scorecardresearch
 

Afghanistan Crisis: गोली, चाबुक और हंटर...देखें तालिबान का 'अंधा इंसाफ'!

Afghanistan Crisis: गोली, चाबुक और हंटर...देखें तालिबान का 'अंधा इंसाफ'!

अफगानिस्तान में तालिबान सरकार बनाने वाला है. सरकार बनाने के लिए कई मुल्ला बरादर समेत कई तालिबानी नेता काबुल पहुंच चुके हैं, लेकिन तालिबानी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. सत्ता की बोली के साथ-साथ वो गोली की भाषा बोल रहे हैं. यही वजह है कि काबुल से लेकर दूसरे प्रांतों तक तालिबानी बंदूकें गरज रही हैं. अब तक लगभग 5 हजार राजनायिक, सुरक्षाकर्मी और उनकी मदद करने वाले अफगानी काबुल एयरपोर्ट से देश के बाहर जा चुके हैं. मगर जो देश में मौजूद हैं वो तालिबानियों की गोलीबारी के खिलाफ आवाज उठाने से नहीं हिचक रहे हैं. देखें ये एपिसोड.

The Taliban is about to form the government in Afghanistan. Many Taliban leaders, including Mullah Baradar, have reached Kabul to form the government, but the Talibans are not deterring their antics. Along with the dialect of power, they are speaking the language of terror. This is the reason why Taliban bullets are firing from Kabul to other provinces. So far, about 5 thousand diplomats, security personnel, and Afghans who help them have been evacuated from Kabul Airport. But those who are present in the country are not hesitant to raise their voice against the Taliban's terrorism. Watch this episode.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें