scorecardresearch
 

दुनिया की सबसे पुरानी कली मिली, 16.4 करोड़ साल है इसकी उम्र

पुरातत्वविदों ने दुनिया की सबसे पुरानी कली (Flower Bud) के जीवाश्म को खोज लिया है. यह कली चीन के इनर मंगोलिया इलाके में मिली है. इसकी उम्र 16.4 करोड़ साल है. इस खोज के बाद से वैज्ञानिकों की फूलों वाले पौधों की उत्पत्ति की धारणा बदल गई है. क्योंकि यह कली जुरासिक काल (Jurassic Period) की है. जुरासिक काल 14.5 करोड़ से 20.1 करोड़ साल के बीच था.

X
ये है 16.4 करोड़ साल पुरानी कली का जीवाश्म. (फोटोःNIGPAS ) ये है 16.4 करोड़ साल पुरानी कली का जीवाश्म. (फोटोःNIGPAS )
स्टोरी हाइलाइट्स
  • डायनासोरों के जमाने की कली चीन के इनर मंगोलिया में मिली
  • फूल, पत्ते, तना, कली और फल का जीवाश्म एकसाथ
  • फूलों वाले पौधों की धारणा में आया बदलाव, वैज्ञानिकों को करनी होगी रिसर्च

पुरातत्वविदों ने दुनिया की सबसे पुरानी कली (Flower Bud) के जीवाश्म को खोज लिया है. यह कली चीन के इनर मंगोलिया इलाके में मिली है. इसकी उम्र 16.4 करोड़ साल है. इस खोज के बाद से वैज्ञानिकों की फूलों वाले पौधों की उत्पत्ति की धारणा बदल गई है. क्योंकि यह कली जुरासिक काल (Jurassic Period) की है. जुरासिक काल 14.5 करोड़ से 20.1 करोड़ साल के बीच था. 

पुरातत्वविदों के अनुसार चीन के इनर मंगोलिया इलाके में 4.2 सेंटीमीटर लंबी और 2 सेंटीमीटर चौड़ी कली का जीवाश्म मिला है. इसके साथ इसका तना भी है. जिसमें पत्तों के होने के सबूत भी शामिल हैं. एक गुब्बारे जैसा फूला हुआ फल है, और साथ में एक छोटी कली भी जो 3 वर्ग मिलिमीटर की है. वैज्ञानिकों ने इसे फ्लोरिजर्निनिस जुरासिका (Florigerminis jurassica) नाम दिया है. 

पौधे दो प्रकार के होते हैं. पहला तो फूल देते हैं- यानी एंजियोस्पर्म (Angiosperms). दूसरे जो फूल नहीं देते- यानी जिम्नोस्पर्म (Gymnosperm). नए जीवाश्म में दिख रही कली और फल ये बात स्पष्ट करते हैं कि यह एंजियोस्पर्म है. यह जुरासिक काल में सबसे ज्यादा पाया जाने वाले पौधों में से एक था. अभी तक जो प्राचीन जीवाश्म मिले थे, उनसे पता चला था कि एंजियोस्पर्म 6.6 करोड़ साल से 14.5 करोड़ साल के बीच तक पैदा नहीं हुए थे. ये क्रिटेशियस काल (Cretaceous Period) था. लेकिन नए जीवाश्म ने इस पुरानी अवधारणा को ध्वस्त कर दिया है. 

इस जीवाश्म में कली, फूल, फल, तना और पत्ते भी दिख रहे हैं. (फोटोः NIGPAS)
इस जीवाश्म में कली, फूल, फल, तना और पत्ते भी दिख रहे हैं. (फोटोः NIGPAS)

नानजिंग इंस्टीट्यूट ऑफ जियोलॉजी एंड पैलियोंटोलॉजी के शोधकर्ता जिन वांग ने कहा कि बहुत से पैलियोबॉटैनिस्ट इस जीवाश्म को देखकर हैरान रह जाएंगे. यह किताबों में बताए गए एंजियोस्पर्म से एकदम अलग है. लेकिन मुझे किसी बात की हैरानी नहीं है. यह किसी भी फॉसिलाइज्ड फूल की सबसे पुराना उदाहरण है. इससे पहले साल 2018 में चीन में एक 17.4 करोड़ साल पुराने फूल का जीवाश्म मिला था. जिसका जीनस Nanjinganthus था. इसकी रिपोर्ट eLife जर्नल में प्रकाशित हुई थी. लेकिन इसमें इतनी डिटेल में सारी चीजें नहीं थी, जितनी इस बार मिले जीवाश्म में हैं. 

जिन वांग ने कहा कि Nanjinganthus को लेकर वैज्ञानिकों ने यह सवाल भी उठाया था कि क्या सच में एंजियोस्पर्म है. क्योंकि उसके पत्ते की आकृतियां जिम्नोस्पर्म की तरह थी. क्योंकि फूल बेहद नाजुक होते हैं. उनका जीवाश्म बनना एक बेहद जटिल प्रक्रिया है. अगर वो जीवाश्म बन भी गए तो उनकी अन्य पौधों के साथ तुलना करना या समानता करना बेहद मुश्किल हो जाता है. लेकिन नया जीवाश्म पूरी तरह से एंजियोस्पर्म है. इस बात की तो साफ-साफ पुष्टि होती है. 

जुरासिक काल के जो अन्य पौधे खोजे गए हैं, उनमें शामिल हैं - Nanjinganthus, Juraherba, Yuhania, Jurafructus, Xingxueanthus and Schmeissneria. वैज्ञानिकों का मत है कि ये भी एंजियोस्पर्म हो सकते हैं. लेकिन जिन वांग का कहना है कि जब तक इनके जीवाश्म का विस्तृत अध्ययन नहीं कर लेते, किसी नतीजे पर पहुंचना मुश्किल है. क्योंकि इनमें से कई जेनेरा जिम्नोस्पर्म से मिलते हैं. ये सभी जुरासिक काल में हुए थे. यह स्टडी हाल ही में जियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ लंदन में प्रकाशित हुई है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें