scorecardresearch
 

e-साहित्य आजतक

प्रसून जोशी ने अपनी नानी मां को क‍िया याद, सुनाई भावुकता से भरी ये कव‍िता

24 मई 2020

साह‍ित्य आजतक के ड‍िज‍िटल संस्करण ई-साह‍ित्य आजतक पर साहित्य के स‍ितारों की महफि‍ल सजी हुई है. इस तीन द‍िवसीय कार्यक्रम के दूसरे दिन यानी शन‍िवार को आमंत्र‍ित थे प्रख्यात गीतकार प्रसून जोशी. सत्र में बातचीत के दौरान कोरोना संकट के बीच कव‍ि मन में चल रहे झंझावातों को ज‍िक्र क‍िया. साथ ही उन्होंने बताया क‍ि वक्त के साथ इंसानी र‍िश्तों के प्रत‍ि लोगों के दृष्ट‍िकोण में क्या फर्क आया है. इसके साथ ही उन्होंने अपनी नानी को याद करते हुए भावुक कर देने वाली कव‍िता भी सुनाई.

सरोजिनी नायडू का किरदार निभाने जा रहीं रामायण की 'सीता', बताया फ्यूचर प्लान

22 मई 2020

इंडिया टुडे ग्रुप के विशेष e-संस्करण साहित्य आजतक आज से शुरू हो गया है. साहित्य आजतक के इस e-संस्करण में देश के कई गायक, हस्तियां, लेखक और प्रतिष्ठित कलाकार शिरकत कर रहे हैं. आज इस संस्करण में कोरोना महामारी की वजह से पैदा हुए हालातों और वायरस के खिलाफ चुनौतियों पर चर्चा होगी. इस मंच पर रामायण के सीता दीपिका चिखलिया और लक्ष्मण सुनील लहरी ने वर्तमान में चल रहे विषयों पर बातचीत की. देखें वीडियो.

नई और पुरानी जनरेशन के रामायण दर्शकों में क्या है फर्क, 'लक्ष्मण' ने बताया

22 मई 2020

e-साहित्य आजतक में रामायण के कलाकार हमारे साथ जुड़े. इस दौरान सभी कलाकारों ने लॉकडाउन में रामायण के दोबारा टेलीकास्ट का अनुभव साझा किया. इतना ही नहीं इस डिजिटल दौर में रामायण की ख्याति पर इस धारावाहिक के राम, लक्ष्मण और सीता ने बात की. इतना ही नहीं रामायण के राम अरुण गोविल, सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया और लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी ने रामायण की शूटिंग से जुड़े कई अनुभव भी साझा किए. रामायण के लक्ष्मण सुनील लहरी ने बताया कि नई और पुरानी जनरेशन के रामायण दर्शकों में क्या फर्क है? देखिए वीडियो.

e-Sahitya Aaj Tak 2020: जब बीजेपी सांसद हंसराज हंस ने केजरीवाल के लिए गाया गाना

22 मई 2020

आजतक पर e-साहित्य आजतक का आगाज हो चुका है. 22 मई से 24 मई तक चलने वाले साहित्य के इस महाकुंभ में साहित्य जगत के कई बड़े सितारे शामिल हो रहे हैं. e-साहित्य आजतक पर सांसद और गायक हंस राज हंस पहुंचे. इस दौरान उन्होंने कोरोना वायरस के कठिन समय को लेकर चर्चा की. लॉकडाउन के अनुभवों को साझा करते हुए उन्होंने बताया कि जब लॉकडाउन लगाया गया तो कई गरीब लोगों के घर खाने के लाले पड़ गए. मैं जानता हूं गरीबी क्या है. मैंने गरीबी देखी है. इसलिए पहले दिन से मेरी पूरी कोशिश रही है कि कोई व्यक्ति भूखा न रहे. मैं और मेरी टीम ने कोशिश की है कि जरूरतमंदों के पास समय से खाना पहुंच सके. साथ ही उन्होंने पीएम मोदी की समय से लॉकडाउन लागू करने के लिए की तारीफ की. साथ ही उन्होंने जीवन के संघर्ष और सफलता का राज शेयर करते हुए कहा कि आज जो भी मुझे हासिल हुआ है वह दुआओं का असर है. सांसद हंस राज हंस ने संदेश देते हुए कहा कि कोरोना काल में सियासत से ऊपर होकर इंसानियत की सेवा करनी चाहिए.

e-साहित्य आजतक में अनूप जलोटा से सुनिए 'चिंगारी कोई भड़के'

22 मई 2020

इंडिया टुडे ग्रुप का खास प्रोग्राम 'साहित्य आजतक' e-संस्करण के रूप में शुरू हो रहा है. इस साहित्य उत्सव में देश की कई दिग्गज हस्तियों, गायकों, गीतकारों, लेखकों, स्तंभकारों और अन्य प्रतिष्ठित कलाकारों के साथ वास्तविक जीवन के किस्सों और कोरोना महामारी से उपजे संकट से उत्पन्न चुनौतियों पर बातचीत होगी. इसकी शुरुआत अनूप जलोटा से हुई. ऐसी लागी लगन से वह भजन सम्राट कहलाए, तो चांद अंगड़ाइयां ले रहा है से गज़ल किंग. देखें आजतक के मंच से अनूप जलोटा ने गाया लागा चुनरी में दाग.

e-Sahitya Aaj Tak 2020: वेबसीरीज के दौर में मिलिए रामायण के सुपरस्टार्स से

22 मई 2020

आजतक पर 22 मई से 24 मई तक चलने वाले e-साहित्य आजतक का आगाज हो चुका है. कोरोना वारियर्स को सलाम करने इस मंच से एंकर मीनाक्षी कांडवाल के साथ जुड़े हैं रामायण के कलाकार. ज‍िनमें हैं राम के किरदार वाले अरुण गोविल, सीता का किरदार निभाने वाली दीपिका चिखलिया और लक्ष्मण बनने वाले सुनील लहरी. वेबसीरीज के दौर में मिलिए रामायण के सुपरस्टार्स ने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया क‍ि रामायण करने के बाद उनकी जिंदगी कैसे बदल गई.

जब दीपिका को छवि तोड़ने के लिए मिला स्वीमिंग कॉस्ट्यूम पहनने का सुझाव

22 मई 2020

इंडिया टुडे ग्रुप का खास प्रोग्राम 'साहित्य आजतक' e-संस्करण के रूप में शुरू हो रहा है. इस साहित्य उत्सव में देश की कई दिग्गज हस्तियों, गायकों, गीतकारों, लेखकों, स्तंभकारों और अन्य प्रतिष्ठित कलाकारों के साथ वास्तविक जीवन के किस्सों और कोरोना महामारी से उपजे संकट से उत्पन्न चुनौतियों पर बातचीत हुई. e-साहित्य आजतक में एंकर मीनाक्षी कांडवाल के साथ रामायण के कलाकार जुड़े. रामायण में काम करने के बाद हर बड़े कलाकार की बदल गई थी जिंदगी. सीता का रोल निभाने वाली दीपिका चिखलिया आजतक के साथ जुड़ी और खास किस्से साझा किए. देखें उनसे खास बातचीत.

e-साहित्य आजतक में अनूप जलोटा से सुनिए 'नजर तिरछी कर दी, अदा बन गई'

22 मई 2020

e-साहित्य आजतक में भजन सम्राट अनूप जलोटा ने शिरकत की. इस दौरान अनूप जलोटा ने बताया कि कोरोना काल में उन्होंने अपने आइशोलेशन में क्या किया? e-साहित्य आजतक में अनूप जलोटा मुंबई से तकनीक की मदद से सीधे आजतक के स्टूडियों में आकर जुड़े. इस दौरान दर्शकों की मांग पर अनूप जलोटा ने नजर तिरछी कर दी, अदा बन गई भी सुनाया. इतना ही नहीं अनूप जलोटा ने e-साहित्य आजतक पर लॉकडाउन के अपने अनुभव भी साझा किए. अनूप जलोटा ने कहा कि लॉकडाउन में भी उन्हें चौबीस घंटे कम पड़ जाते हैं. उन्होंने कहा कि योग करें, ध्यान करें, कोरोना से डरें नहीं. देखिए ये वीडियो.

e-साहित्य आजतक में मन्ना डे को याद कर अनूप जलोटा ने गाया 'लागा चुनरी में दाग'

22 मई 2020

आज तक के विशेष e-संस्करण साहित्य आजतक शुक्रवार शाम 4 बजे से शुरु हो गया है. साहित्य आजतक में कई दिग्गज गायक, हस्थि, लेखक और गीतकार समेत कलाकार कोरोना वायरस से पैदा हुए संकट पर विशेष बातचीत करेंगे. आज e-साहित्य आजतक के कोरोना वारियर्स को सलाम कार्यक्रम में भजन सम्राट अनूप जलोटा ने शिरकत की. अनूप जलोटा ने कोरोना से पैदा हुए संकट पर बारीकी से अपनी बात रखी. उन्होंने सुरों के सरताज मन्ना डे को याद कर लागा चुनरी में दाग में दाग गाया. देखें वीडियो.

कोरोना वॉरियर्स को अनूप जलोटा का सलाम, सुनाया 'कोरोना से नहीं डरना है'

22 मई 2020

इंडिया टुडे ग्रुप का खास प्रोग्राम 'साहित्य आजतक' e-संस्करण के रूप में शुरू हो रहा है. इस साहित्य उत्सव में देश की कई दिग्गज हस्तियों, गायकों, गीतकारों, लेखकों, स्तंभकारों और अन्य प्रतिष्ठित कलाकारों के साथ वास्तविक जीवन के किस्सों और कोरोना महामारी से उपजे संकट से उत्पन्न चुनौतियों पर बातचीत होगी. इसकी शुरुआत अनूप जलोटा से हुई. ऐसी लागी लगन से वह भजन सम्राट कहलाए, तो चांद अंगड़ाइयां ले रहा है से गज़ल किंग. देखें आजतक के मंच से अनूप जलोटा ने गायिकी के जरिए कोरोना वॉरियर्स को किया सलाम.

ई-साहित्य आजतक: टेक्नोलॉजी का कमाल, मुंबई से नोएडा स्टूडियो पहुंच गए अनूप जलोटा

22 मई 2020

आजतक पर 22 मई से 24 मई तक चलने वाले e-साहित्य आजतक का आगाज हो चुका है. पर कोरोना वारियर्स को सलाम करने इस मंच पर अनूप जलोटा ने श‍िरकत की और सरस्वती वंदना के साथ e-साहित्य आजतक की भव्य शुरुआत की. सुरों की महफिल में अनूप जलोटा ने यहां अपनी मशहूर गजल लज़्ज़त-ए-ग़म बढ़ा दीजिए, आप फिर मुस्कुरा दीजिए सुनाई. अनूप जलोटा ने e-साहित्य आजतक पर एंकर चित्रा त्रिपाठी के साथ लॉक डाउन के अपने अनुभव बांटते हुए कहा क‍ि इस दौरान 24 घंटे कम पड़ जाते हैं. मेरा रियाज बढ़ गया है. योग करें, ध्यान करें, कोरोना से डरें नहीं. अनूप जलोटा ने यहां आखिरी प्रस्तुति के रूप में अपने दर्शकों को अपना यह चर्चित भजन ऐसी लागी लगन भी सुनाया.