scorecardresearch
 

हल्‍ला बोल

मोदी सरकार के 8 साल, कांग्रेस पूछ रही कई सवाल! देखें हल्ला बोल

28 मई 2022

Modi Govt 8 Years: केंद्र में मोदी सरकार के आठ साल पूरे हो गए हैं. बीजेपी साल-2014 के मुकाबले 2019 में और बड़ी जीत के साथ सत्ता में लौटी है. इस बड़ी जीत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में शुरू की गईं तमाम कल्याणकारी योजनाओं ने अहम भूमिका निभाईं. हालांकि साल 2014 में जब नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने तो उनके सामने कई चुनौतियां थीं. जहां एक ओर बीजेपी इसको लेकर जश्न मना रही है, वहीं कांग्रेस कई प्रश्न पूछ रही है और सरकार पर सवाल दाग रही है. अच्छे दिन पर कांग्रेस गिन गिन कर आरोपों की बरसात कर रही है. आजतक के खास कार्यक्रम हल्ला बोल में इस पर बड़ी बहस की गई. देखें ये एपिसोड.

श‍िवल‍िंंग पर सुराख वाली साज‍िश, ज्ञानवापी में नया ट्व‍िस्ट? देखें हल्ला बोल

27 मई 2022

ज्ञानवापी मसले में शिवलिंग या फव्वारा की बहस बढ़ती जा रही है. मुस्लिम पक्ष बार-बार वजूखाने में मिली आकृति को फव्वारा साबित करने की कोशिश कर रहा है जबकि हिंदू पक्ष उसे शिवलिंग बता रहा है. अब हिंदू पक्ष ये आरोप भी लगा रहा है कि वजूखाने में मिले कथित शिवलिंग का अपमान किया गया और छेड़छाड की गई. ज्ञानवापी की लड़ाई अब सीधे-सीधे शिवलिंग पर उतर आई है. हिंदू पक्ष की दलीलों का पूरा जोर सर्वे में मिले इस सबूत को शिवलिंग साबित करने पर टिका है तो मुस्लिम पक्ष इस दावे का दम निकालने की कोशिश में लगा है. अंजना ओम कश्यप के साथ देखें हल्ला बोल.

ज्ञानवापी पर वाराणसी कोर्ट में अब क्या होगा? देखें हल्ला बोल

26 मई 2022

काशी से लेकर मथुरा तक कानूनी लड़ाई तेज हो गई है. ज्ञानवापी मसले पर आज वाराणसी कोर्ट में फिर सुनवाई हुई. आज अदालत ने मुस्लिम पक्ष को अपनी दलील रखने का मौका दिया. करीब दो घंटे तक चली कार्रवाई के दौरान मुस्लिम पक्ष की दलील पूरी नहीं हो पाई. अब आगे की सुनवाई सोमवार को होगी. इस बीच श्री कृष्णजन्मभूमि ट्रस्ट ने मथुरा कोर्ट को जमीन के मालिकाना हक के दस्तावेज सौंपे हैं. इस पर देखें हल्ला बोल में बड़ी बहस.

यासीन मलिक को सजा से बौखलाया पाकिस्तान, देखें हल्ला बोल

25 मई 2022

प्रतिबंधित संगठन जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के चीफ यासीन मलिक को टेरर फंडिंग के केस में सजा का एलान हो चुका है. दिल्ली की NIA कोर्ट ने यासीन मलिक को उम्रकैद की सजा सुना दी है. इसके साथ ही कोर्ट ने 10 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है. बता दें कि NIA ने यासीन मलिक को सजा ए मौत देने की मांग की थी. गुरुवार को कोर्ट ने टेरर फंडिंग मामले में यासीन को दोषी ठहराया था. यासीन मलिक ने सुनवाई के दौरान कबूल कर लिया था कि वह कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल था. इस पर देखें हल्ला बोल.

कौन है मुसलमानों का भस्मासुर? देखें हल्ला बोल में बड़ी बहस

24 मई 2022

असदुद्दीन ओवैसी ने मुगलों और मुसलमानों पर नया ज्ञान दिया है. उन्होंने कहा कि भारत के मुसलमानों का मुगलों से कोई रिश्ता नहीं है. ओवैसी यहीं रुक जाते तो बात समझ में आती लेकिन उन्होंने आगे ये पूछ लिया कि मुगलों की बीवियां कौन थीं? मतलब ये कि उनका मकसद मुसलमानों का मुगलों से पल्ला झाड़ना नहीं बल्कि हिंदुओं को भड़काना था. उधर, बीजेपी ओवैसी को मुसलमानों का भस्मासुर बता रही है. मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा, 'ओवैसी मुस्लिमों के भस्मासुर हैं. ओवैसी समाज के अंदर विद्वेष फैलाने की नापाक कोशिश लगातार करते रहते हैं. ओवैसी तो यह बताएं कि जब मुगलों से भारत के मुसलमानों का कोई रिश्ता नहीं है, तो जब उनके स्मारकों पर कोई बात आती है तो ओवैसी को बेचैन क्यों हो उठते हैं. उन्होंने आज मातृशक्ति का अपमान किया है'. इस पर देखें हल्ला बोल.

ज्ञानवापी 'मंदिर-मस्जिद' पर अब आगे क्या? देखें हल्ला बोल

23 मई 2022

आज ज्ञानवापी मसले पर वाराणसी जिला कोर्ट में सुनवाई हुई. 45 मिनट की कानूनी जिरह के बाद अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया. अब कल अदालत इस बात का फैसला करेगी कि इस विवाद की आगे सुनवाई की प्रक्रिया क्या हो? यानी कोर्ट तय करेगा कि आगे सुनवाई सिर्फ सीपीसी के आदेश 7 नियम 11 पर ही सीमित रहे या फिर कमीशन की रिपोर्ट के साथ सुनवाई आगे बढ़े. तो क्या कल कोर्ट तय कर देगा किसके दावे में दम है? क्या ज्ञानवापी की असली तस्वीर साफ हो जाएगी? अंजना ओम कश्यप के साथ देखें हल्ला बोल.

महंगाई पर मोदी सरकार की 'सर्जिकल स्ट्राइक'!

22 मई 2022

Excise Duty Cut on Fuel: पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से परेशान लोगों के लिए राहत के दिन आ गए. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कल शाम ट्वीट करके ये खुशखबरी दी कि केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर सेंट्रल एक्साइज ड्यूटी कम कर दी है. केंद्र ने पेट्रोल पर 8 रुपये और डीजल पर 6 रुपये एक्साइज़ ड्यूटी कम की है, जिससे पेट्रोल 9.50 रुपये और डीजल 7 रुपये सस्ता हो गया है. ये कीमतें मध्य रात्रि 12 बजे से लागू हो गईं. बता दें कि सरकार के इस फैसले से सरकारी खजाने पर करीब 1 लाख करोड़ रुपये सालाना का बोझ पड़ेगा. देखें हल्ला बोल.

ज्ञानवापी के नाम पर... सियासत काम पर! देखें हल्ला बोल

21 मई 2022

Gyanvapi Masjid: देश में ज्ञानवापी मामले पर माहौल गर्म है और इसपर सियासत भी चरम पर है. हालांकि इस पूरे मामले में सरकार कोई पार्टी नहीं है लेकिन अदालत के दायरे के बाहर बयानों की फेहरिस्त लंबी है. सत्ताधारी पार्टी हो या विपक्ष हर कोई काशी से मथुरा की लड़ाई में कूद पड़ा है. पीएम मोदी ने प्रत्यक्ष तौर पर तो कुछ नहीं कहा है लेकिन पार्टी को विपक्ष से सावधान जरुर किया है. वहीं राहुल ने लंदन से सरकार पर धावा बोला है. कुल मिलाकर गर्म माहौल पर सियासी धर्म खूब निभाया जा रहा है. बहस इन्हीं मुद्दों के इर्द गिर्द. देखें हल्ला बोल.

ज्ञानवापी केस पर आया SC का आदेश, देखें हल्ला बोल में बड़ी बहस

20 मई 2022

वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट में आज बहस हुई. ज्ञानवापी मस्जिद केस जिला जज को ट्रांसफर कर दिया गया है. इस संबंध में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी कर दिया है. कोर्ट ने कहा कि वुजू की व्यवस्था की जाएगी. इसके साथ ही शिवलिंग का एरिया सील रहेगा. मुस्लिम पक्ष की एक दलील को सुनने के बाद जस्टिस चंद्रचूड़ सिंह ने कहा कि किसी स्थान के धार्मिक चरित्र का पता लगाना वर्जित नहीं है. इस पर हल्ला बोल में देखें बड़ी बहस.

ज्ञानवापी केस: कौन बिगाड़ रहा देश का माहौल? देखें हल्ला बोल

19 मई 2022

ज्ञानवापी की सर्वे रिपोर्ट सामने आ गई है. आजतक के पास वो पूरी रिपोर्ट मौजूद है, जिसमें शिवलिंग जैसी आकृति की बात की गई है. उस आकृति को हिंदू पक्ष शिवलिंग बता रहा है और मुस्लिम पक्ष उसी आकृति को फव्वारा बता रहा है. इसके अलावा भी सर्वे में कई ऐसी चीजों का जिक्र किया गया है, जो ज्ञानवापी विवाद में बड़ा सबूत हो सकता है. देखें हल्ला बोल.

ज्ञानवापी के वजूखाने में 'बाबा' या फव्वारा? देखें हल्ला बोल में बड़ी बहस

18 मई 2022

ज्ञानवापी में जो दावे किए जा रहे हैं उसकी हकीकत क्या है? ज्ञानवापी को लेकर जो वीडियो सामने आ रहे हैं, उनमें क्या राज छिपा है? ज्ञानवापी में शिवलिंग का दावा किया जा रहा है, वो बाबा हैं या फिर फव्वारा है? ज्ञानवापी में छिपे रहस्यों से पर्दा कब हटेगा? आज वाराणसी कोर्ट में दो याचिकाओं पर सुनवाई होनी थी लेकिन वकीलों की कामबंदी की वजह से नहीं हो पाई. इस बीच ज्ञानवापी को लेकर सियासत खूब हो रही है. ओवैसी बेहद गुस्से में हैं और अखिलेश यादव कह रहे हैं कि देश का माहौल खराब किया जा रहा है. इसी पर देखें हल्ला बोल में बड़ी बहस.

इतिहास का मंदिर, विवाद में मस्जिद! देखें हल्ला बोल में बड़ी बहस

17 मई 2022

ज्ञानवापी पर लोअर कोर्ट, हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट- तीनों तरह की अदालतों में लड़ाई जारी है. लोअर कोर्ट के आदेश पर सर्वे कराया गया, जिसमें हिंदूपक्ष ने शिवलिंग मिलने का दावा किया गया. अब सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी किया है कि शिवलिंग के दावे वाली जगह को सुरक्षित किया जाए. सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि नमाज नहीं रोकी जाए. इस पूरी कानूनी लड़ाई के बीच एक हकीकत ये भी है कि ऐसी जगहों की लंबी फेहरिस्त है, जहां मंदिर मस्जिद का विवाद है. तो फिर सवाल ये कि आखिर मंदिर-मस्जिद वाली लड़ाई कहां तक जाएगी? देखें हल्ला बोल.

क्या ज्ञानवापी में पूरा हुआ नंदी का इंतजार? देखें हल्ला बोल

16 मई 2022

ज्ञानवापी में बाबा मिल गए हैं? ये दावा किया जा रहा है सर्वे में शामिल रहे हिदू पक्ष की ओर से. दावा ये है कि ज्ञानवापी में वजूखाने की जगह पर विशाल शिवलिंग मौजूद है जिसका व्यास यानी डायमीटर करीब 12.5 फीट है. हिंदू पक्ष के दावे के बाद कोर्ट ने पुलिस और प्रशासन को उस जगह की सुरक्षा कड़ी करने की जिम्मेदारी दी है जहां पर शिवलिंग मिलने का दावा किया जा रहा है. आज हल्लाबोल में इसी मुद्दे पर चर्चा देखें कि क्या शिव ही सत्य है? देखिए अंजना ओम कश्यप के साथ हल्ला बोल.

मदरसा में राष्ट्रगान तो क्यों घमासान? देखें हल्ला बोल

15 मई 2022

National Anthem in Madrasa: उत्तर प्रदेश में रमजान की छुट्टी के बाद खुल रहे सभी मदरसों में राष्ट्रीय गान गाया जाएगा. इसके लिए आदेश जारी हो गए हैं. 24 मार्च को यूपी मदरसा शिक्षा बोर्ड की बैठक में यह निर्णय लिया गया था, जबकि यूपी अल्पसंख्यक राज्यमंत्री दानिश आजाद अंसारी ने आदेश पारित किया. दानिश आजाद अंसारी के मुताबिक राष्ट्रीय गान सभी मदरसों में किया जाएगा. इसके लिए सभी को सूचित कर दिया गया है. अब महाराष्ट्र के मदरसों में भी राष्ट्रगान की मांग तेज होने लगी है तो वहीं असदुद्दीन ओवैसी का कहना है कि मदरसों को शक की नजर से देखा जा रहा है. मदरसा में राष्ट्रगान तो क्यों घमासान? इस ही विषय पर देखें हल्ला बोल में डिबेट अंजना ओम कश्यप के साथ.

ज्ञानवापी तहखानों के सर्वे में क्या-क्या मिला? देखें हल्ला बोल

14 मई 2022

आज देश में सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है तो सिर्फ ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे को लेकर. आखिर क्या हुआ ज्ञानवापी मस्जिद के ठीक नीचे मौजूद तहखाने में? सर्वे करने गई टीम ने क्या-क्या किया? ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर जिस जांच का इंतजार लंबे अरसे से था, वो आज काफी हद तक पूरा हो गया है. कोर्ट कमिश्नर की मौजूदगी में ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने में जांच हुई है. वहां मौजूद 4 कमरों के सच को कैमरे में कैद किया गया. आज हल्ला बोल में देखें सीधे वाराणसी से ज्ञानवापी सर्वे पर बहस और सबूत में छिपे भविष्य की बात.

आतंक की 'कश्मीर फाइल्स' कब तक? देखें हल्ला बोल

13 मई 2022

आज जम्मू से लेकर कश्मीर तक कश्मीरी पंडितों का गुस्सा सातवें आसमान पर है. उनकी नाराजगी राहुल भट्ट की हत्या को लेकर है. राहुल भट्ट बडगाम में तहसील कर्मचारी थे. कल तीन आतंकी उनके ऑफिस में घुसे, नाम पूछा और उसके बाद उन्हें गोली मार दी. राहुल भट्ट की हत्या के बाद कश्मीरी पंडितों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. बीजेपी नेताओं के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं. आज हल्लाबोल में यही सवाल पूछेंगे कि आखिर आतंक की कश्मीर फाइल्स कब तक? देखिए ये डिबेट अंजना ओम कश्यप के साथ.

Gyanvapi Mosque: मस्जिद की ओर नंदी का मुंह, 17 को सामने आएगा सच?

12 मई 2022

वाराणसी में कोर्ट ने आदेश दिया है कि 17 मई तक ज्ञानवापी का सर्वे पूरा कर लिया जाए, सर्वे होंगे तो कई राज खुलेंगे. सर्वे उस तहखाने का भी होगा जिसमें मंदिर होने के सबूतों का दावा किया जा रहा है. हम आज हल्लाबोल में उन सारे सबूतों की बात करेंगे जिनके बूते ये दावा किया जा रहा है कि वहां मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाई गई है. 17 मई से पहले ज्ञानवापी परिसर के हर हिस्से का संपूर्ण सर्वे होगा, यानी तहखाने का भी सर्वे होगा. ऊपर से कोर्ट कमिश्नर भी नहीं बदलेंगे, दो और कोर्ट कमिश्नर बहाल कर दिये गये हैं. देखें हल्ला बोल अंजना ओम कश्यप के साथ

हल्ला बोल: कौन फैला रहा राजस्थान में हिंसा का जहर?

11 मई 2022

राजस्थान में पिछले 40 दिनों में 5 सांप्रदायिक हिंसा हुई. भीलवाड़ा हफ्ते भर के भीतर दूसरी बार सांप्रदायिक तनाव झेल रहा है. 5 मई को दो समुदायों में भिड़त हई और एक की हत्या हो गई. 10 मई को एक युवक की हत्या कर दी गई और एक बार फिर दोनों समुदाय आमने-सामने आ गए. करौली और जोधपुर की घटनाओं के बाद अब भीलवाड़ा में तनाव पसरा है. सड़कों पर संग्राम है. अब सवाल ये कि आखिर राजस्थान में शहर दर शहर सांप्रदायिक हिंसा का जहर क्यों फैल रहा है? कहीं इसका कनेक्शन करीब आते विधानसभा चुनावों से तो नहीं है? देखें इसी मुद्दे पर आज का हल्ला बोल शो.

देशद्रोह कानून को बदल देगी सरकार? देखें हल्लाबोल 

10 मई 2022

Sedition Law India: अंग्रेजों के जमाने से चला आ रहा देशद्रोह कानून एक बार फिर सुर्खियों में है. केंद्र सरकार इसकी समीक्षा करना चाहती है. इसके लिए सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है. सरकार के हलफनामे पर कोर्ट ने पूछा है कि जो केस हो गए हैं और समीक्षा पूरी होने तक जो होंगे उसपर सरकार का रुख क्या है? मामले की सुनवाई कल फिर होगी. अनेकों बहस, अनेकों टकराव और अनेकों सरकारों के हाथ में सियासी हथियार बनने के सौ साल बाद अब सुप्रीम कोर्ट का लेंस भारत के देशद्रोह कानून पर आ टिका है. आज इसी मुद्दे पर देखें हल्लाबोल अंजना ओम कश्यप के साथ. 

बुलडोजर ताकतवर या सियासत? देखें हल्ला बोल

09 मई 2022

बुलडोजर शाहीन बाग पहुंचा तो जरूर लेकिन बिना कार्रवाई के बैरंग लौट गया. आज दिल्ली के शाहीन बाग में करीब दो घंटे ड्रामा चला और अब उस ड्रामे, हंगामे और बवाल के बाद जबरदस्त सियासत हो रही है. साउथ एमसीडी के मेयर ने एमसीडी कमिश्नर को अमानतुल्लाह खान के खिलाफ FIR दर्ज कराने के लिए चिट्ठी लिखी है. अमानतुल्लाह खान शाहीन बाग के विधायक हैं और आम आदमी पार्टी के नेता हैं. अमानतुल्लाह खान पर अतिक्रमण हटाने वाली कार्रवाई में बाधा पहुंचाने का आरोप है. अंजना ओम कश्यप के साथ देखें शाहीन बाग में हुई बुलडोजर कार्रवाई पर हल्लाबोल में ये डिबेट.

हल्ला बोल: क्या शाहीन बाग में कल चल सकता है बुलडोजर?

08 मई 2022

बुलडोजर अब दहशत और सियासत का नाम बन गया है. उत्तर प्रदेश में सीएम योगी ने माफियों के खिलाफ जो बुलडोजर वाला एक्शन शुरु किया था वो अब हिंसा और दंगों के आरोपियों के बेकाबू होती हिमाकत पर भी चलने लगा है. सिर्फ यूपी में ही नहीं बल्कि देश के कई राज्यों में अब बुलडोजर वाला एक्शन दिख रहा है. 9 मई को दिल्ली के शाहीन बाग में भी बुलडोजर की तैयारी है. शाहीन बाग वही इलाका है जहां CAA के खिलाफ सबसे लंबा आंदोलन चला था. अवैध निर्माण को हटाने के लिए  बुलडोजर तो चलाया जाना है लेकिन सियासत इस पर भी हो रही है. नेताओं को बुलडोजर में भी हिंदू-मुसलमान नजर आ रहा है.  देखिये इस मुद्दे पर हल्ला बोल में बड़ी बहस.