scorecardresearch
 

कर्ज से लेकर मांगलिक तक, ये 4 समस्याएं दूर करेगा मंगल, जानें उपाय

मंगल ग्रह मकर राशि में उच्च होता है, जबकि कर्क इसकी नीच राशि है. किसी जातक का मंगल अच्छा हो तो वह स्वभाव से निडर होता है लेकिन मंगल की दशा खराब होने पर जीवन में कई कठिनाइयां आती हैं.

कुंडली में मंगल अशुभ स्थिति में हो तो कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है कुंडली में मंगल अशुभ स्थिति में हो तो कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है

ज्योतिष में मंगल ग्रह ऊर्जा, भाई, भूमि, शक्ति, साहस, पराक्रम, शौर्य का कारक होता है. मंगल ग्रह को मेष और वृश्चिक राशि का स्वामित्व प्राप्त है. किसी जातक का मंगल अच्छा हो तो वह स्वभाव से निडर होता है लेकिन अगर किसी जातक की जन्म कुंडली में मंगल अशुभ स्थिति में बैठा हो तो जातक को कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. कुछ खास उपाय करने से मंगल ग्रह इन चार बड़ी समस्याओं को दूर कर सकता है.

कर्ज की समस्या होने पर- अगर आप कर्ज की समस्या से परेशान हैं और आपकी जन्म पत्रिका में मंगल ग्रह पीड़ित है  तो आप दिन प्रतिदिन कर्ज की समस्या में फंसते जाएंगे.

उपाय- किसी भी मंगलवार के दिन सुबह के समय लाल चंदन में गंगाजल मिलाएं.

- एक चौकोर भोजपत्र पर मंगल देवता के 21 नामों को लिखें.

- इस भोजपत्र को अपने घर के मंदिर में रखें हर दिन सुबह के समय धूप दीप इस भोजपत्र को दिखाएं.

- दोपहर के समय जरूरतमंद लोगों को मीठा भोजन कराएं.

-  ऐसा करने से आप कर्ज की स्थिति से धीरे-धीरे बाहर आ जाएंगे.

अगर आप मांगलिक है- यदि आप की लग्न कुंडली में मंगल ग्रह लग्न /चतुर्थ /सप्तम /अष्टम या बारहवें भाव में है तो आप मांगलिक है और मंगल ग्रह कभी कभी शुभ परिणाम नहीं दे पाता है  मांगलिक होने का दुष्प्रभाव आपके ऊपर आता है. आप क्रोध बहुत अधिक करते है या जल्दबाजी से अपना काम खुद बिगाड़ लेते है.

उपाय- मांगलिक दोष के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए हर दिन सुबह के समय पूर्व दिशा की तरफ मुंह करके हनुमान चालीसा का 5 बार पाठ करें.

- ऐसा करने से आपका क्रोध भी कम होगा और आपके कार्य बनेंगे.

ये भी पढ़ें: 6 महीने बाद फिर खुलेंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट, ये है तारीख

साहस की कमी होने पर- कुंडली मे मंगल कमजोर है तो साहस की कमी के साथ साथ रिश्तों की समस्या भी हो जाती है. आप किसी भी मुसीबत का सामना नहीं कर पाएंगे और रक्त की कमी भी हो जाएगी.

उपाय- अपने सभी छोटे भाइयों से अपने संबंधों को मधुर बनाएं.

- मंगलवार की दोपहर के समय मीठा भोजन जरूरतमंद लोगों को बांटे.

- किसी विद्वान की सलाह लेकर एक तिकोना मूंगा अपनी अनामिका उंगली में जरूर धारण करें.

जमीन जायदाद का विवाद होने पर- मंगल ग्रह के नीच राशि में होने या पीड़ित होने से  भूमि भवन से संबंधित वाद विवाद हो जाता है.

उपाय- शुक्ल पक्ष के मंगलवार के दिन सूर्य उदय के समय  तांबे की धातु का बना हुआ शुद्ध मंगल यंत्र अपने घर की दक्षिण दिशा में स्थापित करें.

- धूप दीप लाल चंदन और लाल फूल से पूजन करें और ॐ भौमाय नमः मंत्र का 108 बार रोज जाप करें.

-  ऐसा करने से भूमि भवन से संबंधित वाद विवाद में आप की जीत होगी.

ये भी पढ़ें: इस एक राशि पर ढाई साल भारी रहेगा शनि, शुरू हुई साढ़े साती

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें