scorecardresearch
 

हल्ला बोलः कैश की किल्लत किसकी साजिश?

खाली जेब और कतारों में खड़ा आधे देश को नकदी की तलाश है. हालात कुछ सुधरे जरूर हैं, लेकिन संकट खत्म नहीं हुआ है. सरकार कह रही है कि दो-चार दिनों की बात है....सब ठीक हो जाएगा, लेकिन सवाल यह है कि आखिर कैसे? ये सवाल इसलिए भी कि सरकार के सिपहसलार अलग-अलग सुर अलाप रहे हैं और कांग्रेस पर साजिश का आरोप भी लगा रहे हैं. सरकार के आर्थिक सलाहकार ने यह भी कहा है कि हालात सुधारने के लिए सात दिन उनको और चाहिए. अंजना ओम कश्यप के साथ देखिए खास कार्यक्रम हल्ला बोल....

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें