scorecardresearch
 

Sun Transit 2021: सूर्य का तुला राशि में प्रवेश, इन 6 राशियों के जातक रहें सावधान

Surya Rashi Parivartan 2021: ऊष्मा और प्रकाश के स्रोत सूर्य 17 अक्टूबर 2021 दिन रविवार को राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं. सूर्य सबसे मजबूत ग्रहों में से एक है, जो शक्ति, स्थिति, अधिकार और प्रभुत्व का प्रतिनिधित्व करता है. सूर्य का तुला राशि में प्रवेश सबसे कमजोर स्थिति में यानि नीच अवस्था में होगा. इस जातकों में असंतोष की भावना हो सकती है. आपको लगेगा कि आपके अच्छे काम और प्रयासों का अच्छा फल आपको नहीं मिल रहा. साथ ही आप में ऊर्जा और जीवन शक्ति की कमी महसूस होगी.

X
सूर्य का तुला राशि में गोचर सूर्य का तुला राशि में गोचर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 16 नवंबर 2021 तक सूर्य तुला राशि में ही रहेंगे
  • सूर्य का राशि परिवर्तन जीवन में लाएगा उथल-पुथल

Surya Rashi Parivartan 2021 Effect: सूर्य का तुला राशि में गोचर काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. ज्योतिष के अनुसार सूर्य 17 अक्टूबर 2021 को दोपहर 1:00 बजे तुला राशि में गोचर करेंगे जो 16 नवंबर 2021 को दोपहर 12.49 बजे तक इसी राशि में रहने के बाद वृश्चिक राशि में प्रवेश कर जाएंगे. ये परिवर्तन पांच राशियों के जातकों के लिए शुभ नहीं रहेगा. इस दौरान इन राशियों के जातकों को सावधान रहने की सलाह दी गई है. जानें सूर्य का ये परिवर्तन सभी 12 राशियों पर क्या प्रभाव डालेगा. 

इन पांच राशियों के लिए नहीं शुभ 
1. मेष राशि (Aries):
मेष राशि के जातकों के लिए, सूर्य पंचम भाव का स्वामी है और विवाह, साझेदारी के सातवें घर में गोचर कर रहा है. इस दौरान आप थोड़े अहंकारी होंगे और अपने समुदाय या सहकर्मियों के बीच सम्मान हासिल करने के लिए अपने ज्ञान को बढ़ाने की कोशिश कर सकते हैं. यदि एक संयुक्त उद्यम में काम कर रहे हैं, तो आपको सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि ये समय साथी या अधीनस्थों के साथ संघर्ष ला सकता है. ये टकराव बड़े झगड़े में बदल सकते हैं.

2. वृषभ राशि (Taurus): वृषभ राशि के जातकों के लिए सूर्य चौथे घर का स्वामी है और प्रतियोगिता, शत्रुओं और ऋणों के छठे घर में यह गोचर कर रहा है. जो लोग घर खरीदने की योजना बना रहे हैं, उन्हें इंतजार करना चाहिए क्योंकि समय बहुत अनुकूल नहीं है और आप विवादित संपत्ति खरीदने के लिए तैयार हो सकते हैं. इस अवधि में आपके दुश्मन आप पर हावी हो जाएंगे, इसलिए आपको सावधान रहने की सलाह दी जाती है.

3. कर्क राशि (Cancer): कर्क राशि के जातकों के लिए बृहस्पति उनके छठे और नौवें भाव का स्वामी है और इस काल के दौरान यह उनके सातवें भाव यानी कि व्यवसाय, विवाह और साझेदारी के भाव में मार्गी होगा. पेशेवर रूप से देखा जाए तो इस दौरान आपका अपनी टीम के सदस्यों और सहकर्मियों से किसी बात पर विवाद हो सकता है जिससे आपकी मानसिक शांति भंग हो सकती है.

4. कन्या राशि (Virgo): कन्या राशि के जातकों के लिए सूर्य बारहवें भाव का स्वामी है और संचित धन, वाणी और भौतिक संपत्ति के दूसरे भाव में गोचर कर रहा है. आप इस अवधि के दौरान बहुत खर्च करेंगे, इससे आपकी बचत भी प्रभावित हो सकती है. आपको सलाह दी जाती है कि आप बजट बनाए रखें और अपने पैसों के मामलों में सावधान रहें, अन्यथा आपको इस अवधि के दौरान अपनी सावधि जमा या संपत्ति को तोड़ना पड़ सकता है.

