scorecardresearch
 

Blue Zone: 100 साल से भी ज्यादा जीते हैं यहां के लोग, जानिए क्या है इनकी लंबी उम्र का राज

हर कोई लंबी उम्र जीना चाहता है. लेकिन दुनिया के कई इलाके ऐसे हैं जहां के लोग बहुत लंबी उम्र जीते हैं. आज इन्हीं इलाकों के बारे में जानेंगे. साथ ही, लंबी उम्र के राज से भी पर्दा हटाएंगे.

X
Blue Zones में रहने वाले लोग जीते हैं लंबी उम्र (Photo: Getty) Blue Zones में रहने वाले लोग जीते हैं लंबी उम्र (Photo: Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ब्लू ज़ोन के लोग बाकियों की तुलना में ज्यादा जीते हैं
  • न खास जीवन शैली, न खास तरह का खान-पान

इंसान कितनी उम्र तक जीवित रह सकता है ये तो कोई नहीं बता सकता, लेकिन अगर खुद का ख्याल रखा जाए, तो इंसान दीर्घायु हो सकता है. आज हम बता रहे हैं ऐसी जगहों के बारे में जहां के लोग, दीर्घायु होते हैं. साथ ही ये भी बताएंगे कि इन लोगों की लंबी उम्र का राज क्या है.

क्या है ब्लू ज़ोन?

ब्लू ज़ोन (Blue Zone) कोई साइंटिफिक नाम नहीं है, बल्कि ये कुछ खास भौगौलिक क्षेत्रों को दिया गया एक नाम है. यूं समझिए कि ब्लू ज़ोन (Blue Zone) दुनिया के ऐसे इलाके हैं जहां रहने वाले लोग सामान्य लोगों के मुकाबले ज्यादा समय तक जीवित रहते हैं. इन लोगों में पुरानी बीमारियों की दर कम होती है. ये दीर्घायु होते हैं. यहां रहने वाले लोगों की उम्र अक्सर 100 साल से ज्यादा होती है. WHO के मुताबिक, 2019 में दुनिया भर में औसत जीवन प्रत्याशा (Average life expectancy) 73.4 साल थी.

blue zone
90-100 साल तक आराम से जीते हैं ब्लू ज़ोन के लोग (Photo: Getty)

क्यों कहा गया ब्लू ज़ोन?

ब्लू ज़ोन का इस्तेमाल पहली बार लेखक डैन ब्यूटनर (Dan Buettner) ने किया था, जो दुनिया के उन इलाकों पर स्टडी कर रहे थे जहां के लोग असाधारण रूप से लंबा जीवन जीते हैं. इन इलाकों को ब्लू ज़ोन इसलिए कहा गया, क्योंकि जब ब्यूटनर ने इन इलाकों को खोजा, तो उन्होंने मैप पर इलाकों के चारों ओर नीले घेरे बना दिए थे. 

ब्लू ज़ोन में कौनसे इलाके आते हैं?
 
ब्यूटनर ने अपनी किताब 'द ब्लू ज़ोन्स' (The Blue Zones) में, 5 इलाकों को रखा है- 

- इकारिया (Icaria, Greece): इकारिया ग्रीस का एक आइलैंड है जहां लोग जैतून का तेल (Olive oil), रेड वाइन और देसी सब्जियों से भरपूर मेडिटिरेनियन डाइट फॉलो करते हैं. 

- ओग्लिआस्ट्रा, सार्डिनिया (Ogliastra, Sardinia (Italy)): यहां दुनिया के कुछ सबसे बुजुर्ग पुरुष रहते हैं. वे पहाड़ी इलाकों में रहते हैं जहां वे आम तौर पर खेतों में काम करते हैं और बहुत सारी रेड वाइन पीते हैं.

- ओकिनावा (Okinawa, Japan) ओकिनावा में दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिलाएं रहती हैं. ये ज्यादातर सोया से बना खाना खाती हैं और ताई ची का अभ्यास करती हैं.

- निकोया प्रायद्वीप (Nicoya Peninsula, Costa Rica): इस इलाके के लोग नियमित रूप से बुढ़ापे में भी शारीरिक श्रम करते हैं. निकोयन आहार में बीन्स और कॉर्न शामिल होता है. 

- लोमा लिंडा (Loma Linda, California): यहां खासकर सेवन्थ डे एडवेंटिस्ट समूह के लोग दीर्घायु हैं. ये लोग शाकाहारी हैं.

हालांकि ब्यूटनर की किताब में केवल इन्हीं इलाकों के बारे में बताया गया है. हो सकता है कि ऐसे और भी ब्लू जोन हों जिनके बारे में अभी पता नहीं लगा है. कई शोध में पाया गया है कि ब्लू ज़ोन्स में लोगों की औसत आयु 90 से 100 के बीच होती है. 

दिलचस्प बात यह है कि शोध के मुताबिक, दीर्घायु के लिए आनुवांशिकी शायद केवल 20-30% जिम्मेदार है. इसलिए, आहार और जीवन शैली जैसे पर्यावरणीय प्रभाव, आपकी लंबी आयु को निर्धारित करने में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं 

blue zone
सही खान-पान, व्यायाम और नींद बढ़ाते हैं उम्र (Photo: Getty)

ब्लू ज़ोन में रहने वाले लोग लेते हैं 'होल प्लांट फूड' 

ब्लू ज़ोन में रहने वाले लोग 95% पौधों पर आधारित भोजन यानी Whole Plant Foods खाते हैं. ब्लू ज़ोन के लोगो के आहार में आमतौर पर कुछ खास चीजें रहती हैं. ये हैं- सब्जियां, फलियां, साबुत अनाज और ड्राय फ्रूट. कई शोध बताते हैं कि मांस से परहेज किया जाए तो दिल की बीमारी, कैंसर और बाकी बीमारियों का खतरा काफी कम हो सकता है.

वे उपवास करते हैं 

ब्लू ज़ोन के लोग कम कैलरी लेते हैं और उपवास करते हैं. शोध बताते हैं कि सामान्य से कम कैलोरी ली जाए तो जीवन लंबा हो सकता है. इसके अलावा ओकिनावा के लोग 80% रूल को फॉलो करते हैं. यानी जब उन्हें अपना पेट 80% भरा हुआ महसूस होता है तभी वे खाना बंद कर देते हैं. पेट 100% तक नहीं भरते.

वे शराब कम पीते हैं

ब्लू ज़ोन के लोग शराब का सेवन कम करते हैं. इकारियन और सार्डिनियन खान-पान में रोजाना एक से दो ग्लास रेड वाइन पी जाती है, जो दिल की बीमारी रोकने और मृत्यु के जोखिम को कम करने में मदद कर सकती है. कुछ शोधों से पता चला है कि मध्यम मात्रा में रेड वाइन, उम्र बढ़ा सकती है.

व्यायाम दिनचर्या में शामिल है

आहार के अलावा, उम्र को बढ़ाने के लिए व्यायाम बहुत ज़रूरी है. ब्लू जोन में लोग जिम जाकर एक्सरसाइज नहीं करते हैं, बल्कि वे रोजमर्रा के काम ही इस तरह से करते हैं कि ये किसी व्यायाम जैसा ही हो. जैसे चलना, सीढ़ियां चढ़ना, खेतों में काम करना. व्यायाम करने से मृत्यु के जोखिम को 39% तक कम किया जा सकता है.

वे भरपूर नींद लेते हैं

ब्लू ज़ोन में लोग पर्याप्त नींद लेते हैं और अक्सर दिन में झपकी भी ले लेते हैं. 35 शोध के नतीजे बताते हैं कि सात घंटे, सोने के लिए पर्याप्त हैं. बहुत कम या बहुत ज्यादा सोना मृत्यु के जोखिम को बढ़ा सकता है. 

दीर्घायु के लिए कुछ और आदतें भी जिम्मेदार

आहार, व्यायाम और आराम के अलावा, कई अन्य सामाजिक कारक भी हैं जो ब्लू ज़ोन में रहने वाले लोगों की लंबी उम्र में योगदान कर सकते हैं. जैसे इनका धार्मिक या आध्यात्मिक होना, जीवन में किसी उद्देश्य का होना, ज्वाइंट फैमिली में रहना, एक स्वस्थ सामाजिक नेटवर्क होना. 

अगर आप भी ब्लू ज़ोन में रहने वाले लोगों जैसा खान-पान और लाइफ स्टाइल अपना लें, तो आप भी अपने जीवन में कुछ और साल जोड़ सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें