scorecardresearch
 
राशिफल

राहु-केतु का राशि परिवर्तन, 18 महीने 5 राशियों के लोग रहें संभलकर

राहु-केतु की बदल रही चाल
  • 1/13

राहु केतु 23 सिंतबर को राशि परिवर्तन करने जा रहे हैं. राहु-केतु के इस गोचर को साल की सबसे बड़ी खगोलीय घटना बताया जा रहा है. इस दिन राहु वक्री अवस्था में मिथुन से वृषभ राशि में गोचर करेगा. जबकि केतु धनु से वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा. ज्योतिषविदों का कहना है कि इन दो ग्रहों की हलचल इंसान की जिंदगी पर सबसे ज्यादा असर डालती है. आइए जानते हैं कि 23 सितंबर को राहु-केतु के राशि परिवर्तन का सभी राशियों पर कैसा प्रभाव होगा.

मेष
  • 2/13

राहु का गोचर आपकी राशि से दूसरे भाव में रहेगा,.  इस गोचर के सहयोग से भी आप अपने व्यवसाय में कुछ नया कर दिखाने में कामयाब होंगे. आय और लाभ के लिए भी समय बेहतर रहेगा. आप किसी ने कार्य में रुचि ले सकते हैं, जिसमें आपको धन लाभ होगा. जबकि केतु राशि से अष्टम भाव में गोचर करेगा. कुछ व्यर्थ की यात्राओं से मानसिक तनाव बना रहेगा. पिता के साथ मतभेद हो सकते हैं. प्रॉपर्टी के निवेश के बारे में अभी विचार त्याग दें तो बेहतर रहेगा. खर्चे काफी बढ़ सकते हैं.

वृषभ
  • 3/13

राहु का गोचर वृषभ राशि में ही होने जा रहा है. राहु के इस भाव में आने से खर्चों में तेजी से बढ़ोतरी होगी. नौकरी में भी तनाव भरा माहौल बना रहेगा. आपको बहुत ही सावधानी से  समय निकालना होगा. जबकि केतु आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर करेगा. केतु का यह गोचर पारिवारिक सुख के लिए उत्तम नहीं होगा. कर्ज के लेन-देन से भी इस समय में सावधान रहें और किसी की भावुकता में आ कर धन का लेन-देन ना करें.

मिथुन
  • 4/13

आपकी राशि के 12वें भाव में राहु के आने से साल की शुरुआत कुछ मानसिक तनाव और भ्रम के साथ हो सकती है. इस गोचर के दौरान आर्थिक मामलों में भी सावधानी बरतें. व्यापारिक मामलों में बड़ा नुकसान हो सकता है. जबकि केतु आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेगा. केतु भी व्यापारी वर्ग के लोगों को मुश्किल में डालेगा. यह समय प्रतियोगिता में अधिक ध्यान देने का है और नौकरी के क्षेत्र में भी अपने काम पर ज्यादा ध्यान देने और मेहनत से कार्य करने की जरूरत होगी.

कर्क
  • 5/13

कर्क राशि से एकादश भाव में राहु गोचर से खर्चों में बढ़ोतरी हो सकती है. हालांकि. इस वर्ष आपका रुका हुआ धन या किसी को दिया हुआ धन वापिस मिल सकता है. वहीं केतु केतु आपकी राशि से पांचवें भाव में गोचर करेगा. आपके बनते कार्य में भी रुकावटें आ सकती है. आपके प्रतिद्वंद्वी ही आपके सामने सिर उठा सकते है. शिक्षा के क्षेत्र में जो विद्यार्थी प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे है, उनको विशेष रूप से पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान देना होगा. केतु की चाल बदलते ही आपका कोई पुराना प्रेमी फिर से संपर्क में आ सकता है.

सिंह
  • 6/13

राहु गोचर आपकी राशि से दशम भाव में गोचर करेगा. आर्थिक स्थिति बेहतर होगी. निवेश के मामले में सोच समझकर फैसला लें. वैवाहिक सुख को लेकर कुछ तनाव बना रह सकता है. वहीं, केतु आपकी राशि से चौथे भाव में गोचर करेगा. इस समय जीवन में किसी बड़े बदलाव के बारे में बिल्कुल ना सोचें. इस समय में जमीन से जुड़ा कोई भी निवेश न करें. केतु आपके हाथ आया रुपया टिकने में मुश्किलें पैदा करेगा.

कन्या
  • 7/13

कन्या राशि में राहु नवम भाव में गोचर करेगा. इस वर्ष आपका रुका हुआ धन या किसी को दिया हुआ धन वापिस मिल सकता है. यह समय आर्थिक स्थिति के लिए बहुत बेहतर रहेगा. जबकि केतु आपकी राशि से तीसरे भाव में रहेगा. इससे परिवार में अशांति का माहौल बना रहेगा. वाहन को लेकर भी सावधान रहें. अचानक दुर्घटना के योग बनेंगे. व्यवसाय के क्षेत्र में भी किसी कारणवश तनाव बना रहेगा.

तुला
  • 8/13

राहु का अष्टम यानि भाग्य भाव में गोचर होने से साल की शुरुआत में ऐसा लगेगा की सभी काम बन रहे है. लेकिन किसी कारण से रुकावट आने से समय से काम नहीं बन पाएंगे. अचानक किसी शोध में रुचि होगी और विदेश जाने का अवसर प्राप्त होगा. जबकि केतु आपकी राशि के दूसरे भाव में गोचर करेगा. अपने धन को लेकर चिंता बनी रहेगी. वैवाहिक जीवन में जीवन साथी को कार्य में नई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी का माहौल बनेगा. जीवनसाथी की सेहत का भी ध्यान रखें.

वृश्चिक
  • 9/13

राहु का गोचर सप्तम भाव में होने से आप अपने वैवाहिक जीवन को लेकर तनाव में रहेंगे. किसी प्रकार की गलतफहमी की वजह से लोगों से आपसी दूरी हो सकती है. वहीं, केतु का गोचर आपकी ही राशि में होने से भटकाव की स्थिति बन सकती है. अगर किसी नए काम की शुरुआत करने जा रहे हैं तो किसी शुभचिंतक की सलाह जरूर ले लें. किसी डर या वहम में न पड़ें और कोई महत्वपूर्ण निर्णय न लें.

धनु
  • 10/13

राहु का गोचर धनु राशि से छठे भाव में वृषभ राशि में होगा. इस भाव में राहु बहुत शुभ फल देता है और शत्रुओं पर विजय देता है. कोर्ट कचहरी में कोई केस चल रहा था तो राहु आपको जीत दिलाएगा. वहीं केतु का गोचर 12वें भाव में रह कर वैवाहिक जीवन में मतभेद पैदा करेगा. इस दौरान साथी के साथ तनाव की स्थिति बन सकती है. नौकरी में नए पद का अवसर मिलेगा. अधिक फायदा होने की बजाय खर्चा काफी बढ़ेगा.

मकर
  • 11/13

राहु का गोचर पंचम भाव में होने से सोच में भ्रम सा महसूस करेंगे और निर्णय लेने में खुद को कमजोर महसूस करेंगे. संतान के साथ किसी गलतफहमी की वजह से तनाव हो सकता है. केतु का गोचर एकादश भाव में होगा. नए अवसर प्राप्त होंगे, पर मानसिक रूप से कुछ तनाव भी रहेगा. संतान पक्ष से किसी तरह का मतभेद रहेगा और उनका अपनी शिक्षा से भटकाव होने पर पढ़ाई में मन नहीं लगेगा.

कुंभ
  • 12/13

राहु का गोचर आपके चतुर्थ भाव में होगा जिससे पारिवारिक जीवन से थोड़ी असंतुष्टि हो सकती है और आपको अति व्यस्तता के चलते परिवार से दूर जाना पड़ सकता है. ऐसे में अपने परिवार को अपना पूरा समय दें जिससे आप के बीच में प्रेम बना रहे. जबकि केतु का गोचर राशि से दशम भाव में होगा. इस समय में नए व्यापार के बारे में न सोचें और न ही व्यापार में धन निवेश करें.

मीन
  • 13/13

राहु मीन राशि से तीसरे भाव में गोचर करेगा. राहु का यह गोचर आपकी सभी परेशानी दूर करेगा और उत्साह व आत्मबल बढ़ाएगा. यह समय नया काम करने के लिए भी उत्तम रहेगा. केतु का गोचर आपके भाग्य भाव में होने से धार्मिक यात्राओं का योग बनाएगा और विदेश जाने का अवसर भी देगा. पिता की सेहत का ध्यान रखें और उनके साथ किसी तरह के मतभेद ना बढ़ाएं.