5. धनु राशि (Sagittarius): धनु राशि वालों के लिए, सूर्य नौवें घर का स्वामी है और आय और लाभ के 11वें घर में इसका गोचर हो रहा है. आपको अपने वित्तीय मामलों में कुछ अस्थिरता का सामना करना पड़ सकता है. आप इस अवधि के दौरान अपने पिता के साथ भी दिक्कतों का सामना कर सकते हैं. आपके अपने परिवार के साथ वित्त या संपत्ति से संबंधित कुछ झगड़े भी हो सकते हैं. 

6. कुंभ राशि (Aquarius): कुंभ राशि के जातकों के लिए सूर्य नौवें घर जिसे कर्म, धर्म और पिता का कारक माना जाता है में गोचर करेगा. आप इस अवधि के दौरान बहुत बोल्ड होंगे, लेकिन इस समय आप अहंकारी रवैया भी अपना सकते हैं. आपमें कड़वी भावनाएं होंगी और बिना किसी दिशा के निराश होंगे. इस वजह से आपमें आत्मविश्वास की भी कमी देखी जा सकती है.

अन्य राशियों पर क्या रहेगा प्रभाव 
 7. मिथुन राशि (Gemini):
मिथुन राशि के जातकों के लिए, सूर्य तीसरे घर का स्वामी है और बच्चों, संबंधों, मनोरंजन के पांचवें घर में यह स्थानांतरित हो रहा है. आप इस अवधि के दौरान साहस और सहनशक्ति में कमी महसूस कर सकते हैं। जो लोग रोमांटिक संबंधों में हैं, उनके पास एक अच्छा समय होगा, आप अपने साथी के साथ एक मजबूत बंधन साझा करेंगे और आपका प्रिय व्यक्ति आपकी मजबूत भावनाओं के प्रति ग्रहणशील होगा.

8. सिंह राशि (Leo): सिंह राशि के जातकों लिए सूर्य प्रथम भाव का स्वामी है और तीसरे भाव में गोचर कर रहा है. आप इस अवधि के दौरान ऊर्जा की कमी महसूस करेंगे. आप सफलता के लिए जोर लगाएंगे और अपनी पूरी कोशिश में लग जाएंगे, लेकिन आपके प्रयासों का बहुत अच्छा फल मिलने की उम्मीद कम है. आपको अपनी परियोजनाओं को पूरा करने में बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है और अपने प्रयासों में उपलब्धि हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी.

9. तुला राशि (Libra): तुला राशि वालों के लिए, सूर्य ग्यारहवें घर का स्वामी है और यह आपकी ही राशि में गोचर कर रहा है, जो आपके सामान्य स्वभाव और आत्मा का प्रतिनिधित्व करता है. आप इस अवधि के दौरान अपने रूप और व्यक्तित्व के बारे में बहुत सचेत रहेंगे. आपको एक अच्छी दिनचर्या का पालन करने की सलाह दी जाती है, इससे आपकी शारीरिक शक्ति में वृद्धि होगी और इससे आपको मानसिक संतुष्टि भी मिलेगी.

10. वृश्चिक राशि (Scorpius): वृश्चिक राशि के जातकों के लिए, सूर्य दसवें घर का स्वामी है और खर्च और विदेश के बारहवें घर में यह गोचर करेगा. आप अपने व्यक्तिगत के साथ-साथ पेशेवर जीवन में भी इस दौरान बोल्ड और दुस्साहसी रहेंगे। जो लोग एमएनसी में काम कर रहे हैं, उनके लिए एक अच्छी अवधि होगी, आपके पास इस समय के दौरान आरामदायक और तनाव मुक्त काम होगा.

11. मकर राशि (Capricornus): मकर राशि के जातकों के लिए, सूर्य आठवें घर का स्वामी है और यह आपके दसवें घर जिसे पेशे, अधिकार, नाम और प्रसिद्धि का घर कहा जाता है में गोचर कर रहा है. सूर्य का यह स्थान आपके लिए मिश्रित परिणाम ला सकता है. आप इस समय संपत्ति में निवेश कर सकते हैं, और आप इस अवधि के दौरान पैतृक संपत्ति से धन प्राप्त कर सकते हैं. 

12. मीन राशि (Pisces): मीन राशि के जातकों के लिए सूर्य आपके छठे घर का स्वामी है और आपके जादू-टोने, रहस्यों और अनिश्चितताओं के आठवें घर में इसका गोचर होगा. यह समय आपके लिए उतना अनुकूल नहीं कहा जा सकता. आप अपने कार्यों में कई बाधाओं का सामना करेंगे, आप मानसिक तनाव में भी बेचैन रहेंगे. अपनी जीवनशैली में ध्यान को शामिल करने से आपका मन शांत हो सकता है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें