scorecardresearch
 

Navratri: पान के पत्तों से इस तरह करें मां दुर्गा की पूजा, होगा धन लाभ

पूजा-पाठ में पान के पत्ते का प्रयोग किया जाता है. इसको शुभ कार्य की शुरुआत के लिये भी प्रयोग करते हैं. देवी की उपासना में पान के पत्ते से विशेष मनोकामनाएं पूरी की जा सकती हैं. नवरात्रि की पूजा में पान के पत्ते का बहुत महत्व माना जाता है.

पान के पत्तों से करें मां दुर्गा की पूजा पान के पत्तों से करें मां दुर्गा की पूजा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पान के पत्ते के कई लाभ
  • पूजा-पाठ में होता है प्रयोग
  • नवरात्रि में बढ़ जाता है महत्व

पान का पत्ता एक विशेष लता का पत्ता है. इसका प्रयोग औषधि के रूप में भी किया जाता है. यह पाचन तंत्र को अच्छा और शरीर को विषमुक्त करता है. भारत में इसे प्राचीनकाल से काफी पवित्र माना जाता है. यहां तक की इसका उल्लेख वेदों में भी किया गया है.  लगभग हर तरह के पूजा अनुष्ठान में इसका प्रयोग होता है. इसको शुभ कार्य की शुरुआत के लिये भी प्रयोग करते हैं. देवी की उपासना में पान के पत्ते से विशेष मनोकामनाएं पूरी की जा सकती हैं.

पान के विशेष प्रयोग के लिए किन बातों का ध्यान रखें?

पान का पत्ता पूरा होना चाहिए और इसमें डंठल लगी होनी चाहिए. पान का पत्ता कहीं से भी कटा-फटा न हो. पूजा और प्रयोग के लिए हरे पान का पत्ता ही प्रयोग करें.

शीघ्र विवाह के लिये पान के पत्ते का प्रयोग

सिन्दूर को घी में मिलाकर पेस्ट बना लें. पान के पत्ते पर चिकनी तरह इस पेस्ट से अपना नाम लिखें. इसको चिकनी तरफ से ही देवी को अर्पित करें. ये प्रयोग नवरात्रि में लगातार तीन दिन करें.

धन लाभ के लिये पान के पत्ते का प्रयोग

नवरात्रि में रोज शाम को मां लक्ष्मी की कपूर से आरती करें. इसके बाद पान के पत्ते पर गुलाब की पंखुड़ियां रखकर उन्हें अर्पित करें. नवरात्रि के बाद ये प्रयोग हर पूर्णिमा की रात्रि को करते रहें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें