scorecardresearch
 

उदयपुर: कन्हैया मर्डर केस का एक और CCTV फुटेज, हत्या के बाद ऐसे भागे थे रियाज और गौस

टेलर कन्हैया लाल की हत्या के बाद गौस मोहम्मद और रियाज अजमेर हाइवे पर अमजद नाम के एक शख्स पास पहुंचे थे. अमजद की दुकान पर जब दोनों कपड़े बदल रहे थे, तब एक शख्स उनकी बाइक लेकर पेट्रोल पंप पहुंचा और वहां पर 600 का पेट्रोल डलवाया.

X
पेट्रोल डलवाता शख्स पेट्रोल डलवाता शख्स
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमजद की दुकान पर गए थे दोनों हत्यारे
  • एक शख्स ने दोनों की बाइक में भरवाया था पेट्रोल

उदयपुर के कन्हैया लाल हत्याकांड में एक नया सीसीटीवी सामने आया है, जो 4 बजकर 11 मिनट पर अजमेर हाइवे के एक पेट्रोल पंप का है. दरअसल जांच में सामने आया है कि कन्हैया लाल की हत्या करने के बाद गौस मोहम्मद और रियाज जब फरार हुए तो पहले उन्होंने SK इंजीनियरिंग वर्कशॉप में वीडियो बनाया और उसको वायरल किया.

इसके बाद गौस मोहम्मद और रियाज अजमेर हाइवे पर अमजद नाम के एक शख्स पास पहुंचे थे. उसकी वेल्डिंग की दुकान है. दोनों ने दुकान के अंदर कपड़े बदले. जब कपड़े बदल रहे थे, तब एक शख्स उनकी बाइक लेकर पेट्रोल पंप पहुंचा और वहां पर 600 का पेट्रोल डलवाया. उस शख्स की तस्वीरें सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुई है. 

इस शख्स ने हेलमेट लगाया हुआ है और यह सीसीटीवी शाम 4:11 का है. एनआईए की टीम भी अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए इस पेट्रोल पंप पर पहुंची थी और सीसीटीवी की जांच भी की थी. पेट्रोल डलवाने के बाद वह शख्स वापस अमजद की दुकान पर पहुंचा, जहां पर उसने बाइक गौस मोहम्मद और रियाज सौंप दी. इसके बाद दोनों आगे की तरफ निकल पड़े. 

यहां देखें पेट्रोल पंप का सीसीटीवी फुटेज

अमजद की दुकान के आसपास के लोगों ने बताया कि दुकान 28 जून से ही बंद है पुलिस की टीम आज यहां छानबीन के लिए दुकान पर पहुंची थी. इससे पहले कन्हैया लाल हत्याकांड में NIA ने एफआईआर दर्ज की थी. इसमें आरोपियों के खिलाफ गंभीर धाराएं लगाई गई हैं. कन्हैया लाल के बेटे यश के बयानों के आधार पर एनआईए ने केस दर्ज किया है.

क्या है पूरा मामला

एफआईआर में कहा गया है कि 28 जून को कन्हैया लाल की दुकान में घुसकर निर्ममता से हत्या कर दी गई थी. हत्यारे रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद कपड़े सिलवाने के बहाने दुकान में घुसे थे. इस दौरान जब कन्हैया लाल नाप लेने लगे तो आरोपियों ने छुरा और चाकुओं से हमला कर दिया. घटना में दुकान में काम करने वाले दो कर्मचारी भी घायल हुए हैं. 

म्यूजिक से भी नफरत करता था रियाज

रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद के दावत-ए-इस्लामी संगठन से संबंध सामने आए हैं. इनमें से एक हत्यारे के ऑडियो कॉल आजतक के हाथ लगे हैं. ऑडियो की बातचीत से पता चलता है कि मुख्य आरोपी म्यूजिक से भी नफरता था. कहता था कि ये पाप है. रियाज की कन्हैयालाल हत्याकांड से पहले ही कट्टरपंथी विचारधारा थी. इसके लिए वह खुलकर लोगों का ब्रैन वॉश भी करता था.

दोनों बेटों को मिलेगी सरकारी नौकरी

इस बीच उदयपुर की घटना में मारे गए कन्हैयालाल के बेटे यश तेली और तरुण तेली को सरकारी सेवा में नियुक्त करने का फैसला किया है. यश और तरुण को राजस्थान अधीनस्थ कार्यालय लिपिक सेवा (संशोधन) नियम, 2008 और 2009 के नियम 6सी के तहत नियुक्ति के नियमों में छूट दी गई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें