scorecardresearch
 

Udaipur Killing: कन्हैयालाल हत्याकांड में बड़ा एक्शन, उदयपुर शहर के ASP अशोक कुमार मीणा सस्पेंड

Udaipur Killing: उदयपुर शहर के एएसपी अशोक कुमार मीणा को प्रदेश सरकार ने सस्पेंड कर दिया है. दरअसल 28 जून को कन्हैयालाल की हत्या कर दी गई थी. इससे पहले उन्हें धमकी दी गई थीं. लेकिन पुलिस ने उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया नहीं कराई.

X
टेलर कन्हैयालाल की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी (फाइल फोटो) टेलर कन्हैयालाल की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 28 जून को हुई थी कन्हैयालाल की हत्या
  • दोनों आरोपियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है

Udaipur Killing: उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की बेरहमी से हत्या के बाद सरकार एक्शन के मूड में आ गई है. प्रदेश सरकार ने उदयपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा ( Additional Superintendent of Police Ashok Kumar Meena) को सस्पेंड कर दिया है. इससे पहले उदयपुर के एसपी मनोज कुमार का ट्रांसफर और ASI भंवरलाल को सस्पेंड किया जा चुका है. 

सरकारी आदेश में कहा गया है कि एएसपी अशोक कुमार निलंबन की अवधि में पुलिस महानिदेशक मुख्यालय पर ही रहेंगे. दरअसल, कन्हैयालाल को धमकी मिली थी, इसकी शिकायत के बावजूद उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई. इसके बाद 28 जून को टेलर कन्हैयालाल की गला काटकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी.

इससे पहले धानमंडी थाने के ASI भंवरलाल को सस्पेंड किया गया था. आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने के 10 दिन पहले धमकी दी थी. इसके बाद ASI ने ही टेलर कन्हैयालाल का आरोपियों से समझौता कराया था.  

वारदात को अंजाम देने के बाद पुलिस ने दोनों आऱोपियों को गिरफ्तार लिया था. लेकिन इस हत्याकांड के बाद उदयपुर औऱ राजसमंद में तनाव व्याप्त हो गया था. प्रदर्शनकारी पुलिस से भिड़ गए थे.

कन्हैयालाल की हत्या के बाद सीएम गहलोत के उदयपुर में मृतक के परिजनों से मुलाकात की थी. इस दौरान गहलोत ने कहा कि ये कोई दो धर्मों के बीच का झगड़ा नहीं था. UAPA की धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है, जिसके बाद NIA ने ये केस ले लिया है. अब NIA त्वरित कार्रवाई करते हुए मुजरिमों को जल्द सजा दिलवाए.(रिपोर्ट-धीरज रावल)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें