानी कि उन्होंने कुल 269 का स्कोर करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया है.

गुरुराजा पुजारी
  • 2/8

29 साल के गुरुराजा पुजारी की कहानी किसी फिल्म की तरह है. साल 2008 के ओलंपिक में जब सुशील कुमार ने मेडल जीता तभी गुरुराजा के मन में रेसलर बनने की इच्छा जागी. इसके लिए उन्होंने अखाड़ा जाना भी शुरू कर दिया लेकिन स्कूल टीचर ने गुरुराजा को कुश्ती की जगह वेटलिफ्टिंग में हाथ आजमाने की सलाह दी.

गुरुराजा पुजारी
  • 3/8

गुरुराजा मूल रूप से कोस्टल कर्नाटक में कुंडूपारा के रहने वाले हैं. उनके पिता ट्रक ड्राइवर हैं. जब गुरुराजा ने वेटलिफ्टिंग करियर शुरू किया था तो शुरू में उनके सामने कई परेशानियां आईं. वेटलिफ्टिंग जैसे खेल में डाइट और सप्लीमेंट्स की सबसे ज्यादा जरूरत होती है. इसके लिए उनके पास पैसे नहीं होते थे.  लेकिन उनके पिता ने उन्हें हिम्मत नहीं हारने दी और बेटे को आगे बढ़ने का हौसला देते रहे.

गुरुराजा पुजारी
  • 4/8

फिर वेटलिफ्टिंग में गुरुराजा ने धीरे-धीरे अपनी पहचान बना ली. हालांकि उन्हें नौकरी की भी तलाश थी, ऐसे में वह सेना में भर्ती होने की कोशिश करने लगे लेकिन छोटे कद के कारण वहां उन्हें मौका नहीं मिला. बाद में उन्होंने एयरफोर्स ज्वाइन किया क्योंकि आर्मी के मुकाबले वहां कद में थोड़ी बहुत रियायत मिलती है. 

गुरुराजा पुजारी
  • 5/8

गुरुराजा पुजारी ने ब्रॉन्ज जीतने को लेकर कहा, 'मुझे लगा कि आज यदि मैं बेस्ट परफॉर्मेंस करूंगा तो मेडल आ सकता है क्योंकि प्रतियोगिता में काफी कम्पटीशन ब्रॉन्ज के लिए 151 किलो वजन उठाने की जरुरत रही. मैं ऐसा करने में कामयाब रहा. मैं बहुत खूश हूं.'

गुरुराजा पुजारी
  • 6/8

गोल्डकोस्ट कॉमनवेल्थ में भी गुरुराजा ने सिल्वर मेडल जीता था. तब गुरुराजा ने स्नैच में 111 का स्कोर किया, वहीं क्लीन एंड जर्क में 138 का स्कोर बनाया. उन्होंने कुल 249 का स्कोर करते हुए रजत पदक अपने नाम किया. स्वर्ण पदक जीतने वाले मलेशिया के इजहार अहमद ने कुल 261 का स्कोर किया था. कांस्य पदक जीतने वाले श्रीलंका के चतुरंगा लकमल ने स्नैच में 110 और क्लीन एंड जर्क में 134 का स्कोर किया था.

गुरुराजा पुजारी
  • 7/8

गुरुराजा ने पिछले साल दिसंबर में गुरुराजा ने ताशंकद में हुई कॉमनवेल्थ चैम्पियनशिप में 61 किलोग्राम भार वर्ग में सिल्वर मेडल जीता था. उस चैंपियनशिप में गुरुराजा ने दो प्रयासों में कुल 265 किलो भार उठाया था. सिल्वर मेडल जीतने के साथ ही गुरुराजा ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के लिए क्वालिफाई कर लिया था.

 

गुरुराजा पुजारी
  • 8/8

गुरुराजा पुजारी ने 2016 के साउथ एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने में सफलता हासिल की थी. तब उन्होंने कुल 241 किग्रा वजन उठाया था. उन्होंने उसी साल पेनांग में कॉमनवेल्थ सीनियर वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में भी गोल्ड जीता, उन्होंने 249 किग्रा (स्नैच में 108 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 141 किग्रा ) वजन उठाया था.